ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशUP Weather: यूपी में बदला मौसम, कई जिलों में आंधी-पानी; प्रचंड गर्मी से मिली राहत; ये हुई भविष्‍यवाणी

UP Weather: यूपी में बदला मौसम, कई जिलों में आंधी-पानी; प्रचंड गर्मी से मिली राहत; ये हुई भविष्‍यवाणी

यूपी में पश्चिम से लेकर पूरब तक आज आंधी तूफान के साथ ही 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। ये हवाएं धूल भरी होंगी। गरज-चमक के साथ हल्की बूंदाबांदी के भी आसार हैं।

UP Weather: यूपी में बदला मौसम, कई जिलों में आंधी-पानी; प्रचंड गर्मी से मिली राहत; ये हुई भविष्‍यवाणी
Ajay Singhहिन्‍दुस्‍तान ,लखनऊTue, 07 May 2024 01:03 PM
ऐप पर पढ़ें

UP Weather: यूपी वालों को प्रचंड गर्मी से बड़ी राहत मिली है।आज मौसम बदल गया है। मौसम विज्ञानियों ने भविष्‍यवाणी की थी कि एक पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होता हुआ नजर आ रहा है, जिसकी वजह से प्रदेश में पश्चिम से लेकर पूरब तक आज आंधी तूफान के साथ ही 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। ये हवाएं धूल भरी होंगी। गरज-चमक के साथ हल्की बूंदाबांदी के भी आसार जताए थे। पूर्वी उत्‍तर प्रदेश के मौसम के मिजाज में मंगलवार को अचानक तब्दीली दिखी है। कई जिलों में आंधी के बाद बारिश हो रही है। 

कल छिटपुट बादलों के बीच भोर से ही चली पुरवा हवा के चलते दिन का तापमान गिरा, वातावरण में उमस का प्रभाव बढ़ गया था। इस बदलाव के मद्देनजर मौसम विभाग ने बनारस समेत पूर्वांचल के छह जिलों में सात और आठ मई को चमक-गरज के साथ बारिश के साथ वज्रपात का येलो अलर्ट जारी किया है। वैसे पूरे प्रदेश के 21 जिलों के लिए यह अलर्ट जारी हुआ है। पुरवा से वातावरण में उमस बढ़ी, तापमान गिरा लेकिन गर्मी की न तो तपिश और न ही उसके चलते बेचैनी में कमी आई। पूरे दिन चार किमी की गति से चली पुरवा का रूख बदलेगा या बना रहेगा, इस संबंध में कोई पूर्वानुमान जारी नहीं हुआ है। मौसम विभाग ने 11 एवं 12 मई को थंडर स्टार्म के चलते छिटपुट बारिश और धूलभरी आंधी की संभावना जताई है। सोमवार को अधिकतम 40.4 एवं न्यूनतम तापमान 26.5 डिग्री रहा।

दिन में तपिश और रात में उमस ने किया बेहाल
सोमवार को प्रयागराज का अधिकतम तापमान 44 डिग्री से अधिक रहा। गर्म हवा के थपेड़ों से लोग झुलसते रहे। दिन में तपिश और रात में उमस ने बेहाल किया। गर्म हवाएं 30 से 35 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से चलीं। गर्मी के प्रकोप से अस्ततालों में मरीजों की कतार लगी रही। पिछले पांच दिनों से ओपीडी में 10 से 15 फीसदी मरीज अधिक पहुंच रहे हैं।

लखनऊ के मौसम वैज्ञानिक एम दानिश ने बताया कि पूर्वी हवाओं के बिछोह से न्यूनतम तापमान में गिरावट जारी रहेगी। इससे मौसम में उमस बढ़ेगी। यह स्थिति अभी दो दिन तक बनी रहेगी, हालांकि तीसरे दिन हल्की बूंदाबांदी हो सकती है। इससे तापमान में और गिरावट होगी। सोमवार को इस माह का न्यूनतम तापमान 26.07 डिग्री सेल्सियस हो गया, जबकि तीन मई को अधिकतम तापमान 39 और न्यूनतम 18.06 डिग्री सेल्सियस था। वहीं चार और पांच मई को अधिकतम तापमान 42.07 और 44.01 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

