DA Image
15 जुलाई, 2020|12:45|IST

अगली स्टोरी

गुजरात की तर्ज पर प्रवासी भारतीयों को जोड़ेगी यूपी सरकार, निवेश बढ़ाने में मिलेगी मदद

prime minister narendra modi most influential person yogi adityanath elected popular cm of the count

उत्तर प्रदेश सरकार गुजरात की तर्ज पर प्रवासी भारतीयों को जोड़ने का काम करेगी। इसका ढांचा तैयार कर लिया गया है। प्रवासियों को मातृभूमि और संस्कृति से जोड़े रखने के लिए अयोध्या के दीपोत्सव तथा बरसाना की होली का आनंद उन्हें लाइव स्ट्रीम के जरिए लेने के मौका मिलेगा। राज्य के प्रवासी भारतीयों को जोड़ने के लिए जल्द ही एक वेबसाइट शुरू की जाएगी। यह वेबसाइट एनआरआई के लिए कम्युनिकेशन हब का काम करेगी।

प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम और निर्यात प्रोत्साहन व एनआरआई मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा है कि जिस प्रकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात में मुख्यमंत्री रहते निवेश बढ़ाने के लिए प्रवासी भारतीयों को जोड़ने का कार्य किया था, उसी तर्ज पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में प्रवासी भारतीयों को जोड़ने का ढांचा तैयार किया गया है। इन प्रवासी भारतीयों के लिए शुरू की जाने वाली वेबसाइट को मोबाइल फ्रेंडली बनाया जाएगा। सिद्धार्थ नाथ सिंह ने बुधवार को अपने कार्यालय कक्ष में प्रवासी भारतीयों की सुविधा के लिए तैयार की जा रही वेबसाइट के प्रजेंटेशन का अवलोकन किया। अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रवासी भारतीय अपनी मातृभूमि से जुड़े रहें और उनकी जड़ें टूटने ना पाएं।

इसी महीने शुरू की जाएगी एनआरआई के लिए वेबसाइट
एनआरआई विभाग द्वारा तैयार किए जा रहे वेबसाइट में निवेशकों को निवेश संबंधी समस्त जानकारी देने को कहा। मुख्यमंत्री के ट्वीट भी इस पर होंगे। मंत्री ने एक सप्ताह के अन्दर वेबसाइट तैयार करने का काम पूरा कर लेने के निर्देश दिए, ताकि इसी महीने इसे शुरू किया जा सके। यह वेबसाइट हिन्दी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में होगी। प्रदेश के प्रमुख विभागों पर्यटन, हेल्थ टूरिज्म, शिक्षा, एमएसएमई और निवेश को सीधे इससे लिंक किया जाएगा। निवेश मित्र पोर्टल से भी इसे जोड़ा जाएगा। इस पर प्रोसेसिंग और पेमेंट की आन-लाइन सुविधा उपलब्ध होगी।

निवेश बढ़ाने में गेम चेंजर का काम करेगी वेबसाइट
मंत्री ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में निवेश को बढ़ाने में यह वेबसाइट बड़ी गेम चेंजर साबित होगी। वेबसाइट के माध्यम से प्रवासी भारतीयों को रजिस्ट्रेशन-वेरीफिकेशन एवं नवीनीकरण की सहूलियत मिलेगी। वेबसाइट पर एनआरआई को पर्यटन स्थलों पर भ्रमण, निवेश आदि की सुविधा उपलब्ध होगी। उन्होंने कहा कि प्रवासी भारतीय एनआरआई दिवस में शामिल होने तथा प्रवासी रत्न पुरस्कार के लिए भी वेबसाइट पर आवेदन कर सकेंगे। प्रजेंटेशन के दौरान प्रमुख सचिव एनआरआई विभाग आलोक कुमार तथा अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Uttar Pradesh Yogi Adityanath Govt Will Connect Overseas Indian On The Line Of Gujarat