ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशस्कूल में बच्चे सीखेंगे भविष्य में रोजगार दिलाने वाले काम, रोबोटिक के साथ बाल काटने का भी होगा कोर्स

स्कूल में बच्चे सीखेंगे भविष्य में रोजगार दिलाने वाले काम, रोबोटिक के साथ बाल काटने का भी होगा कोर्स

यूपी के स्कूल में बच्चे हेयर कटिंग और डाटा ऑपरेटिंग के साथ रोबोटिक्स और अन्य नए कोर्स सीखेंगे। नई शिक्षा नीति के तहत कौशल विकास के कार्यक्रम शुरू किए। छात्र-छात्राओं का कौशल बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा।

स्कूल में बच्चे सीखेंगे भविष्य में रोजगार दिलाने वाले काम, रोबोटिक के साथ बाल काटने का भी होगा कोर्स
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,मुरादाबादTue, 14 Nov 2023 09:00 AM
ऐप पर पढ़ें

अब कौशल विषय को पढ़कर काउंसिल फार द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (सीआइएससीई) से संबद्ध स्कूलों में अध्यनरत छात्र-छात्राएं भी हुनरमंद बनेंगे। नई शिक्षा नीति के अंतर्गत स्कूलों में कई ऐसे विषय शुरू करने के निर्देश दिए हैं, जिससे बच्चे भविष्य में बेहतर कर सकें। पहले चरण में 2024-25 से कक्षा नवीं व दसवीं के छात्र-छात्राओं को कौशल विषय पढ़ाए जाएंगे।

स्प्रिंगफील्ड्स कॉलेज दिल्ली रोड की प्रधानाचार्य डा. स्वाति शर्मा ने बताया कि सीआइएससीई ने कक्षा नौवीं व 10वीं दोनों के लिए कौशल विकास के विषय की सूची बच्चों को चुनने के लिए भेजी है। इसमें रोबोटिक, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, हेयर कटिंग, थेरेपिस्ट, अकाउटेंसी एंड फाइनेंसिंग आदि ऐसे विषय बच्चों को पढ़ाए जाएंगे।

इस तरह की पढ़ाई के बाद उन्हें रोजगार के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। बताया कि काउंसिल की ओर से इस दिशा में पाठ्यक्रम तैयार कराया जा रहा है, जिसकी अगले सत्र से शुरुआत हो जाएगी। इन विषयों को पढ़ाने के लिए काउंसिल की ओर से शिक्षकों को प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।

रीसाइकिल पानी से धुलेगी मेट्रो, आगरा में स्मार्ट ऑटो कोच वॉश शुरू, ब्रश में लगा है सेंसर

विल्सोनिया कॉलेज के प्रधानाचार्य, डॉ. आशीष संतराम ने इस बारे में कहा कि एनईपी के तहत रोजगारपरक शिक्षा की ओर भी ध्यान दिया गया है। छात्र के भविष्य को देखते हुए कई कौशल विकास के विषय शुरू किए जा रहे हैं। स्प्रिंगफील्ड्स कॉलेज के प्रधानाचार्य, डॉ. स्वाति शर्मा ने कहा कि नई शिक्षा नीति को ध्यान में रख यह कवायद अगले से शुरू होगी। छात्र आत्मनिर्भर बनकर भविष्य उज्ज्वल कर सकेंगे। इसको लेकर कॉलेजों को आदेश भी जारी किया जा चुका है।

सभी संबद्ध स्कूलों को भी जारी किया गया पत्र
सीआईएससीई की वेबसाइट और सभी संबद्ध स्कूलों को भी पत्र जारी किया गया है। इन पाठ्यक्रमों की शिक्षा के लिए अन्य परंपरागत विषयों की तरह ही अंक भी दिए जाएंगे। असिस्टेंट हेयर स्टाइलिस्ट विषय के तहत बालों की सुरक्षा और देखभाल के बारे में भी बताया जाएगा।

ऑप्शन के रूप में कर सकेंगे चुनाव
ये विषय विद्यार्थियों के मुख्य विषयों में आप्शन के रूप में शामिल होंगे। इनकी भी अर्द्धवार्षिक वार्षिक परीक्षाएं होंगी, जिसमें से 50 अंकों की थ्योरी और 50 अंकों के प्रैक्टिकल होंगे।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें