ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशडॉक्टर के ऑपरेशन नहीं करने पर पुलिस बुलाने वाले मरीज की इस अस्पताल में होगी सर्जरी

डॉक्टर के ऑपरेशन नहीं करने पर पुलिस बुलाने वाले मरीज की इस अस्पताल में होगी सर्जरी

मेरठ में पुलिस बुलाने वाले मरीज का ऑपरेशन जीबी पंत में होगा। ऑपरेशन में देरी होने पर मेरठ मेडिकल अस्पताल में भर्ती मरीज ने पुलिस बुला ली थी। जांच में हार्ट की नसों में 90 फीसदी तक ब्लॉकेज मिला।

डॉक्टर के ऑपरेशन नहीं करने पर पुलिस बुलाने वाले मरीज की इस अस्पताल में होगी सर्जरी
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,मेरठThu, 15 Feb 2024 07:45 AM
ऐप पर पढ़ें

लाला लाजपत राय स्मारक मेडिकल कॉलेज के कॉर्डियो सर्जरी विभाग में भर्ती राजा नामक मरीज का दिल्ली के जीबी पंत अस्पताल में ऑपरेशन होगा। मरीज के हार्ट की तीनों नसों में 90 फीसदी से अधिक ब्लॉकेज होने और मेडिकल में ओपन बाईपास सर्जरी न हो पाने के कारण यह निर्णय लिया गया है। उसे गुरुवार को दिल्ली रेफर किया जाएगा। मरीज ने बुधवार को डॉक्टर पर ऑपरेशन न करने का आरोप लगाते हुए पुलिस बुला ली थी। जिसके बाद यह मामला सुर्खियों में आ गया।

यह है मामला 
मेडिकल कॉलेज के कॉर्डियो सर्जरी विभाग में 10 फरवरी से तारापुरी निवासी मरीज राजा (48) भर्ती है। राजा का कहना है कि डॉक्टर ने उसे कई बार तारीख दी लेकिन ऑपरेशन नहीं किया। इससे नाराज होकर मंगलवार को उसने 112 नंबर पर फोन कर पुलिस को बुला लिया। पुलिस ने उसे इमरजेंसी के बाहर बुलाकर पूरे मामले को जाना और समझाकर वापस वार्ड में भेज दिया था। 

डॉक्टर ने ऑपरेशन में कर दी देर तो मरीज ने बुला ली पुलिस, कहा- नहीं कर रहे सर्जरी

दिल में 90 फीसदी तक ब्लॉकेज 
मेडिकल कॉलेज के मीडिया प्रभारी डॉ. वीडी पांडेय ने बताया कि बुधवार को मरीज के हृदय की फिर से ईको जांच की गई। इसकी रिपोर्ट में हार्ट में 90 फीसदी तक ब्लॉकेज पाया गया। एक में सौ फीसदी जबकि दो में 90 फीसदी तक ब्लॉकेज है। ऐसे में उसे स्टेंट डालना संभव नहीं है। डॉक्टरों ने मरीज को बाईपास सर्जरी की सलाह दी है। 

यहां ओपन बाईपास ऑपरेशन की सुविधा न होने के कारण मरीज को दिल्ली स्थित जीबी पंत अस्पताल रेफर करने का निर्णय लिया गया है। मरीज के परिजनों को समझाया गया, जिसके बाद वह दिल्ली में ऑपरेशन कराने के लिए सहमत हो गए हैं। गुरुवार सुबह मरीज को जीबी पंत अस्पताल रेफर कर दिया जाएगा। तब तक मरीज का पूरा इलाज किया जा रहा है। उसके स्वास्थ्य पर डॉ. शशांक पांडेय लगातार नजर रखे हैं। 

सरकारी अस्पताल में ही इलाज हो 
मरीज राजा का कहना है कि उसकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। ऐसे में वह सरकारी अस्पताल में ही इलाज कराना चाहता है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें