ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशशादी का कार्ड देने के बहाने घर में घुसे लुटेरों ने फ्रिज से मिठाई निकाली, खायी और छुए पैर

शादी का कार्ड देने के बहाने घर में घुसे लुटेरों ने फ्रिज से मिठाई निकाली, खायी और छुए पैर

मैनपुरी में एक घर में शादी का कार्ड देने के बहाने घर में घुसे लुटेरों ने फ्रिज से मिठाई निकाली, खायी और घर के मालिक के पैर छुए। हालांकि पुलिस को लूट की कहानी संदिग्ध लग रही है। मामले की जांच जारी है।

शादी का कार्ड देने के बहाने घर में घुसे लुटेरों ने फ्रिज से मिठाई निकाली, खायी और छुए पैर
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,मैनपुरीMon, 04 Dec 2023 09:21 AM
ऐप पर पढ़ें

मैनपुरी शहर के कृष्णा नगर स्थित मकान में लूट की घटना का दूसरे दिन भी खुलासा नहीं हो पाया। पुलिस दूसरे दिन भी घटना को लेकर संदेह में बनी रही। पुलिस के सामने सबसे बड़ी चुनौती इस घटना का पर्दाफाश करने की तो है ही, सवाल इस बात का भी है कि घटना के दौरान जो लुटेरे घर में तीन घंटे रहे वे स्थानीय हैं या कहीं बाहर से आए हैं। पुलिस पूरे दिन इस बात का पता लगाती रही कि आखिर तीन घंटे लुटेरे घर में क्या करते रहे। कोतवाली पहुंचे पीड़ितों से भी पुलिस ने पूरे घटनाक्रम की फिर से जानकारी ली। 

शुक्रवार की शाम 7.30 बजे शादी का कार्ड देने के बहाने तीन लुटेरे घर में घुसे और उन्होंने 10 लाख से अधिक के आभूषण, 45 हजार रुपये की नकदी लूट ली। इस आशय का मुकदमा कृष्णानगर निवासी रिटायर्ड शिक्षिका स्नेहलता पत्नी बलवीर सिंह भदौरिया ने कोतवाली में दर्ज कराया है। तीन अज्ञात और नगला जुला निवासी विनय चौहान उर्फ राजू को आरोपी बनाया गया है। स्नेहलता ने पुलिस को जानकारी दी कि बदमाश लूट की घटना के दौरान तीन घंटे उनके घर में रहे। उन्होंने तमंचे के बल पर उन्हें बंधक बनाया। 

झोपड़ी में आग लगने से तीन मासूम भाई-बहन जिंदा जले, पिता भी झुलसा, भागने का भी नहीं मिला मौका

कोतवाल फतेह बहादुर सिंह का कहना है कि पीड़िता ने उन्हें जानकारी दी है कि घटना के दौरान कमरे में रखी दो कुर्सियां बदमाश लेकर आए और दीवार के निकट कुर्सियों पर बलवीर और स्नेहलता को बैठाया। बदमाशों ने फ्रिज से मिठाई निकाली और खायी, पीड़ितों को भी मिठाई खाने के लिए पूछा। उनके पैर भी छुए। 

पुलिस हर एंगल से कर रही घटनाक्रम की जांच
स्नेहलता का कहना है कि तीनों ही बदमाश मास्क लगाए हुए थे और हाथों में ग्लब्स पहनकर आए थे। उन्होंने एक युवक पर घटना का शक भी जताया है। लेकिन जो कहानी बताई गई है उस पर पुलिस को संदेह है। कोतवाल फतेह बहादुर सिंह का कहना है कि जनपद में इतने बड़े शातिर चोर नहीं है जो तीन घंटे लूटपाट करें और घर में ही बने रहें। लेकिन फिर भी पुलिस सभी एंगल से घटना को देख रही है। पुलिस जल्द इस घटना का खुलासा करेगी और लूट के रहस्य से पर्दा हटाया जाएगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें