DA Image
28 फरवरी, 2020|8:17|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

39 साल पहले फूलनदेवी गैंग ने की थी 20 लोगों की हत्या, फैसला 24 जनवरी को

behmai massacre case

उत्तर प्रदेश के चर्चित बेहमई के सामूहिक नरसंहार पर 39 साल बाद शनिवार को आने वाला बहुप्रतिक्षित फैसला केस डायरी के कुछ अंश गायब होने के कारण फिर टल गया। अदालत ने अब फैसले के लिए 24 जनवरी की तारीख मुकर्रर की है। साथ ही स्पेशल जज डकैती की अदालत ने लिपिक से जवाब तलब किया है। इससे पहले कोर्ट ने 6 जनवरी को बचाव पक्ष की दलील पर फैसले के लिए 18 जानवरी की तारीख तय की थी।

राजपुर थाना क्षेत्र के बेहमई गांव में फूलनदेवी के गैंग ने 14 फरवरी 1981 को गांव के कई लोगों को एक जगह एकत्र कर उन्हें गोलियों से भून दिया था। इसमें 20 लोगों की मौत हो गई थी। इस नरसंहार ने पूरे देश को हिला दिया था। 39 साल बाद इस मुकदमे में अब फैसले की घड़ी आ गई है।

नरसंहार की मुख्य आरोपित रही दस्यु फूलन देवी के अलावा बाबा मुस्तकीम की पहले ही मौत हो चुकी है। गैंग का एक सदस्य पोसा ही अब जेल में है। तीन डकैत आज तक फरार हैं, उनकी फाइल अलग की जा चुकी है। पोसा सहित जमानत पर रहे श्यामबाबू, विश्वनाथ व भीखा के मामले में फैसला आएगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Verdict In Behmai Massacre Case Will Be Delivered On 24 January 2020 Kanpur