ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशज्ञानवापी सर्वे का आदेश देने वाले सिविल जज रवि दिवाकर को मिला धमकी भरा लेटर

ज्ञानवापी सर्वे का आदेश देने वाले सिविल जज रवि दिवाकर को मिला धमकी भरा लेटर

वाराणसी जिला सत्र न्यायालय के सिविल जज सीनियर डिवीजन रवि कुमार दिवाकर को धमकी भरा लेटर मिला है। जज को इस्लामिक आगाज मूवमेंट की ओर से धमकी भरा लेटर भेजा गया है।

ज्ञानवापी सर्वे का आदेश देने वाले सिविल जज रवि दिवाकर को मिला धमकी भरा लेटर
Shivendra Singh हिन्दुस्तान,वाराणसीTue, 07 Jun 2022 10:31 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

जिला सत्र न्यायालय के सिविल जज (सीनियर डिवीजन) रवि कुमार दिवाकर को इस्लामिक आगाज मूवमेंट दिल्ली के पते से धमकी भरा पत्र भेजा गया है। जज ने इसकी जानकारी अपर मुख्य सचिव गृह और डीपीजी को दी है। पुलिस कमिश्नर ए. सतीश गणेश ने डीसीपी वरुणा आदित्य लांग्हे को जांच सौंपी है। बता दें कि न्यायमूर्ति रवि कुमार दिवाकर के आदेश पर ही ज्ञानवापी में सर्वे कमीशन की कार्यवाही की गई। बाद में शिवलिंग की आकृति मिलने पर वुजूखाने को सील कर दिया गया था।

धमकी भरा पत्र रजिस्टर्ड डाक से भेजा गया है। पत्र पर के. 16/19 बहादुर शाह जफर मार्ग नई दिल्ली का पता अंकित है। पत्र भेजने वाले का नाम कासिम अहमद सिद्दीकी लिखा है। उसने खुद को इस्लामिक आगाज मूवमेंट का अध्यक्ष बताया है। सिविल जज सीनियर डिवीजन को संबोधित पत्र हाथ से हिंदी में लिखा है। उधर, धमकी भरा पत्र मिलने की जानकारी पर प्रशासनिक अमले में खलबली मच गई। छानबीन के लिए पत्र पुलिस ने ले लिया है। साथ ही दिल्ली की एजेंसियों से संपर्क कर जांच शुरू कर दी गई है। 

जज के साथ ही मां को भी सुरक्षा
धमकी मिलने के बाद जज और उनकी मां की सुरक्षा में नौ पुलिसकर्मियों की तैनाती कर दी गई है। गनर और आवास पर गारद लगाये गये हैं। वाराणसी कमिश्नरेट पुलिस की ओर से जज के आवास पर तीन पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है। दो गनर मुहैया कराये गये हैं। उधर लखनऊ स्थित आवास पर जज की मां को भी सुरक्षा प्रदान की गई है। लखनऊ कमिश्नरेट से दो पुलिसकर्मी आवास पर गारद के रूप में और दो पुलिसकर्मियों की ड्यूटी गनर के रूप में लगाई गई है।

epaper