ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशबीएचयू में पढ़ने के लिए विदोशियों ने दिखाई रुचि, 30 देशों के 312 छात्रों ने लिए इस साल प्रवेश

बीएचयू में पढ़ने के लिए विदोशियों ने दिखाई रुचि, 30 देशों के 312 छात्रों ने लिए इस साल प्रवेश

यूपी के बीएचयू में 30 देशों के 312 छात्रों ने इस साल प्रवेश लिया है। पहली बार किसी सत्र में एक साथ इतने विदेशियों ने रुचि दिखाई है। विश्वविद्यालय में वर्तमान में 700 से ज्यादा विदेशी पढ़ाई कर रहे हैं।

बीएचयू में पढ़ने के लिए विदोशियों ने दिखाई रुचि, 30 देशों के 312 छात्रों ने लिए इस साल प्रवेश
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,वाराणसीFri, 24 Nov 2023 11:13 AM
ऐप पर पढ़ें

विदेशी विद्यार्थियों के लिए यूपी के वाराणसी की बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी, बीएचयू सबसे पसंदीदा भारतीय संस्थानों में एक बन गया है। मौजूदा शैक्षणिक सत्र में 30 देशों से 312 छात्र-छात्राओं ने बीएचयू के विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रवेश लिया है। यह पहली बार है जब बीएचयू में अंतरराष्ट्रीय विद्यार्थियों के प्रवेश का आंकड़ा 300 के पार पहुंचा है। इसके साथ ही बीएचयू में वर्तमान में पंजीकृत अंतरराष्ट्रीय विद्यार्थियों की संख्या 49 देशों से 734 हो गई है।

नए प्रवेशार्थियों में 172 ने स्नातक, 112 ने स्नातकोत्तर, 16 ने पीएचडी और 12 ने प्रमाणपत्र अथवा डिप्लोमा कोर्सेज में प्रवेश लिया है। इनमें से 253 ने स्ववित्तपोषित श्रेणी, 49 ने भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद्, चार ने एजुकेशन काउंसिल ऑफ इंडिया तथा छह ने स्टडी इन इंडिया प्रोग्राम के तहत प्रवेश प्राप्त किया है। इस बार प्रवेश लेने वालों में सबसे अधिक 155 विद्यार्थी नेपाल से हैं। बांग्लादेश से 85, श्रीलंका से 11 और म्यांमार से 10 विद्यार्थियों ने एडमिशन लिया है।

सहायक अध्यापक भर्ती: परीक्षा नियामक प्राधिकारी व बेसिक शिक्षा सचिव एक्शन प्लान सहित तलब

कुलपति प्रो. सुधीर कुमार जैन ने एडमिशन को लेकर जानकारी दी और कहा कि विद्यार्थियों के लिए बेहतर सुविधाओं की उपलब्धता पर विश्वविद्यालय प्रशासन विशेष ध्यान दे रहा है। बीएचयू ने अंतरराष्ट्रीय विद्यार्थियों के लिए छात्रावास की क्षमता को काफी बढ़ाया है। सभी अंतरराष्ट्रीय विद्यार्थियों के लिए छात्रवृत्ति से भी विश्वविद्यालय को विदेशी छात्र-छात्राओं के बीच काफी पहचान मिली है।

अंतरराष्ट्रीय केंद्र के समन्वयक प्रो. एसवीएस राजू ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि अंतरराष्ट्रीय विद्यार्थियों के प्रवेश को गति देने के लिए बीएचयू ने भारत सरकार की पहल पर एजुकेशन काउंसिल ऑफ इंडिया तथा स्टडी इन इंडिया प्रोग्राम के साथ सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं।

विदेशी विद्यार्थियों के लिए हॉस्टल भी उपलब्ध
बीएचयू परिसर में मौजूदा समय में 600 अंतरराष्ट्रीय विद्यार्थियों के लिए छात्रावास की सुविधा उपलब्ध है। इसके अलावा 400 की क्षमता वाला एक महिला छात्रावास भी तैयार कराया जा रहा है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें