ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशनिकाह के लिए बनी मुस्लिम, तीन साल बाद पति संग अपनाया सनातन धर्म, अयोध्या की मिट्टी से तिलक

निकाह के लिए बनी मुस्लिम, तीन साल बाद पति संग अपनाया सनातन धर्म, अयोध्या की मिट्टी से तिलक

यूपी के मुजफ्फरनगर में एक लड़की ने अपने पति के साथ सनातन धर्म अपना लिया है। हिंदू लड़की ने तीन साल पहले दूसरे धर्म में निकाह किया था। तब से पति के साथ रह रही थी। अब पति के साथ ही दोबारा सनातन अपनाया।

निकाह के लिए बनी मुस्लिम, तीन साल बाद पति संग अपनाया सनातन धर्म, अयोध्या की मिट्टी से तिलक
muzaffarnagar sanatan dharma
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,मुजफ्फरनगरMon, 11 Mar 2024 02:13 PM
ऐप पर पढ़ें

मुजफ्फरनगर में बघरा स्थित योग साधना यशवीर आश्रम में पति-पत्नी ने हिन्दू धर्म अपना लिया। आश्रम में शुद्धि यज्ञ कराकर दोनों को हिन्दू धर्म की दीक्षा दिलाई गई। दोनों ने तीन साल पहले लव मैरिज की थी। इशके बाद से ही दोनों परिवार से अलग रह रहे थे। अब लड़की ने वापस अपना धर्म अपनाया है। योग साधना यशवीर आश्रम में पहले ही लोगों को सनातन धर्म में वापसी कराई जा चुकी है। मूल रूप से उत्तराखंड की रहने वाले एक हिन्दू युवती ने तीन साल पूर्व शामली जनपद के कैराना के युवक दूसरे वर्ग के युवक से प्रेम विवाह किया था। निकाह होने के बाद युवती उसके घर आकर रहने लगी। आपसी सहमति के बाद रविवार को पति पत्नी बघरा स्थित योग साधना यशवीर आश्रम में पहुंचे और सनातन धर्म अपनाने की बात कही। 

आश्रम में पूरे विधि विधान के साथ दोनों को सनातन धर्म की दीक्षा दी गई। ब्रह्मचारी मृगेन्द्र ने दोनों को अयोध्या से आयी मिट्टी से तिलक कर अभिनंदन किया। युवती ने अपने नाम अर्शी से बदलकर पुराना नाम पूनम व उसके पति का नाम शाहनवाज से बदलकर राहुल रखा गया। दोनों को पटका व देवी देवताओं के चित्र देकर सम्मानित किया गया और गंगाजल से आचमन कराकर यज्ञोपवीत धारण कराकर संकल्प कराया गया। दोनों को हिन्दू धर्म की दीक्षा दी गई।

पूरी गृहस्थी यमुना बहाने पहुंची महिला, दो गाड़ियों में भरकर लाई घर का सारा सामान

बताया कि लड़की ने अपने पति से तीन साल पहले निकाह किया था। उस समय निकाह के लिए उसका नाम बदला गया था। उसका निकाह से पहले नाम पूनम था और निकाह के समय बदलकर इसे अर्शी कर दिया गया था। अब वापस उसने अपना पुराना नाम और पुराना धर्म अपना लिया है। साथ ही उसके पति ने भी सनातन धर्म अपनाकपर अपना नाम बदल लिया है। दोनों ने अपनी मर्जी से धर्म बदला और आश्रम में ही दोनों हिंदू धर्म की दीक्षा ले चुके हैं।