ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशUP Weather AQI Today: बर्फीली हवाओं से बढ़ेगी सर्दी-गलन, हवा में खतरनाक गैस घुली; जानें अपने शहर का हाल

UP Weather AQI Today: बर्फीली हवाओं से बढ़ेगी सर्दी-गलन, हवा में खतरनाक गैस घुली; जानें अपने शहर का हाल

UP Weather AQI Today: पहाड़ों पर चल रहीं बर्फीली हवाओं से यूपी के शहरों में सर्दी लौट गई है। सीजन की सबसे सर्द रात रविवार को महसूस हुई। वहीं प्रदूषण भी कम नहीं हो रहा है। जानें अपने शहर का हाल।

UP Weather AQI Today: बर्फीली हवाओं से बढ़ेगी सर्दी-गलन, हवा में खतरनाक गैस घुली; जानें अपने शहर का हाल
Srishti Kunjलाइव हिन्दुस्तान,लखनऊMon, 11 Dec 2023 11:23 AM
ऐप पर पढ़ें

UP Weather AQI Today: पश्चिमी बर्फीली हवाओं से सर्दी फिर लौट आई है। इन तेज हवाओं ने रात का पारा गिरा दिया। सीजन (दिसंबर) की सबसे सर्द रात रविवार की रही। न्यूनतम पारा 11 डिग्री रहा। दिन के तापमान में भी कमी आई। मौसम विभाग के अनुसार, अगले 48 घंटों तक पश्चिमी हवाएं चलती रहेंगी। दिन में आसमान साफ रहेगा। पहाड़ों पर बर्फबारी शुरू हो चुकी है। शनिवार शाम से पश्चिमी हवाएं चल रही हैं। इन हवाओं में अभी रफ्तार नहीं है। बावजूद हवाएं बर्फीली हैं, जिसका असर तापमान पर पड़ा है। तेज धूप होने के बावजूद अधिकतम तापमान 25 डिग्री से गिरकर 24.8 डिग्री हो गया। रात का तापमान 11 डिग्री सेल्सियस हो गया।

पश्चिमी विक्षोभ इस बार कम आए
सीजन में पश्चिमी विक्षोभ इस बार कम आए हैं, जो आए भी वह कमजोर हैं। मौसम विज्ञानी डॉ. एसएन सुनील पांडेय के मुताबिक, अभी एक हल्का पश्चिमी विक्षोभ आना है।

सर्द हवाएं चलीं, अब बढ़ेगी गलन
सोमवार अचानक हवाएं चलना शुरू हो गई। दिन में जो लोग हाफ स्वेटर या सदरी में घर से निकलते थे अब सिहर उठे हैं। मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो आसमान साफ होने के कारण अब सर्दी का सितम भी बढ़ना शुरू होगा। अगले तीन दिनों तक आसमान में बादल छाए रहेंगे और बूंदाबांदी के आसार बने रहेंगे। उसके बाद घना कोहरा भी पड़ेगा। पछुआ हवाओं के कारण गलन बढ़ रही है। पारा भी तेजी से गिरेगा। कोहरे के साथ ही ठंड भी बढ़ेगी। 

धूल-धुएं संग चली उत्तर पश्चिमी हवाएं
पश्चिमी हवाएं चलने के कारण कई शहरों में प्रदूषण बढ़ता जा रहा है। वेस्ट यूपी में शहरों में सुबह और शाम को हवा अधिक प्रदूषित हो रही है। वहीं पूर्वी यूपी के भी कई शहर प्रदूषण की चपेट में हैं। धूल-धुएं की मात्रा अधिक होने और नाइट्रोजन डाइऑक्साइड की मात्रा अधिक होने से हवा खतरनाक होती जा रही है। मॉर्निंग वॉकर्स को सलाह दी गई है कि वे सुबह या देर शाम अनावश्यक रूप से बाहर न टहलें। सबसे अधिक एक्यूआई 274 मेरठ में दर्ज किया गया है। 

खतरनाक गैस अधिक
धूल-धुएं की अधिकतम मात्रा 363 माइक्रोन प्रति घनमीटर रही। नाइट्रोजन डाइऑक्साइड की अधिकतम मात्रा 131 माइक्रोन प्रति घनमीटर रही। कार्बन मोनोऑक्साइड की अधिकतम मात्रा 131 माइक्रोन प्रति घनमीटर रही। खतरनाक गैसों की मात्रा मानक से अधिक होने से सांस की मरीजों को अधिक परेशानी हो रही है। डॉक्टरों का कहना है कि हवा की सेहत ठीक नहीं है।

