ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशनए होटल या होम स्टे खोलने वालों को सरकार देगी पैसा, जानें कितना मिलेगा सब्सिडी

नए होटल या होम स्टे खोलने वालों को सरकार देगी पैसा, जानें कितना मिलेगा सब्सिडी

सरकार अब नए होटल, स्टे होम खोलने पर सब्सिडी देगी। अन्य सुविधाएं भी प्रदान कराईं जाएंगी। ढाबों, रेस्त्रत्तं जैसे मध्यम वर्ग के उद्यमियों को भी पर्यटन नीति का फायदा किस तरह से मिले, इस पर विचार किया।

नए होटल या होम स्टे खोलने वालों को सरकार देगी पैसा, जानें कितना मिलेगा सब्सिडी
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,आगराFri, 21 Jun 2024 11:43 AM
ऐप पर पढ़ें

नए होटल और स्टे होम खोलने पर सरकार की ओर से सब्सिडी दी जाएगी। अन्य सुविधाएं भी प्रदान कराईं जाएंगी। ढाबों, रेस्त्रत्तं जैसे मध्यम वर्ग के उद्यमियों को भी पर्यटन नीति का फायदा किस तरह से मिले, इस पर गुरुवार को पर्यटन विभाग और पर्यटन उद्यमियों के साथ विचार विमर्श किया गया। विभाग की ओर से पर्यटन नीति के प्रचार-प्रसार के लिए ऑनलाइन प्रस्तुतिकरण भी दिया गया।

प्रजेंटेशन के माध्यम से बताया गया कि किस तरह से पर्यटन नीति 2022 का प्रचार-प्रसार कर ज्यादा से ज्यादा लोगों को इसका लाभ दिलाया जा सके। बारात घर, ढाबे, रेस्त्रत्तं खोलने पर कितनी सब्सिडी सरकार की तरफ से दी जाएगी। उसके बारे में भी विस्तार से बताया गया। साथ ही इन सभी को एमएसएमई, नगर निगम में पंजीकरण कराना होगा। होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष राकेश चौहान ने सवाल किया कि उनके होटल सराय एक्ट, नगर निगम और एमएसएमई में पहले से ही पंजीकृत हैं तो फिर पंजीकरण कराए जाने की बात व्यावहारिक नहीं है। उनसे तीन गुणा ही टैक्स लिया जाए। अभी तक पांच गुणा लिया जा रहा था। अप्रैल से तीन गुणा देने का शासनादेश भी हो चुका है।

विदेश में भारतीय संस्कृति का दबदबा, रूस के 60 प्रतिशत युवाओं का कुंडली उपचार पर भरोसा

होटल एंड रेस्टोरेंट ऑनर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष रमेश वाधबा ने कहा कि जब पर्यटन को उद्योग का दर्जा दिए जाने की बात है तो बिजली बिलों और प्रापर्टी टैक्स में पांच गुणा टैक्स लेने का कोई औचित्य नहीं है। सभी से तीन गुणा टैक्स ही लेना चाहिए। वह सभी लोग सराय एक्ट में पहले से ही पंजीकृत हैं। उन्होंने आगरा से अयोध्या और वाराणसी की फ्लाइट शुरू करने की भी बात रखी। ऑनलाइन मीटिंग में क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी दीप्ति वत्स, टूरिस्ट गाइड्स वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष दीपक दान, संदीप अरोरा, संजीव जैन, अवनीश शिरोमणि, नंदू, शिवांकर रहे।

क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी, दीप्ति वत्स ने कहा कि पर्यटन नीति के तहत दिए गए प्रजेंटेशन का उद्देश्य था कि छोटे उद्यमियों को किस तरह से लाभ दिलाया जा सके। 10 लाख तक का निवेश करने पर 25, 50 लाख से एक करोड़ पर 20 और एक से दो करोड़ का निवेश करने पर 15 फीसदी की सब्सिडी मिलेगी। नीति का प्रचार-प्रसार करने से सभी लोगों को लाभ दिलाने का प्रयास किया जा रहा है।