DA Image
26 अक्तूबर, 2020|3:46|IST

अगली स्टोरी

विकास दुबे के बाद उसका ये खास गुर्गा बन सकता है गैंग लीडर, जय और उसके भाई के साथ गैंग में शामिल हुए नए 25 मेंबर

विकास दुबे के पंजीकृत गिरोह में जय बाजपेई और उसके भाइयों को भी शामिल किया गया है। एनकाउंटर में मौत के बाद गिरोह से विकास दुबे का नाम हटाया गया है और नए गैंग लीडर की तलाश की जा रही है।   

पुलिस रिकॉर्ड में डी-124 गिरोह विकास दुबे के नाम से पंजीकृत है। इसमें पूर्व में उसके एक दर्जन गुर्गों को शामिल किया गया था। बिकरू कांड के बाद इस गैंग चार्ट का रिव्यू किया गया। एनकाउंटर में मारे गए विकास दुबे और उसके पांच साथियों के नाम गिरोह से निकाल दिए गए। उनकी जगह पर अब तक गैंग चार्ट में 25 लोगों के नाम अंकित हो चुके हैं।

बिकरू कांड में नाम आया 
पुलिस ने बिकरू कांड की विवेचना शुरू की तो जय बाजपेई का नाम प्रकाश में आया। घटना वाले दिन विकास दुबे को हथियार, पैसा और उसके बाद भागने के लिए गाड़ियां उपलब्ध कराने के आरोप में पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेजा। बाद में उसे और उसके भाइयों को गैंगस्टर एक्ट में नामजद किया गया। इन्हीं कार्रवाई को देखते हुए पुलिस ने जय और उसके भाइयों के नाम विकास दुबे के गैंग चार्ट में बढ़ा दिया है। 

आरोपितों की हो रही समीक्षा
एसपी ग्रामीण ब्रजेश श्रीवास्तव ने बताया कि विकास बिकरू कांड के बाद विकास के जिन गुर्गों को जेल भेजा गया है, उन्हीं का आपराधिक इतिहास फिर से रिव्यू किया जा रहा है। यह देखा जा रहा है विकास दुबे के आपराधिक जीवन में कौन सबसे ज्यादा उसके साथ रहा है और घटनाओं में शामिल भी रहा है। उसी के आधार पर उसे गिरोह का सरगना के तौर पर पंजीकृत कराया जाएगा। 

जिलेदार हो सकता है अगला सरगना 
पुलिस ने जो मानक तय किए हैं, उससे जेल गए विकास के खास गुर्गे जिलेदार को नए सरगना के तौर पर पंजीकृत कराने की आशंका सबसे ज्यादा है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक जिलेदार विकास के साथ शुरू से ही जुड़ा रहा है। वह उसके साथ कई घटनाओं में भी शामिल रहा है। साथ ही जब विकास दुबे के नाम पर गिरोह पंजीकृत हुआ था, उस समय भी जिलेदार का नाम उसमें शामिल किया गया था। 

क्या बोले डीआईजी
विकास के गैंग चार्ट को रिव्यू किया जा रहा है। उसमें कुछ लोगों को शामिल किया गया है और जो उसमें शामिल थे और मर गए हैं उनका नाम हटाया गया है। इस गैंग चार्ट पर अभी काम होता रहेगा। आगे भी जो लोग प्रकाश में आएंगे और अपराध में शामिल होंगे, उनका नाम जोड़ा जाता रहेगा।
डॉ. प्रीतिन्दर सिंह, डीआईजी

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:vikas dubey right hand criminal can become gang leader jai bajpai his brother included in gang