ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशUP Monsoon 2024 Update: जानलेवा गर्मी की विदाई शुरू, मौसम विभाग ने हटाया रेड अलर्ट, मानसून के स्वागत को यूपी तैयार

UP Monsoon 2024 Update: जानलेवा गर्मी की विदाई शुरू, मौसम विभाग ने हटाया रेड अलर्ट, मानसून के स्वागत को यूपी तैयार

पिछले दो महीनों में सैकड़ों जाने लेने वाली प्रचंड ग्रीष्म लहरी की आखिरकार उत्तर प्रदेश से विदाई शुरू हो गई। मौसम विभाग की वेबसाइट पर पिछले एक पखवारे से लगा गर्मी का रेड अलर्ट भी हट गया।

UP Monsoon 2024 Update: जानलेवा गर्मी की विदाई शुरू, मौसम विभाग ने हटाया रेड अलर्ट, मानसून के स्वागत को यूपी तैयार
Dinesh Rathourविशेष संवाददाता,लखनऊThu, 20 Jun 2024 09:49 PM
ऐप पर पढ़ें

UP Monsoon 2024 Update: पिछले दो महीनों में सैकड़ों जाने लेने वाली प्रचंड ग्रीष्म लहरी की आखिरकार उत्तर प्रदेश से विदाई शुरू हो गई। मौसम विभाग की वेबसाइट पर पिछले एक पखवारे से लगा गर्मी का रेड अलर्ट भी हट गया। पुरवाई और छिटपुट बारिश के साथ  राज्य के अधिकांश हिस्सों में बादलों ने डेरा डाला, दिन व रात के तापमान में गिरावट भी आई। आंचलिक मौसम विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक अतुल कुमार सिंह ने बताया कि दक्षिणी-पश्चिमी मानसून विदर्भ, छत्तीसगढ़, ओड़िशा, उत्तर पश्चिम बंगाल की खाड़ी, पश्चिम बंगाल के हिमालयी क्षेत्र और बिहार के कुछ हिस्सों में पहुंच गया है। उन्होंने बताया कि गुरुवार को मानसून की लाईन अमरावती, गोंडिया, दुर्ग, रामपुर (कालाहांडी), मालदा, भागलपुर और रक्सौल से होकर गुजर रही है।

उन्होंने बताया कि अगले दो-तीन दिनों में पूर्वी उत्तर प्रदेश में गोरखपुर या वाराणसी के रास्ते उत्तर प्रदेश में मानसून के दाखिल होने के आसार बन गए हैं। मानसून की अगवानी के लिए उत्तर प्रदेश का मौसम तैयार है। पूर्वी बिहार में केन्द्रित चक्रवातीय दबाव, उ.प्र. के निचले हिस्सों में बह रही पुरवाई और जम्मू कश्मीर के आसपास बने पश्चिमी विक्षोभ की वजह से उत्तर प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में मानसून से पहले की बारिश का सिलसिला भी शुरु हो गया है जिसकी वजह से दिन व रात के तापमान में खासी गिरावट आयी है।

आंचलिक मौसम विज्ञान केन्द्र से मिली जानकारी के अनुसार 21 से 23 जून के दरम्यान पश्चिमी यूपी के कुछ हिस्सों में लू का प्रकोप रह सकता है। 24 व 25 जून को पश्चिमी व पूर्वी उत्तर प्रदेश में कुछ स्थानों पर बारिश होने या गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ने का अनुमान है। पूर्वी उत्तर प्रदेश में इन दो दिनों में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश की भी उम्मीद जतायी गयी है। गुरुवार को प्रदेश में कहीं भी दिन का तापमान 44-45 डिग्री सेल्सियस दर्ज नहीं हुआ। सबसे अधिक 43.6 डिग्री सेल्सियस तापमान प्रयागराज में रिकार्ड किया गया। 

पेड़ और दीवार गिरने से खीरी में तीन, बदायूं में दो की मौत

बुधवार रात आई आंधी और बारिश के दौरान ईसानगर, नीमगांव और बेहजम में हुई अलग-अलग घटनाओं में दीवार गिरने से महिला समेत की तीन की मौत हो गई। हादसे में चार लोग घायल भी हुए हैं। वहीं बदायूं में वजीरगंज थाना क्षेत्र में कार पर पेड़ गिरने से एक और बिल्सी थाना क्षेत्र में दीवार गिरने से एक की जान गई। उधर, आंधी-पानी ने रेल संचालन में बाधा खड़ी दी। प्री मानसून की बारिश होते ही लगातार लू-धूप से तपते कानपुर को गर्मी से कुछ राहत मिल गई।

बिजली आपूर्ति व ट्रेनों का संचालन प्रभावित

रामपुर से शाहजहांपुर तक कई जगह ट्रैक पर पेड़ गिर गए। जिससे ओएचई लाइन टूट गई। बरेली जंक्शन पर रक्सौल एक्सप्रेस को चार घंटा के लिए रोका गया। कई घंटा के बाद रेल यातायात सुचारु हुआ। पूरी रात रेल यात्री परेशान हुए। इसके अलावा पूरे बरेली मंडल में बिजली व्यवस्था ध्वस्त हो गई। हालांकि तापमान गिरने से लोगों को गर्मी से राहत मिली है। मुरादाबाद मंडल के मुरादाबाद, रामपुर, अमरोहा और संभल जिलों में बुधवार की रात आई आंधी-बारिश से महीने भर से गर्मी से तप रहे लोगों को बेहद राहत मिली, लेकिन तमाम दुश्वारियां भी खड़ी हो गईं। आंधी में पेड़ गिरने से कई जगह मार्ग अवरुद्ध हो गए, जिससे आवागमन प्रभावित हुआ। सबसे अधिक असर रेल संचालन पर पड़ा। मुरादाबाद-लखनऊ के बीच 60 ट्रेनों का संचालन गड़बड़ाया। इसके साथ ही बिजली के पोल और लाइनें टूटने से तमाम इलाकों में दिन भर बिजली की समस्या बनी रही। 

आंधी-बारिश से पारा गिरा, गर्मी से राहत, एक की मौत

गोरखपुर-बस्ती मंडल में बुधवार रात और गुरुवार सुबह हुई बारिश-बूंदाबांदी से गर्मी से राहत मिली है। गोरखपुर के अलावा सिद्धार्थनगर, महराजगंज, संतकबीरनगर, देवरिया और कुशीनगर में बुधवार की देर रात करीब एक घंटा तेज और बस्ती में भी हल्की बारिश हुई। इससे तापमान में करीब आठ डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। आंधी में पोल और तार टूटकर गिरने से नगर और देहात के कुछ इलाकों में बिजली आपूर्ति ठप हो गई।

ब्रज में रात की बारिश से राहत, पारा गिरा

ब्रज में एक दिन पहले कभी रिमझिम तो कभी मूसलाधार बारिश ने प्रचंड गर्मी से राहत दी है। आगरा में अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस जबकि मथुरा में 39.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। न्यूनतम तापमान भी 25 डिग्री के आसपास रहा। वहीं आर्द्रता का प्रतिशत 60 से ऊपर दर्ज किया गया। हालांकि मौसम विभाग ने अब भी अगले तीन दिन हीटवेव की आशंका जताई है।