ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशकमलेश पाल की जगह आरओ-एआरओ परीक्षा में बैठा था सॉल्वर, पुलिस के सामने उगला राज

कमलेश पाल की जगह आरओ-एआरओ परीक्षा में बैठा था सॉल्वर, पुलिस के सामने उगला राज

कमलेश की जगह आरओ-एआरओ परीक्षा में सॉल्वर बैठा था। पुलिस कस्टडी रिमांड पर पूछताछ में उसने राज उगला। कौशांबी जेल से सुबह साढ़े दस बजे एसटीएफ ने आरोपी को 24 घंटे की रिमांड पर लिया और पूछताछ कर रही।

कमलेश पाल की जगह आरओ-एआरओ परीक्षा में बैठा था सॉल्वर, पुलिस के सामने उगला राज
vastu tips for kids study
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,प्रयागराजFri, 14 Jun 2024 08:35 AM
ऐप पर पढ़ें

आरओ-एआरओ परीक्षा पेपर लीक मामले में गिरफ्तार कमलेश पाल ने पुलिस कस्टडी रिमांड में यह बात स्वीकार किया है कि उसकी जगह पर सॉल्वर परीक्षा देने बैठा था। वह कक्ष निरीक्षक की ड्यूटी कर रहा था, हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि परीक्षा में उसकी जगह पर कौन सॉल्वर बैठा। सॉल्वर के बारे में पूछने पर वह पुलिसकर्मियों को गोलमोल जवाब दे रहा है। पुलिस उससे लगातार पूछताछ में जुटी है। 

लखनऊ एसटीएफ ने आरओ-एआरओ पेपर लीक प्रकरण में डॉक्टर शरद, बिशप जानसन गर्ल्स विंग के कर्मचारी अर्पित और झूंसी के स्कूल मैनेजर कमलेश पाल को गिरफ्तार किया था। कमलेश पर आरोप है कि उसने कॉलेज के अंदर अर्पित के साथ मिलीभगत कर पेपर लीक किया और व्हाट्स एप पर डॉ. शरद को भेजा था। इसके अलावा उसने खुद भी समीक्षा अधिकारी व सहायक समीक्षा अधिकारी की परीक्षा भी दी थी। दूसरा उसी दिन इसी परीक्षा के लिए कक्ष निरीक्षक का काम भी किया और भत्ता भी लिया। इन सवालों के जवाब की तलाश के लिए एसटीएफ ने कमलेश को पुलिस कस्टडी रिमांड पर लिया है। 

ये भी पढ़ें: दो दिन में 55 पुलिसकर्मी निलंबित, पासपोर्ट में रिश्वतखोरी और अनुशासहीनता में गिरी गाज

विवेचक ने उसे गुरुवार सुबह साढ़े दस बजे के लगभग कौशांबी जेल से रिमांड पर लिया। इसके बाद उसे प्रयागराज लाकर पूछताछ की जा रही है। पूछताछ में उसने यह बात तो स्वीकार कर ली कि परीक्षा में वह खुद शामिल नहीं हुआ था, बल्कि उसकी जगह सॉल्वर बैठा था। लेकिन यह बताने में हीलाहवाली कर रहा है कि सॉल्वर कौन था। कितने रुपये में सॉल्वर बैठाया था। सॉल्वर की व्यवस्था किसने कराई थी। 

अब एसटीएफ उससे पूछताछ कर इस गुत्थी को सुलझाने में लगी है। कमलेश से पूछा गया कि उसने किसकी मदद से पेपर आउट कराया था। इस काम में उसके अर्पित के अलावा और कौन-कौन लोग शामिल थे। पेपर आउट कराने के बाद किसे दिया था और कितने में दिया था। कमलेश से लगातार पूछताछ जारी है। उससे शुक्रवार सुबह तक पूछताछ की जाएगी। चौबीट घंटे पूरे होने पर उसे कौशांबी जेल में दाखिल कर दिया जाएगा।