बीएचयू अस्पताल में ब्रेन स्ट्रोक के केस बढ़े
वाराणसी। प्रचंड गर्मी के चलते लोग मिर्गी, दिमागी अस्थिरता और ब्रेन स्ट्रोक की चपेट में आ रहे हैं। बीएचयू के न्यूरोलॉजी विभाग में हर सप्ताह ब्रेन स्ट्रोक के आठ से दस मरीज पहुंच रहे हैं। पिछले दस दिनों में लकवा के 12 मरीज भर्ती हो चुके हैं। इमरजेंसी में हर रोज लकवा के एक या दो मरीज पहुंच रहे हैं। न्यूरोलॉजी विभागाध्यक्ष प्रो. वीएन मिश्रा ने बताया कि गर्मी से शरीर में पानी व सोडियम कमी, बीपी, गलत खानपान, मधुमेह से लकवा के मरीज बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा किसी व्यक्ति को स्ट्रोक तब होता है, जब रक्त की आपूर्ति कम या बाधित होने से दिमाग के सेल्स मरने लगते हैं।

आगरा में नौ मई तो साफ रहेगा आसमान 
मौसम विभाग के मुताबिक नौ मई तक आगरा में आसमान साफ रहेगा। इस दौरान तापमान 40 डिग्री से ऊपर ही रहने वाला है। जहां तक मंगलवार की बात है तो इस दिन मतदान होना है। तापमान 42 से 43 डिग्री के बीच रह सकता है। यानि गर्मी होगी और लू के थपेड़े भी चल सकते हैं। 43 डिग्री रहा सोमवार का पारा सोमवार को अधिकतम तापमान सामान्य से 1.3 डिग्री बढ़कर 43.0 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया।

गोरखपुर में राहत भरी सुबह 
दो दिनों से प्रदूषण की मार झेल रहे गोरखपुर वासियों के लिए सोमवार और मंगलवार की सुबह राहत भरी रही। मौसम के मिजाज में बदलाव के कारण प्रदूषित धुएं के बादल गुम हो गए। महानगर महज 24 घंटे में ही प्रदूषण के गहरे नारंगी जोन से हल्के पीले जोन में आ गया। अब हवा साफ होने के करीब पहुंच गई है। उधर, मौसम विशेषज्ञ मंगलवार से गुरुवार तक तेज हवा के बीच हल्की से मध्यम की संभावना जता रहे हैं।

दरअसल, बीते शनिवार और रविवार को महानगर के आसमान में धुएं के बादल छाए रहे। पराली जलने के कारण हवा में जहरीली गैसों का घनत्व बढ़ गया। रही-सही कसर मौसम के मिजाज में बदलाव में पूरी कर दी। पछुआ हवा बेहद मंद हो गई। कुछ देर के लिए पूरवा चली। इस वजह से प्रदूषण का स्तर बढ़ गया। हवा में धूल के बारीक कण मौजूद रहे। शनिवार व रविवार को पीएम-2.5 मानक से 10 गुना अधिक था। इस दरम्यान पीएम-10 भी मानक से नौ गुना अधिक मिला। इतना ही नहीं जहरीली गैस कार्बन मोनोऑक्साइड मानक से 41 गुना अधिक हो गई। हवा में बायोमास कार्बन की मात्रा 44 फीसदी तक पहुंच गई। जो कि तीन से पांच फीसदी के बीच में रहती है।

16 किलोमीटर रफ्तार से चली पछुआ हवा 
सोमवार की सुबह करीब 16 किलोमीटर रफ्तार से तेज पछुआ हवा चली। इसके कारण प्रदूषित धुएं के बादल बिखर गए। जहरीली गैसें हवा में गुम हो गईं। पीएम-2.5 और पीएम-10 में 80 फीसदी तक की गिरावट हो गई। सुबह एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) 200 था। जो देर शाम तक 110 तक पहुंच गया। जबकि शुक्रवार और शनिवार को एयर क्वालिटी इंडेक्स 270 के करीब था।

तेज हवा के बीच बारिश की संभावना
मौसम के मिजाज में सोमवार से बदलाव शुरू हो गया है। पूर्वी यूपी में पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता का असर दिख रहा है। मौसम विभाग की माने तो गुरुवार तक आसमान में बादलों की मौजूदगी रहेगी। रुक-रुक कर हल्की के मध्यम बारिश की संभावना है। इस दौरान तेज हवा भी चलेगी।

दिन में 3.2 डिग्री गिरा रात में 4.7 डिसे चढ़ा पारा
सोमवार को आसमान में हल्के बादल छाए रहे। इसके कारण दिन व रात के तापमान में तेजी से से बदलाव हुआ। तापमान में 3.2 डिग्री सेल्सियस (डिसे) की गिरावट हुई। सोमवार को अधिकतम तापमान 38 डिसे रहा। वहीं इस दरम्यान न्यूनतम तापमान में 4.7 डिसे की उछाल हुई। सोमवार को न्यूनतम तापमान 25.8 डिसे रहा।