ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशशादी के 48 घंटे बाद मां बनी दुल्हन ने बेटे को दिया जन्म, पति और ससुराल वालों ने किया ये काम

शादी के 48 घंटे बाद मां बनी दुल्हन ने बेटे को दिया जन्म, पति और ससुराल वालों ने किया ये काम

यूपी के मैनपुरी में एक महिला शादी के 48 घंटे बाद मां बन गई। महिला ने शादी के अगले ही दिन एक बेटे को जन्म दिया। पति और ससुराल वाले पहले तो महिला को अस्पताल ले गए उसके बाद उन्होंने ये काम किया।

शादी के 48 घंटे बाद मां बनी दुल्हन ने बेटे को दिया जन्म, पति और ससुराल वालों ने किया ये काम
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,मैनपुरीThu, 22 Feb 2024 10:44 AM
ऐप पर पढ़ें

मैनपुरी में शादी के 48 घंटे बाद ही दुल्हन ने बेटे को जन्म दे दिया। दुल्हन ने बेटे को जन्म दिया तो दूल्हा और उसके परिवार के लोगों के होश उड़ गए। दूल्हे और उसके परिजनों ने बेटे को अपनाने से इनकार किया तो हड़कंप मच गया। अस्पताल प्रबंधन को बताए बिना दूल्हा पक्ष दुल्हन को छोड़कर भाग निकला। सूचना पर पहुंचे मायके पक्ष के लोग प्रसूता और बेटे को लेकर चले गए। बच्चा बेचने की अफवाह फैली तो अस्पताल प्रशासन ने फोन कर दोनों पक्षों को बुला लिया। बाद में मामला निपटा दिया गया।

मामला से जुड़ी कहानी कुसमरा क्षेत्र के एक गांव की है। यहां के निवासी युवक की शादी अपने बड़े भाई की साली के साथ दो दिन पहले हुई थी। बारात और दुल्हन लेकर युवक घर आ गया। घर में रिश्तेदार भी थे। मंगलवार की रात नाच-गाने के दौरान दुल्हन के पेट में दर्द शुरू हो गया। दूल्हा पक्ष के लोग उसे आनन फानन में सौ शैया अस्पताल ले आए। रात 2:20 बजे उसे भर्ती किया गया और 2:22 बजे दुल्हन ने सामान्य डिलीवरी के तहत एक पुत्र को जन्म दे दिया। बच्चा पैदा हुआ तो दूल्हा और उसके घरवाले हैरान रह गए और दुल्हन, बच्चे को छोड़कर भाग निकले। इसी बीच खबर मिली तो दुल्हन के घरवाले अस्पताल पहुंच गए और वे भी अस्पताल प्रबंधन को जानकारी दिए। बिना दुल्हन व नवजात को अपने साथ ले गए।

शादी की खुशियों में मातम, नगर पालिका अध्यक्ष के सगे भाई ने साले की गोली मार की हत्या

समाजसेविका ने समझाया तो मान गया दुल्हा पक्ष
बुधवार की सुबह अफवाह फैल गई कि अस्पताल से बच्चे को बेच दिया गया है। इस सूचना पर सीएमएस डा. एसके उपाध्याय ने फोन करके दोनों पक्षों को अस्पताल बुला लिया। सूचना पाकर वरिष्ठ समाजसेविका आराधना गुप्ता भी पहुंच गई। उन्होंने दोनों पक्षों को समझाया। जिसके बाद दूल्हा पक्ष दुल्हन और बच्चे को अपने साथ ले जाने के लिए राजी हो गया। दोपहर डेढ़ बजे अस्पताल से प्रसूता और नवजात को छुट्टी दे दी गई। उधर शादी के दो दिन बाद ही बच्चे को जन्म देने की चर्चाएं दिनभर अस्पताल में बनी रही। युवक के गांव में भी ये मामला चर्चा का विषय बना। हुआ है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें