DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › मेरठ में मंदिर सेवक कांति प्रसाद की मौत पर हंगामा, सड़क पर शव रखकर जाम लगाया
उत्तर प्रदेश

मेरठ में मंदिर सेवक कांति प्रसाद की मौत पर हंगामा, सड़क पर शव रखकर जाम लगाया

मुख्य संवाददाता,मेरठPublished By: Yuvraj
Wed, 15 Jul 2020 11:36 AM
मेरठ में मंदिर सेवक कांति प्रसाद की मौत पर हंगामा, सड़क पर शव रखकर जाम लगाया

भावनपुर के अब्दुल्लापुर में भगवा गमछा पहनने और तिलक लगाने को लेकर कांति प्रसाद की पिटाई के बाद मौत के मामले में बुधवार सुबह से ही गुस्‍साए परिजनों और लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया। लोगों ने शव सडक पर रखकर जाम लगा दिया और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। साथ ही पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए। हालांकि बाद में कैंट से भाजपा विधायक के जाने पर लोगों का गुस्‍सा शांत हुआ और शव उठाने पर रजामंदी हुई।

बता दें कि मेरठ भावनपुर थाने के अब्दुल्लापुर में भगवा गमछा पहनने और तिलक लगाने को लेकर कांति प्रसाद की पिटाई की गई थी। मंगलवार को उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई थी। इस पर लोगों में रोष फैल गया और उन्‍होंने पुलिस पर हिस्ट्रीशीटर के इशारे पर आरोपियों को बचाने का आरोप लगाया। परिजनों ने बुधवार सुबह शव सड़क पर रखकर मेरठ किला मार्ग को जाम कर दिया।

इस दौरान जमकर हंगामा किया गया। एसओ भावनपुर को तुरंत सस्पेंड करने और आरोपियों समेत उनकी मदद करने वाले हिस्ट्रीशीटर की गिरफ्तारी की मांग की गई। परिजनों को 25 लाख के मुआवजे की मांग भी उठाई। सीओ और एसडीएम समेत कई थानों की फोर्स ने अब्दुल्लापुर में  डेरा डाल दिया। लोगों को समझाने का प्रयास किया जा रहा है। लोगों ने एसओ पर गंभीर आरोप लगाए। इतना ही नहीं गुस्‍साए लोगों ने पुलिस पर हिस्ट्रीशीटर को शह देने का भी आरोप लगाया।

लोगों ने दोनों की कॉल डिटेल की जांच कराने की मांग भी की। इस दौरान करीब 1 घंटे हंगामा चलता रहा। बाद में मौके पर कैंट विधायक सत्‍यप्रकाश अग्रवाल अब्दुल्लापुर पहुंचे और लोगों को कडी कार्रवाई का आश्‍वासन दिया। इसके बाद लोग कुछ शांत तो हुए और शव उठाने पर सहमति बनी।

संबंधित खबरें