यहां देखें सोमवार को सुबह छह बजे क्‍या रहा आपके शहर का एक्‍यूआई-

शहर स्थान AQI हवा कैसी है
आगरा मनोहरपुर 66 ठीक है
  रोहता 83 ठीक है
  संजय पैलेस डाटा नहीं है  
  आवास विकास कॉलोनी 106 अच्छी नहीं है
  शाहजहां गार्डेन 78 ठीक है
  शास्त्रीपुरम 93 ठीक है
बागपत कलेक्टर ऑफिस डाटा नहीं है  
  सरदार पटेल इंटर कॉलेज 221 खराब है
बरेली सिविल लाइंस 145 अच्छी नहीं है
  राजेंद्र नगर 119 अच्छी नहीं है
बुलंदशहर यमुनापुरम 242 खराब है
फिरोजाबाद नगला भाऊ 102 अच्छी नहीं है
  विभब नगर 84 ठीक है
गाजियाबाद इंदिरापुरम 204 खराब है
  लोनी 268 खराब है
  संजय नगर 219 खराब है
  वसुंधरा 229 खराब है
गोरखपुर मदन मोहन मालवीय तकनीकी विश्वविद्यालय 95 ठीक है
ग्रेटर नोएडा नॉलेज पार्क 3 254 खराब है
  नॉलेज पार्क 5 270 खराब है
हापुड़ आनंद विहार 226 खराब है
झांसी शिवाजी नगर 102 अच्छी नहीं है
कानपुर किदवई नगर 138 अच्छी नहीं है
  आईआईटी डाटा नहीं है  
  कल्याणपुर 124 अच्छी नहीं है
  नेहरू नगर 171 अच्छी नहीं है
खुर्जा कालिंदी कुंज 83 ठीक है
लखनऊ आंबेडकर यूनिवर्सिटी 140 अच्छी नहीं है
  सेंट्रल स्कूल 118 अच्छी नहीं है
  गोमती नगर 152 अच्छी नहीं है
  कुकरैल 91 ठीक है
  लालबाग 205 खराब है
  तालकटोरा 242 खराब है
मेरठ गंगा नगर 227 खराब है
  जय भीम नगर 230 खराब है
  पल्लवपुरम 274 खराब है
मुरादाबाद बुद्धि विहार 128 अच्छी नहीं है
  इको हर्बल पार्क 210 खराब है
  रोजगार कार्यालय 183 अच्छी नहीं है
  जिगर कॉलोनी 136 अच्छी नहीं है
  कांशीराम नगर 174 अच्छी नहीं है
  लाजपत नगर डाटा नहीं है  
  ट्रांसपोर्ट नगर 105 अच्छी नहीं है
मुजफ्फरनगर नई मंडी 269 खराब है
नोएडा सेक्टर 125 273 खराब है
  सेक्टर 62 259 खराब है
  सेक्टर 1 236 खराब है
  सेक्टर 116 260 खराब है
प्रयागराज झूंसी 129 अच्छी नहीं है
  मोतीलाल नेहरू एनआईटी 73 ठीक है
  नगर निगम 110 अच्छी नहीं है
वाराणसी अर्दली बाजार 58 ठीक है
  भेलपुर 83 ठीक है
  बीएचयू 49 अच्छी है
  मलदहिया 105 अच्छी नहीं है
वृंदावन ओमेक्स इटर्निटी 112 अच्छी नहीं है
नोट- AQI के किस रेंज का आपके लिए क्या मतलब है नीचे का टेबल चेक कर लें
       
AQI का रेंज हवा का हाल स्वास्थ्य पर संभावित असर 
0-50 अच्छी है बहुत कम असर
51-100 ठीक है संवेदनशील लोगों को सांस की हल्की दिक्कत
101-200 अच्छी नहीं है फेफड़ा, दिल और अस्थमा मरीजों को सांस में दिक्कत
201-300 खराब है लंबे समय तक ऐसे वातावरण में रहने पर किसी को भी सांस में दिक्कत
301-400 बहुत खराब है लंबे समय तक ऐसे वातावरण में रहने पर सांस की बीमारी का खतरा
401-500 खतरनाक है स्वस्थ आदमी पर भी असर, पहले से बीमार हैं तो ज्यादा खतरा  
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें