ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशपांच दिन से लापता कारोबारी की हाईवे पर मिली लाश, वाहनों के निकलने से कुचल गया शव

पांच दिन से लापता कारोबारी की हाईवे पर मिली लाश, वाहनों के निकलने से कुचल गया शव

यूपी के मेरठ में हाईवे पर स्क्रैप कारोबारी का शव मिला। वाहनों के निकलने के कारण शव बुरी रह से कुचल गया था। कारोबारी पांच दिन से लापता थे। घर वालों ने शिकायत दर्ज करवाई थी। पुलिस तलाश में जुटी थी।

पांच दिन से लापता कारोबारी की हाईवे पर मिली लाश, वाहनों के निकलने से कुचल गया शव
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,मेरठFri, 01 Mar 2024 12:28 PM
ऐप पर पढ़ें

मेरठ के सदर बाजार से पांच दिन पहले लापता हुए स्क्रैप कारोबारी की लाश बुधवार देररात एनएच-58 पर एम आईईटी कॉलेज के सामने फ्लाईओवर पर मिली है। लाश को कुछ वाहनों ने बुरी तरह से रौंद डाला था, जिसके कारण कारोबारी के पैर बुरी तरह से कुचल गए थे। सदर बाजार के मोहल्ला रंगसाज निवासी गौरीशंकर मिश्रा (67) स्क्रैप कारोबारी थे।

परिजनों ने बताया कि गौरीशंकर 25 फरवरी को गोदाम पर आने के लिए निकले थे और इसके बाद घर नहीं आए। बुधवार रात एनएच-58 पर एक व्यक्ति का शव होने की सूचना टीपीनगर और जानी पुलिस को मिली। मृतक की फोटो को पुलिस ने सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। इसके बाद गौरीशंकर के परिजनों ने फोटो देखकर पुलिस से संपर्क किया और शिनाख्त की।

परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप
गौरीशंकर मिश्रा के बेटों ने आरोप लगाया कि उनके पिता की हत्या की गई है। बताया कि वह जिन कपड़ों में घर से निकले थे, मौत के समय वही कपड़े पहने हुए थे। उनके बाल भी कटे हुए थे। उन्होंने किसी भी तरह के कर्ज या अन्य परेशानी से इंकार किया। आरोप लगाया कि किसी ने उनके पिता को अगवा किया और हत्या कर वारदात को दुर्घटना दिखाने के लिए लाश को हाईवे पर फेक दिया। परिजनों ने जांच और कार्रवाई की मांग की है।

इस थाने से उस थाने दौड़ाती रही पुलिस
गौरीशंकर के लापता होने के बाद परिजन पहले शिकायत लेकर सदर थाने पहुंचे थे। आरोप है कि पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज नहीं की और नौचंदी थाने चलता कर दिया। इसके बाद नौचंदी पुलिस को शिकायत की तो जांच के बाद लोहियानगर थाने का मामला बताया। पता चला कि आखिरी बार गौरीशंकर मिश्रा को जमुनानगर में देखा गया था। लोहियानगर पुलिस ने भी पल्ला झाड़ लिया और गौरीशंकर की बरामदगी के लिए प्रयास नहीं किया।

यूपी के इस शहर में दलित उत्पीड़न के मामले बढ़े, चौंकाने वाले हैं सात साल के आंकड़े, देखें

लवी अपहरण कांड में भी हुई थी लापरवाही
किठौर के नंगली अब्दुल्ला गांव में 14 जनवरी को अर्जुन की 6 साल की बेटी लवी अगवा हो गई थी। पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया और तलाश के नाम पर खानापूर्ति की गई। नतीजा ये रहा कि लवी का कत्ल कर दिया गया और लाश को कातिलों ने ठिकाने लगा दिया। अब 40 दिन बाद जब लाश बरामद हुई तो पुलिस की लापरवाही सामने आई। अब पुलिस लकीर पीट रही है और कातिल की तलाश की जा रही है। अभी तक हत्यारोपी हाथ नहीं आए हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें