ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशहिन्दुस्तान स्पेशल: स्मार्ट क्लास बनाने में फिसड्डी रह गए कई जिले, सबसे अव्वल रहा ये जिला

हिन्दुस्तान स्पेशल: स्मार्ट क्लास बनाने में फिसड्डी रह गए कई जिले, सबसे अव्वल रहा ये जिला

यूपी के कई जिले स्मार्ट क्लास बनाने में फिसड्डी रह गए। सबसे खराब स्थिति बलिया की रही। 2247 स्कूलों में सिर्फ नौ बने स्मार्ट स्कूल। सबसे अव्वल रहा हरदोई जिला। 3459 स्कूलों में 857 बनाए गए स्मार्ट।

हिन्दुस्तान स्पेशल: स्मार्ट क्लास बनाने में फिसड्डी रह गए कई जिले, सबसे अव्वल रहा ये जिला
Srishti Kunjमोहम्मद आसिम सिद्दीकी,कानपुरThu, 07 Dec 2023 06:12 AM
ऐप पर पढ़ें

प्रदेशभर के कई जिले स्कूलों को स्मार्ट बनाने में फिसड्डी रह गए। सबसे खराब स्थित बलिया की रही, यहां 2247 स्कूलों में सिर्फ नौ को ही स्मार्ट बनाया गया। वहीं, हरदोई अव्वल रहा, यहां 3459 स्कूलों में से 857 स्कूलों में स्मार्ट कक्षाएं बन चुकी हैं। इंटीग्रेटेड स्कीम फॉर स्कूल एजुकेशन के तहत प्रदेशभर में परिषदीय प्राथमिक, उच्च प्राथमिक और कंपोजिट विद्यालयों में स्मार्ट कक्षाएं बनाई जानी थी। इसकी समीक्षा की गई तो ज्यादातर जिले फिसड्डी साबित हुए। माना जा रहा है कि या तो स्मार्ट कक्षाएं बनाने की गति धीमी है या तो स्कूल पोर्टल पर इसकी जानकारी अपडेट नहीं कर रहे हैं। राज्य परियोजना निदेशक विजय किरण यादव की समीक्षा में चौंकाने वाले आंकड़े पता चले।

10 से 50 स्मार्ट कक्षा वाले स्कूल
प्रदेश के 23 जनपद ऐसे हैं जिन्होंने 10 से 50 स्मार्ट कक्षाओं की सूचना दी है। इटावा, कन्नौज, बदायूं, प्रतापगढ़, बस्ती, हापुड़, पीलीभीत, उन्नाव, हाथरस, आगरा, कौशाम्बी, कुशीनगर, अलीगढ़, अम्बेडकर नगर, सम्भल, अमरोहा, गोण्डा, झांसी, बहराइच, चंदौली, फर्रुखाबाद, गाजियाबाद एवं महराजगंज ने 10 से 50 की संख्या के मध्य स्मार्ट क्लासेज की सूचना दी है। 

51 से 100 स्मार्ट कक्षा वाले स्कूल
18 जिले में 51 से 100 स्मार्ट कक्षाएं ही बन सकी हैं। यह जिले हैं- संतकबीरनगर, मेरठ, औरैया, भदोही, रायबरेली, अयोध्या, मथुरा, आजमगढ़, देवरिया, मुरादाबाद, मीरजापुर, बागपत, गौतमबुद्धनगर, मैनपुरी, अमेठी, बलरामपुर, लखीमपुर खीरी और कानपुर नगर।  

स्कूल छोड़ तीन बहनों को संभाल रही मासूम, दो जून की रोटी के लिए संघर्ष कर रहे मां-बाप

100 से 300 स्मार्ट क्लास वाले विद्यालय
23 जनपदों की सूचना के अनुसार, 100 से 300 स्मार्ट क्लास वाले विद्यालय यह हैं - बांदा, जालौन, जौनपुर, सीतापुर, शामली, हमीरपुर, शाहजहांपुर, लखनऊ, गाजीपुर, एटा, गोरखपुर, ललितपुर, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, सुल्तानपुर, कानपुर देहात, मऊ, फिरोजाबाद, महोबा, प्रयागराज, फतेहपुर, रामपुर और बाराबंकी। 

301 या इससे अधिक वाले स्कूल 
सोनभद्र, सिद्धार्थनगर, वाराणसी, चित्रकूट, श्रावस्ती, बुलन्दशहर, बिजनौर, बरेली, कासगंज एवं हरदोई ने तीन सौ से अधिक स्मार्ट क्लासेज की जानकारी दी है।

छह सर्वाधिक फिसड्डी जिले 
जनपद               कुल स्कूल       स्मार्ट

बलिया                   2247              09
इटावा                  1489              16
कन्नौज                 1461               17
बदायूं                  2165                18
प्रतापगढ़             2382               18
बस्ती                  2076               20

छह सर्वश्रेष्ठ विद्यालय
जनपद             कुल स्कूल           स्मार्ट 

हरदोई                    3459            857  
कासगंज                 1265           803
बरेली                    2496               600
बिजनौर                 2137                 538
बुलंदशहर             1883                    371
श्रावस्ती                 984                 352

कानपुर मंडल की स्थिति
जनपद                   कुल स्कूल                  स्मार्ट 

कानपुर नगर            1711                  96
कानपुर देहात          1920               157
कन्नौज                      1461                    17
फर्रुखाबाद                1585                    49
औरैया                        1272                        55
इटावा                       1489                       16

छह अन्य प्रमुख शहर
जनपद                   कुल स्कूल                स्मार्ट 

लखनऊ                     1636                        126
उन्नाव                         2717                              22
आगरा                      2497                          24
झांसी                      1465                              45
मेरठ                            1080                             54
वाराणसी                       1153                                 315

कानपुर मंडल, एडी बेसिक, राजेश वर्मा ने कहा कि कानपुर मंडल में कानपुर नगर में 165, औरैया में 112, कन्नौज में 25, फर्रुखाबाद में 152 और कानपुर देहात में 300 स्मार्ट विद्यालयों को स्मार्ट कक्षाओं से युक्त करने का लक्ष्य है। इनकी समीक्षा की जा रही है। सभी बेसिक शिक्षा अधिकारियों से कहा गया है कि वे सूचनाएं अपडेट करें। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें