ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशUP Weather AQI Today: कोहरे ने बढ़ाई ठंड, धुंध की चादर के साथ नोएडा में एक्‍यूआई 500 पहुंचा; जानें अपने शहर का हाल

UP Weather AQI Today: कोहरे ने बढ़ाई ठंड, धुंध की चादर के साथ नोएडा में एक्‍यूआई 500 पहुंचा; जानें अपने शहर का हाल

UP Weather AQI Today: धीरे-धीरे यूपी में ठंड बढ़ रही है। कई शहरों में कोहरे की चादर है तो कई शहरों को धुंध ने ढंक रखा है। बढ़ते प्रदूषण के कारण छाई धुंध से सांस के मरीजों की समस्या बढ़ सकती है।

UP Weather AQI Today: कोहरे ने बढ़ाई ठंड, धुंध की चादर के साथ नोएडा में एक्‍यूआई 500 पहुंचा; जानें अपने शहर का हाल
Srishti Kunjलाइव हिन्दुस्तान,लखनऊSun, 05 Nov 2023 07:49 AM
ऐप पर पढ़ें

UP Weather AQI Today: ठंड का असर बढ़ने के साथ ही हवा भी कम चल रही है। जहां कुछ शहरों में कोहरे से सुबह हो रही है तो कई शहरों में दिनभर धुंध की परत छाई रही। हवा कम होने से प्रदूषण के नन्हे कण हवा में बरकरार हैं। इससे आसमान में धूल-धुएं की परत छाई रही। मौसम विभाग के अनुसार ठंड और बढ़ने के आसार हैं। साथ ही केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अनुसार कई शहरों में प्रदूषण स्तर सर्वाधिक रहेगा। दिल्ली से सटे शहरों में इसका ज्यादा असर है। नोएडा, गाजियाबाद और ग्रेटर नोएडा की हवा सबसे ज्यादा खतरनाक हो गई है। 

मौसम विभाग का कहना है कि आने वाले दिनों में ठंड धीरे-धीरे करके बढ़ती हुई महसूस होगी। सबसे ज्यादा असर सुबह और रात में देखने को मिलेगा। वहींं दिन में धूप निकलने से मौसम गर्म ही रहेगा। अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 17 डिग्री सेल्सियस मापा जा रहा है। इसके अलावा कई शहरों में सुबह कोहरे की चादर के साथ होगी। नवंबर के आखिर तक ठंड पूरी तरह देखने को मिलेगी।

वहीं प्रदूषण की बात केरं तो पोस्ट मानसून सर्वेक्षण के अनुसार वायु गुणवत्ता पिछले साल की तुलना में बेहद खराब है। भारतीय विष विज्ञान अनुसंधान संस्थान हर बार मानसून के पहले और बाद में वायु गुणवत्ता और शोर के लिए सर्वेक्षण कराता है। मानसून बाद सितम्बर से अक्तूबर तक लखनऊ में नौ जगहों पर सर्वेक्षण की रिपोर्ट संस्थान ने जारी की। कई शहरों में एक्यूआई 400 के पार है तो कई शहर 350 के पार पहुंच गए हैं। हवा में धुंध के साथ स्मॉग छाए रहने से सांस के मरीजों को समस्या हो सकती है।

सुधार के लिए सुझाव
- बीएस-4 अनुपालित,इलेक्ट्रिक, बायोडीजल, सीएनजी या हाइब्रिड वाहनों का उत्सर्जन नियंत्रित हो।
- सड़कें बार-बार काटने,खोदने से बचें।
- सड़कों पर पानी छिड़काव, झाड़ू लगे।
- ई-वाहन चार्जिंग स्टेशन बढ़ाए जाएं।
- जहां प्रदूषण का भार ज्यादा हो वहां फॉगिंग जरूर कराई जाए।
- कचरा, कूड़ा, भवन निर्माण सामग्री को ढक कर रखें और उनका परिवहन हो।
- प्लास्टिक, कूड़ा आदि जलाने से बचें।

यहां देखें रविवार को सुबह छह बजे क्‍या रहा आपके शहर का एक्‍यूआई-

शहर स्थान AQI हवा कैसी है
आगरा मनोहरपुर 221 खराब है
  रोहता 188 अच्छी नहीं है
  संजय पैलेस 164 अच्छी नहीं है
  आवास विकास कॉलोनी 196 अच्छी नहीं है
  शाहजहां गार्डेन 200 अच्छी नहीं है
  शास्त्रीपुरम 169 अच्छी नहीं है
बागपत कलेक्टर ऑफिस डाटा नहीं है  
  सरदार पटेल इंटर कॉलेज 332 बहुत खराब है
बरेली सिविल लाइंस 163 अच्छी नहीं है
  राजेंद्र नगर 133 अच्छी नहीं है
बुलंदशहर यमुनापुरम डाटा नहीं है  
फिरोजाबाद नगला भाऊ 202 खराब है
  विभब नगर 208 खराब है
गाजियाबाद इंदिरापुरम 393 बहुत खराब है
  लोनी डाटा नहीं है खतरनाक है
  संजय नगर 397 बहुत खराब है
  वसुंधरा 429 खतरनाक है
गोरखपुर मदन मोहन मालवीय तकनीकी विश्वविद्यालय 251 खराब है
ग्रेटर नोएडा नॉलेज पार्क 3 498 खतरनाक है
  नॉलेज पार्क 5 451 खतरनाक है
हापुड़ आनंद विहार 338 बहुत खराब है
झांसी शिवाजी नगर 154 अच्छी नहीं है
कानपुर किदवई नगर 187 अच्छी नहीं है
  आईआईटी 350 बहुत खराब है
  कल्याणपुर 215 खराब है
  नेहरू नगर 247 खराब है
खुर्जा कालिंदी कुंज 236 खराब है
लखनऊ आंबेडकर यूनिवर्सिटी 226 खराब है
  सेंट्रल स्कूल 220 खराब है
  गोमती नगर 200 अच्छी नहीं है
  कुकरैल 208 खराब है
  लालबाग 312 बहुत खराब है
  तालकटोरा 301 बहुत खराब है
मेरठ गंगा नगर 315 बहुत खराब है
  जय भीम नगर 368 बहुत खराब है
  पल्लवपुरम 353 बहुत खराब है
मुरादाबाद बुद्धि विहार 104 अच्छी नहीं है
  इको हर्बल पार्क 150 अच्छी नहीं है
  रोजगार कार्यालय 161 अच्छी नहीं है
  जिगर कॉलोनी 142 अच्छी नहीं है
  कांशीराम नगर 113 अच्छी नहीं है
  लाजपत नगर डाटा नहीं है  
  ट्रांसपोर्ट नगर 115 अच्छी नहीं है
मुजफ्फरनगर नई मंडी 268 खराब है
नोएडा सेक्टर 125 400 खतरनाक है
  सेक्टर 62 483 खतरनाक है
  सेक्टर 1 410 खतरनाक है
  सेक्टर 116 445 खतरनाक है
प्रयागराज झूंसी 143 अच्छी नहीं है
  मोतीलाल नेहरू एनआईटी 192 अच्छी नहीं है
  नगर निगम 195 अच्छी नहीं है
वाराणसी अर्दली बाजार 84 ठीक है
  भेलपुर 92 ठीक है
  बीएचयू 69 ठीक है
  मलदहिया 77 ठीक है
वृंदावन ओमेक्स इटर्निटी 162 अच्छी नहीं है
नोट- AQI के किस रेंज का आपके लिए क्या मतलब है नीचे का टेबल चेक कर लें
AQI का रेंज हवा का हाल स्वास्थ्य पर संभावित असर 
0-50 अच्छी है बहुत कम असर
51-100 ठीक है संवेदनशील लोगों को सांस की हल्की दिक्कत
101-200 अच्छी नहीं है फेफड़ा, दिल और अस्थमा मरीजों को सांस में दिक्कत
201-300 खराब है लंबे समय तक ऐसे वातावरण में रहने पर किसी को भी सांस में दिक्कत
301-400 बहुत खराब है लंबे समय तक ऐसे वातावरण में रहने पर सांस की बीमारी का खतरा
401-500 खतरनाक है स्वस्थ आदमी पर भी असर, पहले से बीमार हैं तो ज्यादा खतरा  
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें