ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशCCSU में कैंपस के स्टोन बेस से इंडिया हटा लिख दिया जाट, अब लिखा जाएगा आई लव भारत

CCSU में कैंपस के स्टोन बेस से इंडिया हटा लिख दिया जाट, अब लिखा जाएगा आई लव भारत

मेरठ की सीसीएसयू में अराजक तत्वों ने कैंपस के स्टोन बेस से इंडिया हटाकर वहां जाट लिख दिया। फाइन आर्ट विभाग के पास स्टोन बेस पर आई लव माई इंडिया लिखा था। इसे हटाकर वहां जाट लिख दिया गया।

CCSU में कैंपस के स्टोन बेस से इंडिया हटा लिख दिया जाट, अब लिखा जाएगा आई लव भारत
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,मेरठFri, 24 Nov 2023 11:33 AM
ऐप पर पढ़ें

मेरठ में उच्च शिक्षा के प्रमुख केंद्र चौ.चरण सिंह विवि कैंपस में जातिगत राजनीति का गुरुवार को सबसे कुरूप चेहरा दिखाई दिया। फाइन आर्ट विभाग के पास सड़क किनारे स्टोन बेस पर अंकित ’आई लव माई इंडिया’ को अराजक तत्वों ने हटाकर जाट लिख दिया। आर्टिफिशियल घास के मैट पर जाट को पूरी तरह सफाई से अंकित किया गया। घटना के पीछे सोची-समझी साजिश नजर आ रही है। सुबह आठ बजे इस बेस को देखते हुए छात्रों ने विवि अधिकारियों को फोटो भेजे। विवि ने कुछ ही देर में स्टोन बेस से जाट का मेट हटा दिया। विवि अब इसकी जगह ’आई लव भारत’ का मेट लगाएगा।

कोई विवि से चौ.चरण सिंह का नाम हटा दे तो... घटना की सूचना सबसे पहले छात्र नेता अक्षय बैसला ने नोटिस की। अक्षय ने रजिस्ट्रार, चीफ प्रॉक्टर और इंजीनियर को फोटो भेजते हुए आपत्ति दर्ज कराई। अक्षय के अनुसार यह विवि सबका है। इंडिया भी सबका है। जाट लिखकर क्या साबित करना चाहते हैं। अक्षय के अनुसार विवि कैंपस में अराजकता हावी है। कैंपस में जेएनयू तर्ज पर जातिगत प्रभाव दिखाते हुए अन्य वर्ग के छात्रों को नीचा दिखाने की कोशिश की जा रही है। 

ये भी पढ़ें: बीएचयू में पढ़ने के लिए विदोशियों ने दिखाई रुचि, 30 देशों के 312 छात्रों ने लिए इस साल प्रवेश

अक्षय ने कहा कि यदि कोई मुख्य द्वार पर विवि के नाम के आगे से चौ.चरण सिंह को हटा दे तो क्या अच्छा लगेगा? अक्षय ने कहा कि चौ.चरण सिंह के नाम पर बना यह विवि पूरे क्षेत्र का गौरव है। इसे जातिगत लड़ाई का आधार नहीं बनने देना चाहिए। वहीं, एडवोकेट आदेश प्रधान ने कहा कि यह जातिगत विद्वेष पैदा करने की कोशिश है। सभी जाति एवं वर्ग के छात्र कैंपस में मिलकर रह रहे हैं। ऐसे में हो सकता है कि किसी ने जातिगत लड़ाई के इरादे से किया है।

करोड़ों खर्च, कैमरे लगाने को तैयार नहीं
छात्रों का आरोप है कि कैंपस में कोई सुरक्षा नीति नहीं है। कैंपस में सीसीटीवी कैमरे नहीं लगवाए गए हैं जबकि कई बड़ी घटनाएं हो चुकी हैं। पूरे कैंपस को कवर करने के लिए कोई निगरानी तंत्र भी नहीं है। कैंपस, चीफ प्रॉक्टर, प्रो.वीरपाल ने कहा कि विवि ने तत्काल कार्रवाई करते हुए टिप्पणी को हटवा दिया। विवि जांच करेगा। मनोविज्ञान विभाग के गेट पर कैमरा लगा है। विवि अपनी जांच कर रहा है। जो भी दोषी मिलेगा, कार्रवाई होगी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें