ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशयूपी में तेज हवाओं और बारिश ने दी प्रदूषण से राहत, एनसीआर से सटे इलाकों को छोड़ सुधरी हवा

यूपी में तेज हवाओं और बारिश ने दी प्रदूषण से राहत, एनसीआर से सटे इलाकों को छोड़ सुधरी हवा

एनसीआर से सटे इलाकों को छोड़कर यूपी में हवा प्रदूषण की इस बार दिवाली के बाद भी राहत है। इसका बड़ा कारण तेज हवाओं और बारिश को माना जा रहा है। दिल्ली-हरियाणा के कारण NCR से सटे इलाकों में हालत खराब रही।

यूपी में तेज हवाओं और बारिश ने दी प्रदूषण से राहत, एनसीआर से सटे इलाकों को छोड़ सुधरी हवा
Yogesh Yadavहिन्दुस्तान,लखनऊTue, 14 Nov 2023 08:40 PM
ऐप पर पढ़ें

एनसीआर (राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र) और उससे सटे तीन चार शहरों को छोड़ दें तो प्रदेश के बाकी हिस्सों में दीपावली के दिन वायु प्रदूषण में कहीं अधिक सुधार नजर आ रहा है। हालांकि दीपावली से एक दिन पूर्व कमोबेश सभी शहरों में वायु प्रदूषण का स्तर काफी कम दर्ज किया गया। पर्यावरण विशेषज्ञ इसका सबसे बड़ा कारण दो दिन पूर्व से प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में बारिश होने और तेज हवाएं चलने को बता रहे हैं। इस साल एनसीआर के शहरों की हवा दिवाली में ज्यादा जहरीली होने का बड़ा कारण पड़ोसी राज्य दिल्ली, हरियाणा और पंजाब में बढ़ते प्रदूषण को भी माना जा रहा है।

केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के दिपावली के एक दिन पूर्व एवं एक दिन बाद के प्रदूषण के आंकड़े पर नजर डालें तो एनसीआर के गाजियाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा आदि शहरों में दीपावली के दूसरे दिन भी हवा काफी प्रदूषित रही। तीनों शहरों में एक्यूआई (एयर क्वालिटी इंडेक्स) 300 से अधिक दर्ज किया गाय है। अलबत्ता हापुड़ में यह 300 से नीचे 268 ही रहा। 

एनसीआर से सटे कुछ शहरों पर भी इसका असर देखा गया है। मेरठ, बागपत, बुलन्दशहर की हवा भी जहरीली दर्ज की गई। इन शहरों में भी एक्यूआई 300 से ऊपर ही दर्ज हुई है हालांकि मुजफ्फरनगर में यह 300 से नीचे 279 दर्ज की गई है। प्रदेश के बाकि हिस्सों के कुछ प्रमुख शहरों के वायु की शुद्धता से जुड़े आंकड़ों को देखें तो आगरा एवं वाराणसी ने अपने यहां के प्रदूषण की समस्या में काफी सुधार किया है। 

दीपावली के ठीक दूसरे दिन 13 नवम्बर को आगरा का एक्यूआई 158 दर्ज किया गया है जबकि दिवाली से एक दिन पूर्व 11 नवम्बर को इस शहर का एक्यूआई मात्र 63 था। पिछले वर्ष भी दिवाली बाद आगरा का एक्यूआई 206 था जबकि दीपावली से एक दिन पूर्व यह स्तर 161 पर था। इसी प्रकार से वाराणसी में इस साल दीपावली के दूसरे दिन 13 नवम्बर को एक्यूआई 192 दर्ज किया गया जबकि दिवाली से पूर्व 11 नवम्बर को यह 161 था। बीते वर्ष भी वाराणसी में दिवाली के दूसरे दिन 24 अक्तूबर को 106 था, वहीं दीपावली से एक दिन पूर्व 22 अक्तूबर को 172 दर्ज किया गया था।

एक्यूआई स्तर दिपावली पूर्व एवं दीपावली के ठीक बाद की स्थिति 
क्रम सं.         शहर             दीपावली से पूर्व                 दीपावली के ठीक बाद

                    22 अक्तू 2022- 11 नव.2023             24 अक्तू.2022-13 नव.2023
 1.             गाजियाबाद    270         160                 300         329
 2.             हापुड़         230         101                229         268
 3.             नोएडा         236         156                 305         363
 4.             ग्रे. नोएडा    202         130                 274         342
 5.             मेरठ         274         187                 180         362
 6.             बागपत         227         211                 200         385
 7.             बुलंदशहर     310         68                 299         318
 8.             मुजफ्फरनगर     280         187                 215         279
 9.             खुर्जा         254         58                 266         138
10.             आगरा         161         63                 206         158
11.             बरेली         194         83                 186         212
12.             फिरोजाबाद     76         54                 125         203
13.             गोरखपुर     85         215                 86         300
14.              झांसी         177         163                 214         219
15.             कानपुर         266         107                 174         228
16.             लखनऊ      163         148                 137         213
17.             वाराणसी     172         161                 106         192
18.             प्रयागराज     162         218                 121         254
19.             वृन्दावान     112         67                 111         119
20             मुरादाबाद     148         81                 106         264