ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशअयोध्या-काशी, मथुरा की कार्ययोजना तय करेगा विश्व हिन्दू परिषद, कारसेवकपुरम में आज बैठक्र

अयोध्या-काशी, मथुरा की कार्ययोजना तय करेगा विश्व हिन्दू परिषद, कारसेवकपुरम में आज बैठक्र

विश्व हिन्दू परिषद आने वाले 6 महीने के लिए अयोध्या-काशी, मथुरा की कार्ययोजना तय करेगा। इसके लेकर आज कारसेवकपुरम में बैठक्र होगी। इसमें मंथन किया जाएगा।

अयोध्या-काशी, मथुरा की कार्ययोजना तय करेगा विश्व हिन्दू परिषद, कारसेवकपुरम में आज बैठक्र
Deep Pandeyस्वरमिल चंद्रा,अयोध्याSat, 24 Feb 2024 09:26 AM
ऐप पर पढ़ें

अयोध्या, काशी व मथुरा पर विश्व हिन्दू परिषद आने वाले 6 महीने में किस कार्ययोजना पर काम करेगी यह तय करने के लिए अखिल भारतीय प्रन्यासी मंडल व केंद्रीय पदाधिकारियों की कोर कमेटी की बैठक शनिवार को अयोध्या के कारसेवकपुरम में होगी। इस बैठक में काशी, मथुरा के अतिरिक्त विहिप सरकारी संरक्षण से देश के मंदिरों की मुक्ति की भी कार्ययोजना बनाएगी। शुक्रवार की देर शाम परिषद के संरक्षक, अध्यक्ष व कार्यकारी अध्यक्ष समेत दो दर्जन से अधिक पदाधिकारी अयोध्या पहुंच गए। कोर कमेटी की बैठक के बाद दुनिया भर के पचास से अधिक देशों व भारत के 45 प्रांतों के प्रमुख पदाधिकारी 28 फरवरी तक विभिन्न एजेंडे पर चर्चा करेंगे। विहिप के इस हाई प्रोफाइफल बैठक के लिए सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए गए हैं। इसके पहले पिछले वर्ष 24 व 25 जून को रायपुर में यह केंद्रीय पदाधिकारियों की बैठक हुई थी। 

राममंदिर के बाद दुनिया में सांस्कृतिक राष्ट्रवाद पर चर्चा
राममंदिर बनने के बाद विश्वभर में भारत के सांस्कृतिक राष्ट्रवाद पर विशेष रूप से चर्चा की जाएगी। खास कर यूके, यूएस, कनाड़ा, यूरोप, साउथ ईस्ट एशिया से आए विहिप के प्रतिनिधियों से वर्तमान स्थिति पर चर्चा की जाएगी। इन देशों में प्राण प्रतिष्ठा समारोह के बाद भारत के पक्ष बन रहे माहौल व आगे की रणनीति बनाई जाएगी। बताया जाता है कि इस पांच दिवसीय बैठक में कई तरह की रणनीति बनाई जानी है। जैसे देश में आने वाले समय में कैसे राममय माहौल बनाना है, इस्लामिक कट्टरता, लव जेहाद, धर्मांतरण व गोरक्षा जैसे परंपरागत एजेंडों पर बात होगी। 

सभी प्रकल्प, आयामों के पदाधिकारी करेंगे शिरकत 
पांच दिवसीय इस बैठक में विहिप के साथ ही बजरंग दल, दुर्गा वाहिनी, मातृशक्ति, दुर्गावाहिनी, सेवा मंडल, सेवा संपर्क, संत संपर्क, मत मंदिर, प्रचार समेत 40 आयामों के केंद्रीय पदाधिकारी बैठक में हिस्सा लेंगे। इस बार 45 प्रांतों के सह मंत्री स्तर के पदाधिकारियों को बुलाया गया है। विहिप संरक्षक दिनेशचंद्र, अध्यक्ष डाक्टर आर एन सिंह ,कार्याध्यक्ष एडवोकेट अलोक कुमार, धर्मनारायण शर्मा, जीवेश्वर मिश्र, मीनाताई भट्ट, मीनाक्षी पिश्वे, संगठन महामंत्री विनायक राव देश पांडेय ,महामंत्री मिलिंद परांडे, सयुंक्त महामंत्री कोटेश्वर शर्मा, डाक्टर सुरेंद्र जैन,स्तानु मलयम् ,स्वामी विज्ञानानंद सहित राजेंद्र सिंह, अम्बरीष सिंह, हरीशंकर, प्रज्ञा महाला,सरोज सोनी,विजय शंकर तिवारी, क्षेत्र संगठन मंत्री,गजेंद्र सिंह, मनोज वर्मा, सोहन सोलंकी जैसे विहिप के शीर्ष पदाधिकारी अयोध्या पहुंच चुके हैं।

स्थानीय इकाई जुटी व्यवस्था में 
धाम जिनके निवास भोजन आदि की व्यापक व्यवस्था की जा रही है। विहिप के मीडिया प्रभारी शरद शर्मा ने बताया कि कारसेवकपुरम् में बैठक की समस्त तैयारियां पूर्ण हो चुकी हैं,लगभग चार सौ प्रतिनिधियों के बैठने की व्यवस्था वाटर एंव एयर प्रूफ पंडाल में की गयी है।भोजन और निवास की व्यवस्था भी हो चुकी है। पुलिस प्रशासन ने कारसेवकपुरम् के मुख्य द्वार पर व्यापक सुरक्षा व्यवस्था की है। यही नहीं विहिप ने अपने युवा अनुसांगिक संगठन बजरंग दल के सदस्यों को भी द्वार पर अलग से तैनात कर रखा है,जो आने वाले लोगों से पूछताछ करने के उपरांत ही अंदर प्रवेश करा रहे हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें