ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश31 जुलाई 2025 तक पूरी होगी यूपी में पर्यटकों की गणना, इसी आधार पर होगा विकास

31 जुलाई 2025 तक पूरी होगी यूपी में पर्यटकों की गणना, इसी आधार पर होगा विकास

उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग और पर्यटन मंत्रालय भारत सरकार के संयुक्त तत्वावधान में यूपी में पर्यटकों की गणना शुरू कराई गई है। 31 जुलाई 2025 तक गणना का कार्य पूरा होगा। इसके आधार पर विकास होगा।

31 जुलाई 2025 तक पूरी होगी यूपी में पर्यटकों की गणना, इसी आधार पर होगा विकास
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,लखनऊWed, 19 Jun 2024 11:48 AM
ऐप पर पढ़ें

उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग और पर्यटन मंत्रालय भारत सरकार के संयुक्त तत्वावधान में यूपी में पर्यटकों की गणना शुरू कराई गई है। 31 जुलाई 2025 तक गणना का कार्य पूरा होगा। यह जानकारी प्रदेश के पर्यटन मंत्री जयवीर सिंह ने मंगलवार को दी। उन्होंने कहा है कि पर्यटकों की वास्तविक संख्या सामने आने पर पर्यटन से जुड़ी योजनाएं बनाने और पर्यटक सुविधाओं के विकास में मदद मिलेगी। पहले चरण में एक जून से पर्यटकों की गणना का कार्य शुरू हो चुका है जो 30 जून तक चलेगा। 

दूसरे चरण में एक अगस्त 2024 से 31 जुलाई 2025 तक गणना कराई जाएगी। इस कार्य के लिए इंडिया इंस्टिट्यूट आफ लोकल सेल्फ गवर्नमेंट को कार्यदायी संस्था बनाया गया है। मंत्री ने बताया है कि बीते वर्ष 48 करोड़ से अधिक देशी-विदेशी पर्यटक यूपी आए थे। प्रदेश में धार्मिक पर्यटन लगातार लोकप्रिय हो रहा है। काशी, अयोध्या तथा मथुरा में घरेलू और विदेशी पर्यटकों की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है।

स्पाइस जेट ने अयोध्या से इन शहरों के लिए अपनी कई फ्लाइट सेवा बंद कीं, यात्री ये फ्लाइट करें बुक

पर्यटन मंत्री ने बताया कि बीते वर्ष 48 करोड़ से अधिक देशी-विदेशी पर्यटकों ने यूपी आये थे। यह संख्या वर्ष 2022 से 50 प्रतिशत से भी अधिक है। यूपी के काशी, अयोध्या तथा मथुरा में घरेलू एवं विदेशी पर्यटकों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। ऐसे में योजनाबद्ध तरीके से दो चरणों की गणना से पर्यटकों की संख्या के साथ ही होटल आदि की वास्तविक जानकारी जुटाई जा रही है।इससे पर्यटन से जुड़ी योजनाएं बनाने में मदद मिलेग. साथ ही पर्यटकों को अच्छी सुविधा देने में प्रयास किए जाएंगे।

मंत्री जयवीर सिंह के मुताबिक, पर्यटन स्थलों के अलावा बस स्टेशन, हवाई अड्डे, रेलवे स्टेशन, एकमोडेशन प्वाइंट जैसे होटल्स, रेस्टोरेंट, धर्मशाला, गेस्ट हाउस, होम स्टे आदि की गणना भी कराई जाएगी। कार्यदायी संस्था के कर्मचारी पर्यटकों की गणना कर ऐप पर अपलोड कर रहे हैं। साथ ही यहां आने वाले सभी पर्यटकों को विशिष्ट अनुभव देने का प्रयास किया जा रहा है।