ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशUP Weather: यूपी में बारिश बंद, फिर शीतलहर की बारी? इस दिन आंधी की भविष्यवाणी

UP Weather: यूपी में बारिश बंद, फिर शीतलहर की बारी? इस दिन आंधी की भविष्यवाणी

इस साल बार-बार मौसम लोगों को अचंभित कर रहा है। दिसंबर में भी ठंड नहीं पड़ी तो जनवरी में भीषण कोहरा पड़ने लगा। फरवरी शुरू होते ही बारिश हुई और अब दोबारा शीतलहर की भविष्यवाणी हो रही है।

UP Weather: यूपी में बारिश बंद, फिर शीतलहर की बारी? इस दिन आंधी की भविष्यवाणी
Yogesh Yadavलाइव हिन्दुस्तान,वाराणसीTue, 06 Feb 2024 03:41 PM
ऐप पर पढ़ें

पश्चिमी विक्षोभ के कारण रविवार शाम से शुरू हुई बारिश सोमवार और कहीं-कहीं मंगलवार को भी होती रही। ज्यादातर इलाकों में अब मौसम साफ हो चुका है। इससे दिन के तापमान में बढ़ोतरी हुई है। वाराणसी चार डिग्री सेल्सियस तक पारा चढ़ गया। मौसम वैज्ञानिकों का पूर्वानुमान है कि मंगलवार से आसमान साफ होने और पछुआ हवा चलने से रात के तापमान में गिरावट होगी। यानी फिर से ठंड बढ़ सकती है। इस बीच एक नया पश्चिमी विक्षोभ भी सक्रिय होगा। इससे नौ और दस फरवरी को गरज-चमक के साथ आंधी चलने की आशंका है। वाराणसी में बाबतपुर स्थित मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार बीते 16 घंटे में वाराणसी कुल 15.9 एमएम बारिश हुई है। 

पश्चिमी विक्षोभ खत्म होने के बाद आंशिक शीतलहर शुरू हो सकती है। पहाड़ों पर बर्फबारी के बाद वहां से आने वाली हवा सर्दी बढ़ाएगी, लेकिन इसका ज्यादा असर रात और सुबह के मौसम पर दिखाई देगा। रात के न्यूनतम तापमान में पांच से छह डिग्री सेल्सियस की गिरावट आ सकती है। जिसके चलते देर रात और सुबह के समय कड़ाके की ठंड का एहसास होगा। दिन का अधिकतम तापमान 22 डिग्री सेल्सियस के आसपास बना रहेगा। सुबह के समय हल्के से मध्यम दर्जे का कोहरा छाने के आसार हैं।

इससे पहले रविवार देर रात में कभी तेज तो कभी धीमी बारिश होती रही। यह सिलसिला सुबह करीब दस बजे तक रहा। इसके बाद दोपहर में सूर्य और बादल में लुकाछिपी चलती रही। बारिश के कारण रोड किनारे पानी जमा हो गया था। महमूरगंज, दरगाहे फातमान सहित अन्य इलाके में रोड पर पानी ज्यादा जमा हो गया था। ऐसे में लोगों को परेशानी हुई। मौसम वैज्ञानिक प्रो. एसएन पांडेय ने बताया कि हवा में नमी 91 फीसदी है। ऐसे में संभावना है कि मंगलवार सुबह भी बूंदाबादी हो सकती है।

कुंभ, विभूति और पवन एक्सप्रेस घंटों देरी से पहुंचीं
ट्रेनों के परिचालन पर मौसम का असर कम जरूर हुआ है लेकिन अभी भी कई ट्रेनें समयबद्ध संचालित नहीं हो रही हैं। सोमवार को देहरादून-हावड़ा कुम्भ एक्सप्रेस 12 घंटे, विभूति एक्सप्रेस 4.10 घंटे, पवन एक्सप्रेस 3.20 घंटे, गोंदिया-बरौनी एक्सप्रेस 2.30 घंटे, बठिंडा-मालदा टाउन फरक्का एक्सप्रेस 2 घंटे और मुम्बई-वाराणसी महानगरी एक्सप्रेस 1.15 घंटे विलम्ब से कैंट स्टेशन पहुंचीं।

गेहूं के लिए बरसा सोना, सब्जी की फसल को क्षति
बारिश गेहूं और जौ की फसल के लिए फायदेमंद, जबकि सब्जी खेती के लिए नुकसानदायक है। कृषि विशेषज्ञ देवमणि त्रिपाठी ने बताया कि सरसों के फूल झड़ने से नुकसान होगा लेकिन समय से बोयी गयी सरसों की फसल जिसमें फलियां लग चुकी हैं उन्हें लाभ होगा। उन्होंने कहा कि फूलगोभी, मटर, टमाटर, बैंगन को क्षति होगी। टमाटर बैंगन में फली छेदक कीड़ों का प्रकोप बढ़ेगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें