ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशगुड न्‍यूज: चार साल में नार्वे की अर्थव्‍यवस्‍था को पार कर जाएगा यूपी, SBI की रिसर्च में खुलासा 

गुड न्‍यूज: चार साल में नार्वे की अर्थव्‍यवस्‍था को पार कर जाएगा यूपी, SBI की रिसर्च में खुलासा 

PM नरेंद्र मोदी की देश को 5 ट्रिलियन डालर की अर्थव्यवस्था बनाने की मुहिम में महाराष्ट्र- UP दोनों बड़ी भूमिका निभाने जा रहे हैं। इन दोनों राज्यों की GDP चार सालों में 500 बिलियन डॉलर को पार कर जाएगी।

गुड न्‍यूज: चार साल में नार्वे की अर्थव्‍यवस्‍था को पार कर जाएगा यूपी, SBI की रिसर्च में खुलासा 
Ajay Singhविशेष संवाददाता,लखनऊSat, 27 Jan 2024 08:00 AM
ऐप पर पढ़ें

Economy of UP: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की देश को पांच ट्रिलियन डालर की अर्थव्यवस्था बनाने की मुहिम में महाराष्ट्र और यूपी दोनों बड़ी भूमिका निभाने जा रहे हैं। इन दोनों राज्यों की जीडीपी चार सालों में 500 बिलियन डॉलर को पार कर जाएगी। इन राज्यों की अर्थव्यवस्था में 10 प्रतिशत की छलांग लगाने की क्षमता है। एक ओर 2027 तक महाराष्ट्र की जीडीपी वियतनाम के पार पहुंच जाएगी तो यूपी नार्वे की अर्थव्यवस्था को पार करने की तैयारी में है। इसी महीने जारी एसबीआई रिसर्च की अहम रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है। 

साल 2014-15 में देश की कुल जीडीपीमें यूपी की हिस्सेदारी 8.1 प्रतिशत थी। गत वित्तीय वर्ष में यह 8.2 प्रतिशत पहुंच गई। यूपी का प्रदर्शन सर्विस सेक्टर व औद्योगिक सेक्टर में तेजी से बढ़ा है। जब यूपी दुनिया की तीसरी अर्थव्यवस्था बनेगा तो यह दोनों राज्य अहम भूमिका निभाएंगे। वित्तमंत्री सुरेश खन्ना ने पिछले साल यूपी का बजट पेश करते हुए कहा था कि वैश्विक मंदी के दौर में प्रदेश की अर्थव्यवस्था की विकास दर उत्साह जनक है।

अन्य राज्यों की स्थिति
रिपोर्ट में कहा गया है कि आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, मध्य प्रदेश की 2027 तक देश की जीडीपी में हिस्सेदारी पांच-पांच प्रतिशत होगी जबकि केरल व दिल्ली राज्य की हिस्सेदारी चार-चार प्रतिशत होगी। तब यह दोनों राज्य हंगरी की जीडीपी के बराबर होंगे। पश्चिम बंगाल व हरियाणा कुवैत के बराबर होंगे।

पीएम ने दिया था लक्ष्य
साल 2018 में जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इंवेस्टर्स समिट का शुभारंभ करने लखनऊ आए थे तो उन्होंने कहा था कि हम चाहते हैं कि यूपी व महाराष्ट्र दोनों वन ट्रिलियन डालर की अर्थव्यवस्था बनने लिए काम करें और उनमें स्वस्थ प्रतिस्पर्धा हो। अब यह दोनों राज्य इस लक्ष्य को पाने के लिए खास रणनीति बना कर कर काम कर रहे हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें