ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशUP Weather: यूपी में कल से गर्मी का रेड अलर्ट, प्रचंड ग्रीष्म लहर के साथ लू के थपेड़े, कब मानसून?

UP Weather: यूपी में कल से गर्मी का रेड अलर्ट, प्रचंड ग्रीष्म लहर के साथ लू के थपेड़े, कब मानसून?

तपन उत्तर प्रदेश के जनजीवन को अभी और सताएगी। मौसम विभाग ने राज्य में गर्मी का रेड अलर्ट जारी किया है। इस दौरान प्रदेश में कुछ स्थानों पर प्रचंड ग्रीष्म लहर का प्रकोप रहेगा और लू के थपेड़े चलेंगे।

UP Weather: यूपी में कल से गर्मी का रेड अलर्ट, प्रचंड ग्रीष्म लहर के साथ लू के थपेड़े, कब मानसून?
Yogesh Yadavलाइव हिन्दुस्तान,लखनऊTue, 11 Jun 2024 11:29 PM
ऐप पर पढ़ें

जेठ के महीने की तपन उत्तर प्रदेश के जनजीवन को अभी और सताएगी। मौसम विभाग ने राज्य में गर्मी का रेड अलर्ट जारी किया है। इस दरम्यान प्रदेश में कुछ स्थानों पर प्रचंड ग्रीष्म लहर का प्रकोप रहेगा और लू के थपेड़े चलेंगे। अगले तीन दिनों के दौरान राज्य में दिन के तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस की बढ़ोत्तरी के भी आसार हैं। आंचलिक मौसम विज्ञान केन्द्र से मिली जानकारी के अनुसार, मंगलवार को प्रदेश में सबसे अधिक दिन का तापमान 47 डिग्री सेल्सियस प्रयागराज में दर्ज किया गया। आंचलिक मौसम विज्ञान केन्द्र के आंकड़ों के अनुसार प्रयागराज में चार साल बाद जून के महीने में पारा इतने ऊपर गया है। इससे पहले 2019 में जून में प्रयागराज में पारा 48.9 डिग्री सेल्सियस पर दर्ज हो चुका है। कानपुर एयरफोर्स पर पारा 46 और अलीगढ़, बागपत, चंदौली, सोनभद्र, सुल्तानपुर, वाराणसी में क्रमश: 45-45 डिग्री सेल्सियस तापमान रहा।

बंगाल की खाड़ी में हलचल हो तो यूपी की तरफ बढ़े मानसून
आंचलिक मौसम विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक अतुल कुमार सिंह के अनुसार फिलहाल अगले पांच दिनों तक दक्षिणी-पश्चिमी मानसून के उत्तर प्रदेश की तरफ बढ़ने के कोई आसार नहीं हैं। उन्होंने बताया कि मानसून की बंगाल की खाड़ी से चलने वाली शाखा पिछली 31 मई से निष्क्रिय है जबकि अरब सागर से चलने वाली शाखा पूर्वोत्तर और दक्षिणी राज्यों में अच्छी बारिश दे रही है। 
बताते चलें कि पिछले साल भी उत्तर प्रदेश में मानसून देर से सक्रिय हुआ था। दरअसल मानसून की बंगाल की खाड़ी की शाखा सक्रिय होने पर उड़ीसा से बिहार होते हुए गोरखपुर या वाराणसी के रास्ते उत्तर प्रदेश में सामान्यत: 18 से 20 जून के बीच दाखिल होती है। 

शहर व गांव कहीं भी पानी की कमी न होने पाएः मुख्य सचिव

लखनऊ। विशेष संवाददाता मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने कहा है कि अगले पांच दिनों तक हीट वेव के लिये पूर्वानुमान है। इस दौरान जनहानि व पशुहानि न हो इसके लिये समुचित प्रबंध सुनिश्चित किये जायें। शहर के साथ-साथ से ग्रामीण क्षेत्रों में पानी की पर्याप्त उपलब्धता रहे। कहीं भी पानी की किल्लत नहीं होनी चाहिये। मुख्य सचिव ने मंगलवार को मंडलायुक्तों व जिलाधिकारियों के साथ विडिओ कॉन्फ्रंसिंग में यह निर्देश दिए।

भीड़भाड़  वाले स्थानों व सार्वजनिक स्थानों पर प्याऊ की व्यवस्था की जाये। जहां आवश्यक हो टैंकर के माध्यम से पानी की आपूर्ति सुनिश्चित करायी जाये। इसके अलावा यह भी सुनिश्चित करा लिया जाये कि गौआश्रय स्थलों में पानी की उपलब्धता रहे।  उन्होंने यह भी कहा कि सभी अस्पतालों में ओआरएस, दवाई व कोल्ड रूम की उपलब्धता रहे और सभी अस्पताल अलर्ट मोड पर रहें।

मुख्य सचिव ने  कहा कि हीट वेव के दौरान फायर सेफ्टी बेहद महत्वपूर्ण है। सभी पब्लिक प्लेसेज-अस्पताल, होटल आदि में फायर सेफ्टी के लिये समुचित प्रबंध हो। सभी शासकीय मेडिकल कॉलेज व अस्पतालों का फायर सेफ्टी ऑडिट कराकर अवशेष कार्यों को पूरा करा लिया जाये। 

उन्होंने कहा कि गर्मी के उपरांत बारिश का मौसम शुरू हो जायेगा। गत वर्षों में हुई क्षति का आंकलन करते हुये बाढ़ के लिये बेहतर कार्ययोजना बनायी जाये, जिससे बाढ़ का प्रकोप न्यूनतम रहे। सभी तटबंधों का निरीक्षण करा लिया जाये, जहां मरम्मत की आवश्यकता हो, करा दी जाये।  उन्होंने कहा कि बारिश के मौसम से पूर्व नाला व नालियों की सफाई सुनिश्चित करा ली जाये और नालियों से निकलने वाले कचरे को वहां से हटवा दिया जाये। 

राजस्व विभाग के समीक्षा के दौरान उन्होंने कहा कि 3 से 5 वर्ष के लम्बित मामलों को तत्परता से निस्तारित कराया जाये   राजस्व वादों के निस्तारण में रुचि न लेने वाले अधिकारियों के विरुद्ध सख्त एक्शन लिया जाये। बैठक में अपर मुख्य सचिव कृषि  देवेश चतुर्वेदी, प्रमुख सचिव नियोजन  आलोक कुमार, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य  पार्थ सारथी सेन शर्मा, प्रमुख सचिव राजस्व  पी0 गुरुप्रसाद, आयुक्त एवं सचिव राजस्व परिषद  मनीषा त्रिघाटिया सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी  उपस्थित थे।