ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश9वीं के छात्र को स्कूल के बच्चों ने नहर में फेंका, दो दिन से तलाश में लगे गोताखोर

9वीं के छात्र को स्कूल के बच्चों ने नहर में फेंका, दो दिन से तलाश में लगे गोताखोर

यूपी में एक 9वीं के छात्र को उसी के स्कूल में 11वीं में पढ़ने वाले बच्चों ने नहर में फेंक दिया। परिजनों की शिकायत के बाद पुलिस ने एक को पकड़ा जिसने ये बात कबूल की। गोताखोर लड़के की तलाश में लगे हैं।

9वीं के छात्र को स्कूल के बच्चों ने नहर में फेंका, दो दिन से तलाश में लगे गोताखोर
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,सीतापुरFri, 23 Feb 2024 09:52 AM
ऐप पर पढ़ें

सीतापुर के महमूदाबाद कस्बे में तीन दिन से लापता कक्षा नौ के छात्र को उसके सीनियर साथियों ने अपहरण करके शारदा नहर में फेंक दिया। पुलिस ने दो सीनियर छात्रों को हिरासत में लिया है। उनकी निशानदेही पर नहर में तलाश की जा रही है। पुलिस ने अनहोनी की आशंका जताई है। कस्बे के मोतीपुर चौराहा निवासी शिक्षक सुनील कुमार का बेटा सुधाकर यादव (15) मंगलवार से लापता है। सुधाकर कस्बे के यूनाइटेड अवध इंटर कॉलेज मोतीपुर चौराहा में कक्षा नौ का छात्र है। जब बेटा घर नहीं पहुंचा तो पिता ने बुधवार को बेटे के अपहरण की आशंका जताई थी। उन्होंने उसके सीनियर कक्षा 11 के छात्र को नामजद किया। 

पुलिस ने केस दर्ज कर लिया और आरोपी छात्र को हिरासत में ले लिया। आरोपी छात्र ने पूछताछ में बताया कि उसने अपने साथियों के साथ मिलकर सुधाकर को नहर में फेंक दिया है। पुलिस उसके एक और साथी को भी पकड़ लाई। उसकी बताई जगह पर गोताखोर और एसडीआरएफ की टीमों ने नहर में तलाश शुरू कर दी है। आरोपी छात्रों से सुधाकर यादव की स्कूल में लड़ाई हुई थी। आरोपी छात्र को 10 दिन के लिए स्कूल से निष्कासित कर दिया गया था। इससे नाराज होकर घटना को अंजाम दिया है।

छात्र के साथ अनहोनी होने की खबर से परिवार में कोहराम मचा है। परिजनों का रोकर बुरा हाल है। कस्बे के सैकड़ों लोग नहर के किनारे जमा है। रात में भी एसडीआरएफ की टीमें कोशिश कर रही हैं। इस बीच पुलिस ने देर रात आरोपियों के परिजनों को भी थाने बुलाया है। उधर देर रात पीड़ित परिवार के लोग झार में ताला डालकर रामपुर कला के अपने मूल निवास पर पहुंच गए हैं। घटना को लेकर कस्बे में सभी हैरत व हैरानी में है। मोहल्ले के लोग घर पर जमा हैं और रिश्तेदार पहुंच रहे हैं। 

दारुल उलूम देवबंद के फतवे पर एनसीपीसीआर ने केस दर्ज करने के दिए आदेश, भेजा नोटिस

दरअसल कस्बे के मोतीपुर चौराहे पर शिक्षक सुनील कुमार किराए के मकान में रहते हैं। हालांकि वह सिधौली ब्लाक में जुगराजपुर गांव में बतौर सहायक अध्यापक तैनात हैं। और उनका मूल निवास सीतापुर में ही रामपुरकलां के लखवापुर गांव में हैं। वह महमूदाबाद कस्बे में अपने बच्चों की पढ़ाई के लिए किराए के मकान में रहते हैं। उनके मुताबिक बेटे ने कभी किसी से मारपीट नहीं की और न ही कोई शिकायत आई। पहली बार स्कूल में मारपीट की शिकायत आई थी। उसमें भी सुलह हो गई थी। मगर बेटा घर से निकला तो वह वापस नहीं पहुंचा इस पर उन्हें शक हुआ। पुलिस मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपी से पूछताछ कर रही है।

पुलिस बरत रही सावधानी
घटना को लेकर पुलिस सावधानी बरत रही है। एक के बाद एक युवकों को हिरासत में लेकर उनसे कड़ी पूछताछ हो रही है। माना जा रहा है कि पुलिस 24 घंटे के अंदर इस घटना के बारे में खुलास कर सकती है क्योंकि पुलिस लिस इस घटना से जुड़े कुछ बिंदुओं पर आश्वस्त हो गई है।

आरोपी छात्र ने नहर में फेंकने की बात कही
सुनील कुमार का कहना है कि उनका बेटा बेटा 20 फरवरी की रात से लापता है। 21 को थाना पुलिस को सूचना दी थी। 22 को पुलिस हरकत में आई और आरोपी को पकड़ा है। सुनील का कहना है कि आरोपी ने बताया है कि उसने नहर में फेंक दिया है।

आरोपी छात्र ग्राम प्रधान का बेटा
आरोपी छात्र बाराबंकी का निवासी है। वह ग्राम जगईपुर विकासखंड फतेहपुर जनपद बाराबंकी का रहने वाला है। आरोपी छात्र भी महमूदाबाद के यूनाइटेड अवध इंटर कॉलेज में कक्षा 11 का छात्र है। उसके पिता वर्तमान में ग्राम पंचायत रहिलामऊ विकासखंड फतेहपुर के प्रधान हैं। फिलहाल पुलिस ने आरोपी छात्र को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। पुलिस जल्द खुलासा करेगी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें