DA Image
26 अक्तूबर, 2020|6:20|IST

अगली स्टोरी

फेक टीचर केस : 24 फर्जी शिक्षकों के खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा, देखें लिस्ट

जो होनहार हैं उन्हें नौकरी नहीं मिलती। जो तिकड़मी हैं वे बीएड की परीक्षाफल में हेरफेर कर सरकारी शिक्षक बन गए थे। सरकार से वेतन ले रहे थे। आगरा में ऐसे 24 फर्जी शिक्षकों के खिलाफ शाहगंज थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है। मुकदमे में आठ महिला शिक्षिका भी नामजद हैं। सभी के खिलाफ पुख्ता साक्ष्य हैं। एसआईटी ने अपनी जांच में खेल पकड़ा था। इन लोगों की नौकरी फर्जी दस्तावेज पर लगी थी। सभी आरोपित डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय के वर्ष 2004-05 सत्र के बीएड परीक्षा चार्ट में हेराफेरी करके नौकरी के लिए पात्र बने थे। अब कानूनी शिकंजे में फंसे हैं।

बेसिक शिक्षा अधिकारी राजीव कुमार ने यह मुकदमा शाहगंज थाने में दर्ज कराया है। दर्ज मुकदमे के अनुसार एक्जीक्यूटिव काउंसिल ने 28 जून 2019 को 3637 फर्जी अभ्यर्थी, 1084 टेंपर्ड अभ्यर्थी, 45 डुप्लीकेट अभ्यर्थियों की सूची विवि की आधिकारिक वेबसाइट पर अपलोड की थी। अखबारों में नोटिस देते हुए इन अभ्यर्थियों से 15 दिन में ऑनलाइन रजिस्टर्ड डाक से उनका पक्ष मांगा था। इनमे सिर्फ 814 ने ही अपना पक्ष भेजा। बाकी 2823 अभ्यर्थियों ने अपना पक्ष नहीं भेजा था। ऐसे अभ्यर्थियों को जिन्होंने जवाब नहीं दिया, विवि ने फर्जी घोषित कर दिया था। इनमें 24 अभ्यर्थी आगरा के थे।

अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा विभाग की अध्यक्षता में एसआईटी ने बीएड में फर्जीवाड़े की जांच की थी। जनवरी 2020 में एसआईटी की जांच में फर्जी पाए गए शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए गए थे। उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की कहा गया था। मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक (बेसिक) ने विवि द्वारा उपलब्ध कराई गई हार्ड और सॉफ्ट कापी बेसिक शिक्षा अधिकारी को उपलब्ध कराकर आरोपित शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई को लिखा था। इन फर्जीवाड़ा करने वाले 24 अभ्यर्थियों की 15 मई 2020 में सेवा समाप्त कर दी गयी थीं।

ये हैं आरोपित फर्जी शिक्षक
-हरीचंद, स्कूल नगला गढ़ीमा, ब्लॉक अछनेरा
-चंदन सिंह, स्कूल नगला साथा ब्लॉक अछनेरा
-सुधा, स्कूल बल्हेरा ब्लॉक अकोला
-कविता गौतम, स्कूल नगला अक्खे ब्लॉक बिचपुरी शाहगंज
-रेनू कुमारी, स्कूल स्वामी ब्लॉक बिचपुरी
-निशिकांत, स्कूल लड़ामदा ब्लॉक बिचपुरी
-गीता, स्कूल लड़ामदा ब्लॉक बिचपुरी
-अश्विनी कुमार यादव, स्कूल भोगपुरा ब्लॉक फतेहाबाद
-सुरेखा, स्कूल कराही, फतेहपुरसीकरी
-योगेंद्र कुमार, स्कूल गढ़ी प्रतापपुरा ब्लॉक जैतपुर
-धर्मेश कुमार सिंह,स्कूल महुआ जैतपुर कलां
-अरुण कुमार,स्कूल रहनकलां रोड खंदौली
-राम किशोर, स्कूल सेमरा ब्लॉक खंदौली
-प्रमोद कुमार,स्कूल महुआखेड़ा ब्लॉक खेरागढ़
-आकांक्षा कुमारी, स्कूल गढ़ी ताल ब्लॉक खेरागढ़
-चेतन शर्मा,स्कूल राटौटी ब्लॉक पिनाहट
-कमल वर्मा, स्कूल कुकथरी ब्लॉक पिनाहट
-शैलेंद्र कुमार, स्कूल पिनाहट ब्लॉक
-योगेंद्र सिंह, स्कूल नौहारिका ब्लॉक सैंया
-सरिता कुमारी, स्कूल नगला धना ब्लॉक तेहरा सैंया
-चंद्र शेखर,स्कूल पहचान ब्लॉक शमसाबाद
-दलवीर, स्कूल बड़ोबरा खुर्द ब्लॉक शमसाबाद
-पूनम कुमारी, स्कूल शंकरपुर ब्लॉक द्वारी शमसाबाद
विजय कुमारी, स्कूल कौलारा कला ब्लॉक शमसाबाद

आरोपित शिक्षकों के खिलाफ धोखाधड़ी और कूटरचित दस्तावेज तैयार करने का मुकदमा दर्ज किया गया है। विवेचना की जा रही है। साक्ष्यों के आधार पर एक-एक करके सभी को गिरफ्तार करके जेल भेजा जाएगा। जो धाराएं हैं उनमें सात साल से अधिक सजा का प्रावधान है। गिरफ्तारी जरूरी है। - बोत्रे रोहन प्रमोद, एसपी सिटी

बीएसए ऑफिस में लगी थी आग
अक्तूबर 2019 में दशहरा के दिन बीएसए ऑफिस में रहस्यमय तरीके से आग लगी थी। इस अग्निकांड में महत्वपूर्ण रिकार्ड जलकर खाक हो गया था। उस समय यह बात उठी थी कि जिस कमरे में आग लगी थी उसमें फर्जी शिक्षकों से संबंधित रिकार्ड रखा हुआ था। अग्निकांड के संबंध में शाहगंज थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया था। प्रारंभिक जांच में यह माना गया था कि आग लगाई गई थी। खिड़की के सहारे मेज पर महत्वपूर्ण फाइलें रखी हुई थीं। उनमें ही आग लगी थी। इस तरह की आग शार्ट सर्किट से नहीं लग सकती है। शाहगंज थाने में दर्ज उस मुकदमे में भी अभी तक कुछ नहीं हुआ था। उस समय बीएसए ऑफिस में यह बात चर्चा का विषय थी कि फर्जी शिक्षकों को बचाने के लिए आग की साजिश रची गई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:UP Shiksha Case : FIR filed against 24 fake teachers in Agra see full list