ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशयूपी: राज्यसभा की 10 सीटों पर मतदान आज, भाजपा के 8, सपा के 3 उम्मीदवार मैदान में उतरे

यूपी: राज्यसभा की 10 सीटों पर मतदान आज, भाजपा के 8, सपा के 3 उम्मीदवार मैदान में उतरे

राज्यसभा की 10 सीटों के लिए मतदान आज किए जाएंगे। इसी के लिए भाजपा ने आठ और सपा ने तीन उम्मीदवार मैदान में उतारे हैं। वहीं राजनीतिक गलियारों में क्रास वोटिंग होने की संभावना भी जताई जा रही है।

यूपी: राज्यसभा की 10 सीटों पर मतदान आज, भाजपा के 8, सपा के 3 उम्मीदवार मैदान में उतरे
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,लखनऊTue, 27 Feb 2024 06:34 AM
ऐप पर पढ़ें

राज्यसभा की 10 सीटों के लिए मंगलवार को प्रात: नौ बजे से अपराह्न चार बजे तक विधान भवन के तिलक हॉल में मतदान होगा और देर शाम मतगणना होगी। भाजपा ने आठ और सपा ने तीन उम्मीदवार उतारे हैं। एक सीट जीतने के लिए 37 विधायकों के वोट की जरूरत है। भाजपा को आठवां और सपा को तीसरा उम्मीदवार उतारे के लिए अतिरिक्त वोटों की जरूरत है। ऐसे में क्रास वोटिंग की तय है। देर रात तक सपा-भाजपा अपने प्रत्याशियों की जीत के लिए जरूरी मतों की लामबंदी में जुटे रहे। भाजपा ने दावा किया है कि उसके आठों प्रत्याशियों की जीत होगी तो सपा भी अपने तीनों उम्मीदवारों की जीत के लिए आश्वस्त है।

एकजुटता का प्रदर्शन
भाजपा के पास आठवां और सपा के पास तीसरा उम्मीदवार जिताने के लिए पर्याप्त संख्या बल नहीं है। इसीलिए दोनों को अतिरिक्त विधायकों की जरूरत है। इसको लेकर दोनों पार्टियां लामबंदी में जुटी हुई हैं। भाजपा रालोद के साथ ही राजा भैया के विधायकों का साथ पाने में कामयाब हो गई है। रालोद विधायकों ने सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर स्थिति साफ कर दी है। इसी तरह राजा भैया ने भी यह साफ कर दिया है कि दोनों विधायक राज्यसभा चुनाव में भाजपा को वोट करेंगे। इसके पहले सुभासपा के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर अपने पांचों विधायकों के साथ मुख्यमंत्री से मिल चुके हैं। भाजपा ने इनके सहारे एकजुटता का प्रदर्शन किया है।

ये भी पढ़ें: राज्यसभा चुनाव से पहले भाजपा ने कर दिया खेला? अखिलेश की मीटिंग से गायब रहे सपा के आठ विधायक

भाजपा को आठ तो सपा को चाहिए एक
राज्यसभा चुनाव के लिए अब तक तय फार्मूले के मुताबिक एक उम्मीदवार को जीतने के लिए 37 विधायकों की जरूरत है। भाजपा के पास अपना और अपना दल (सोनेलाल), रालोद, निर्बल इंडिया शोषित दल, सुभासपा(5) और राजा भैया की पार्टी को मिलाकर 288 विधायक होते हैं। भाजपा को आठों उम्मीदवार को जिताने के लिए 296 विधायकों की जरूरत पड़ेगी। इस हिसाब से उसे अभी 9 विधायकों की और जरूरत है। सपा और कांग्रेस मिलाकर 108 विधायक होते हैं। उसे तीन अतिरिक्त विधायक की जरूरत है।

तीन विधायक जेल में
सपा के इरफान सोलंकी व रमाकांत यादव और सुभासपा के अब्बास अंसारी जेल में हैं। इन विधायकों के वोट न कर पाने की स्थिति में भाजपा को नौ और सपा को तीन अतिरिक्त विधायकों की जरूरत पड़ेगी। ऐसी स्थिति में तोड़फोड़ और क्रास वोटिंग की संभावना और बढ़ जाती है। बसपा ने अभी स्थिति साफ नहीं की है। उसके पास मात्र एक विधायक है। बसपा विधायक अंतरआत्मा की आवाज पर या तो वोट कर सकते हैं या फिर गैर हाजिर रह सकते हैं।

भाजपा के उम्मीदवार
आरपीएन सिंह, चौधरी तेजवीर सिंह, अमरपाल मौर्य, संगीता बलवंत, सुधांशु त्रिवेदी, साधना सिंह, नवीन जैन और संजय सेठ

सपा उम्मीदवार
जया बच्चन, रामजी लाल सुमन और आलोक रंजन

विधानसभा में दलीय स्थिति 
- भारतीय जनता पार्टी                             252
- समाजवादी पार्टी                                 108
- अपना दल (सोनेलाल)                           13
- राष्ट्रीय लोक दल                                     9
- निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल       6
- सुलेहदेव भारतीय समाज पार्टी                  6 
- भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस                            2
- जनसत्ता दल लोकतांत्रिक                       2
- बहुजन समाज पार्टी                              1
मौजूदा समय चार सीटें सदस्यों के निधन से रिक्त हैं

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें