ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशबकरी चोरों ने सिपाही पर चढ़ा दी बोलेरो, मौत, कई टीमें गाड़ी और आरोपियों की तलाश में लगीं

बकरी चोरों ने सिपाही पर चढ़ा दी बोलेरो, मौत, कई टीमें गाड़ी और आरोपियों की तलाश में लगीं

बकरी चुराकर भाग रहे चोरों ने रोकने पर सिपाही पर बोलेरो चढ़ा दी। घायल सिपाही को अस्पताल में डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने कई टीम गाड़ी और आरोपियों को खोजने में लगा दी हैं।

बकरी चोरों ने सिपाही पर चढ़ा दी बोलेरो, मौत, कई टीमें गाड़ी और आरोपियों की तलाश में लगीं
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,कौशाम्बीTue, 30 Jan 2024 09:31 AM
ऐप पर पढ़ें

कौशाम्बी में सरायअकिल के पटेल चौराहा के पास सोमवार की भोर में बकरी चुराकर भाग रहे चोरों ने रोकने पर सिपाही पर बोलेरो चढ़ा दी। घायल सिपाही को एसआरएन अस्पताल प्रयागराज ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। पुलिस ने केस दर्ज कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजवा दिया। आईजी और एसपी के निर्देश पर पुलिस की कई टीमें आरोपियों की तलाश में लगाई गई हैं।

सरायअकिल थाने के तिल्हापुर चौकी में सिपाही अविनाश दुबे (27) की तैनाती थी। 2018 बैच के सिपाही अविनाश दुबे मूल रूप से बलिया जिले के बन्थरी, बेल्थरा रोड के रहने वाले थे। वह तीन भाईयों में मझले थे। अविनाश रविवार की रात करीब तीन बजे उस्मानपुर तलरी के पास साथी सिपाही अभिषेक गुप्ता के साथ गश्त पर थे। इसी दौरान यूपी 112 के सिपाही पंकज कुमार ने बताया कि बजहा गांव के सिंधु के यहां से तीन बकरी चोरी हो गई है। 

बेटे अनुराग ने इसकी सूचना दी है। चोर बोलेरो में बकरी भरकर भाग रहे हैं और पटेल चौराहा की तरफ जा रहे हैं। सूचना कटरा व अन्य चौराहों पर पुलिस को देकर सिपाही अविनाश दुबे व अभिषेक गुप्ता ने पटेल चौराहा के पास बोलेरो को रोकने का प्रयास किया। लेकिन सिपाही अविनाश दुबे पर चोरों ने बोलेरो चढ़ा दिया। 

रिश्ते शर्मसार! इस चीज के लिए बुजुर्ग पिता को पीटा, भूखा रखा, मुंह पर तकिया रख मारने की कोशिश

न बकरी चोरों का पता चला और न बोलेरो का
सिपाही अविनाश दुबे पर बोलेरो चढ़ाने वाले चोरों का 18 घंटे बाद भी कोई सुराग पुलिस नहीं लगा सकी है। वहीं बोलेरो कहां गायब हो गई, इसकी भी कोई खबर नहीं। घटना से न केवल पुलिस महकमे में आक्रोश है। बल्कि आमजन भी मर्माहत हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि यह सीधे-सीधे हत्या है। जानबूझकर चोरों ने सिपाही पर बोलेरो चढ़ाई थी। इसके बाद चोर कई बैरियर को तोड़कर भाग निकले। पुलिस को जल्द से जल्द चोरों का पता लगाकर उन्हें कड़ी सजा देनी होगी। वरना पुलिस का इकबाल कमजोर हो जाएगा जो समाज के हित में नहीं है।

लोग कह रहे हैं कि पुलिस के आलाधिकारी दावा करते हैं कि सभी चौराहों पर पुलिस टीम रात में तैनात रहती है। पीकेट प्वाइंट के अलावा यूपी 112 की भी टीम तैनात की जाती है। इससे आपराधिक घटनाओं में कमी आई है। हकीकत का सामना हुआ तो सारी कलई खुलकर सामने आ गई। बकरी चोरों ने सोमवार की भोर में पटेल चौराहा के समीप सिपाही अविनाश दुबे पर जानबूझकर बोलेरो चढ़ाई। इससे उसकी मौत हो गई। चोरी व गैरइरादतन हत्या की वारदात को अंजाम देकर चोर बोलेरो समेत गायब हो गए। कटरा चौराहा पर भी बोलेरो नहीं रोकी जा सकी। 

तिल्हापुर मोड़ की ओर बोलेरो भागी है। पकड़ने के लिए पुलिस लगी रही, लेकिन देखते ही देखते बोलेरो आंख से ओझल हो गई। बोलेरो को धरती निगल गई या आसमान। इसका जवाब फिलहाल पुलिस के पास नहीं है। इस घटना ने पुलिस व्यवस्था को तगड़ी चोट दी है। अफसर भी हलाकान हैं कि आखिर ऐसा कैसे हुआ। कहां क्या कमी थी, जिसकी वजह से आरोपी वाहन समेत भागने में कामयाब रहे, इसको लेकर महकमे में तरह-तरह की चर्चाएं हैं।

खंगाले जा रहे इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरे
बकरी चोर व बोलेरो की खोजबीन में पुलिस जुटी है। एसपी बृजेश कुमार श्रीवास्तव ने कई टीमों को लगाया है। बोलेरो का नंबर यूपी 70 से था, लेकिन पुलिस को लग रहा है कि चोरों ने बोलेरो की नंबर प्लेट गलत लगा रखी है। पुलिस सड़क किनारे ढाबा व प्रतिष्ठानों में लगे सीसीटीवी कैमरों को खंगाल रही है। एसओजी प्रभारी सिद्धार्थ सिंह व उनकी टीम को भी चोरों को पकड़ने के लिए लगाया गया है।

सिपाही अविनाश को आईजी ने दी अंतिम सलामी
सिपाही अविनाश दुबे का शव पोस्टमार्टम के बाद सीधे पुलिस लाइन ले जाया गया। यहां आईजी प्रेम कुमार गौतम, एसपी बृजेश कुमार श्रीवास्तव, एएसपी अशोक वर्मा, सीओ अभिषेक सिंह, अवधेश विश्वकर्मा, मनोज कुमार रघुवंशी ने पार्थिव शरीर को कांधा दिया। इसके बाद पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों ने सिपाही को अंतिम सलामी दी। सिपाही के निधन से पुलिस महकमे में शोक है। घटना पर दुख जताते हुए आईजी ने बकरी चोरों को जल्द से जल्द पकड़ने का निर्देश पुलिस को दिया है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें