ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशVIDEO: बच्ची के शरीर पर उभर रहा कभी राम-राम तो कभी राधे-राधे, कभी देवी-देवताओं के नाम, हर कोई हैरान

VIDEO: बच्ची के शरीर पर उभर रहा कभी राम-राम तो कभी राधे-राधे, कभी देवी-देवताओं के नाम, हर कोई हैरान

यूपी के हरदोई से हैरान करने वालाो मामला सामने आया है। यहां एक बच्ची के शरीर पर शब्द खुद ब खुद उभर रहे हैं। कभी राम-राम तो कभी राधे-राधे या फिर कभी देवी देवताओं के नाम उभर जा रहे हैं।

VIDEO: बच्ची के शरीर पर उभर रहा कभी राम-राम तो कभी राधे-राधे, कभी देवी-देवताओं के नाम, हर कोई हैरान
Yogesh Yadavहिन्दुस्तान,माधौगंज (हरदोई)Mon, 06 Nov 2023 10:33 PM
ऐप पर पढ़ें

हरदोई के माधौगंज थाना क्षेत्र के ग्राम सहिजना में सोमवार को एक हैरान कर देने वाला वीडियो वायरल हो गया। वीडियो में गांव निवासी किसान की आठ वर्षीय बेटी के शरीर पर राम-राम और राधे-राधे शब्द उभरे दिखाई दे रहे हैं। परिजनों के मुताबिक, डॉक्टर को दिखाया गया तो वे भी इसकी वजह नहीं बता पा रहे हैं। ऐसा क्यों हो रहा है कोई नहीं समझ पा रहा है। लोग इसे आस्था से जोड़ते हुए दैवीय चमत्कार मान रहे हैं। हालांकि हिन्दुस्तान वीडियो में दावे किए जा रहे बातों की पुष्टि नहीं करता है। 

गांव निवासी किसान देवेन्द्र उर्फ राहुल की आठ वर्षीय बेटी साक्षी देवी कस्बे के एक निजी स्कूल की छात्रा है। परिजनों के मुताबिक, पिछले 20 दिनों से बच्ची के शरीर की त्वचा पर पेट, पैर आदि जगह अचानक देवी, देवताओं आदि के नाम, अक्षर उभरकर आते हैं और कुछ देर बाद अपने आप मिट जाते हैं। स्कूल के शिक्षक, ग्रामीण व क्षेत्र के लोग अचानक घटना की लेकर अचम्भित हैं। 

कई बार ऐसा होने पर डॉक्टरों को दिखाया तो वह भी देखकर आवक रह गए। सोमवार दोपहर परिजन माधौगंज सीएचसी पहुंचे तो चेकअप के बाद सीएचसी अधीक्षक डॉ. संजय कुमार ने बताया कि छात्रा के शरीर पर शब्दों के उभार का कारण बता पाना मुश्किल है। उन्होंने बच्ची को मेडिकल कॉलेज में दिखाने की सलाह दी है। इस बीच वीडियो वायरल होने के बाद हर कोई घटना के बारे में पता करने का प्रयास कर रहा है। कोई इसे रहस्यमयी तो कोई दैवीय घटना बता रहा है। क्षेत्र के लोग तरह-तरह की चर्चाएं कर रहे हैं।

दैवीयता से जोड़ने की कोशिश
बच्ची के बाबा शिवबालक इस घटना को दैवीयता से जोड़ते हुए कहते हैं कि परिवार के सभी सदस्य सात्विक स्वभाव के हैं। साक्षी भी पूजा-अर्चना में हिस्सा लेती है। हालांकि शब्दों के उभार का कारण कोई बता नहीं पा रहा है। छात्रा को भी इससे कोई तकलीफ या परेशानी नहीं होती है।