DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  यूपी की ट्रांसफर नीति जारी होते ही कर्मचारियों में हलचल तेज, कहां कितनी पोस्ट खाली जुटने लगा ब्योरा
उत्तर प्रदेश

यूपी की ट्रांसफर नीति जारी होते ही कर्मचारियों में हलचल तेज, कहां कितनी पोस्ट खाली जुटने लगा ब्योरा

विशेष संवाददाता,लखनऊPublished By: Amit Gupta
Fri, 18 Jun 2021 03:05 PM
यूपी की ट्रांसफर नीति जारी होते ही कर्मचारियों में हलचल तेज, कहां कितनी पोस्ट खाली जुटने लगा ब्योरा

यूपी सरकार द्वारा तबादला नीति जारी होने के बाद कई विभागों ने गुरुवार से रिक्ति पदों की संख्या जुटानी शुरू कर दी हैं। बेसिक और माध्यमिक शिक्षा विभाग भी शिक्षकों की रिक्तियां जुटा रहा है। हालांकि नीति में कहा गया है कि यथासंभव मेरिट बेस्ड ऑनलाइन तबादले किए जाएं। इसके बावजूद बेसिक शिक्षा विभाग ने बुधवार को 16 अधिकारियों के ऑफलाइन तबादले किए हैं। 

वहीं माध्ममिक शिक्षा विभाग में भी समूह ‘क’ व ‘ख’ के तबादले करने की तैयारी है लेकिन ये तबादले ऑनलाइन होंगे या ऑफलाइन, इस पर निर्णय होना बाकी है। बेसिक शिक्षा विभाग भी बीएसए व बीईओ की सर्विस बुक तेजी से सत्यापित कर ऑनलाइन तबादले करने की तैयारी कर रहा है। मेरिट में ऊपर रहने वालों को विकल्प भी दिए जाएंगे। वहीं बाल विकास पुष्टाहार विभाग में भी अधिकारियों ने ऑनलाइन तबादले की मांग की है। सीडीपीओ संघ के अध्यक्ष एके पाण्डेय का कहना है कि तबादले निजी अनुरोध पर किए जाएं और तीन विकल्प लिए जाएंगे। इससे सरकार की कवायद कम होगी और स्वयं के अनुरोध पर सरकार का पैसा भी कम खर्च होगा। 

केंद्र सरकार ने मानव संपदा पोर्टल अनिवार्य किया है और इसके बाद यूपी में भी सभी कर्मचारियों व अधिकारियों का ब्यौरा ऑनलाइन किया जा रहा है। इसमें सभी अधिकारियों व कर्मचारियों की सर्विस बुक, छुट्टियों की ऑनलाइन व्यवस्था समेत तैनाती व तबादले भी इसी के माध्यम से किए जाने हैं। लेकिन अभी तक सभी विभागों ने अपने अधिकारियों -कर्मचारियों का डाटा ऑनलाइन नहीं किया है। प्रदेश में 8,82,833 कार्मिकों का ब्यौरा सत्यापित किया जा चुका है। वहीं 10,10648 कार्मिकों का डाटा ऑनलाइन होने की प्रक्रिया चल रही है। 29234 कार्मिकों का डाटा अभी ऑनलाइन नहीं है।  
बेसिक शिक्षा और माध्यमिक शिक्षा विभाग में शिक्षकों के तबादले कई वर्षों से ऑनलाइन ही किए जा रहे हैं। इसमें मेरिट तय करने के अपने मानक हैं। 

संबंधित खबरें