ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशबैंक संग धोखाधड़ी करने वाले की 2.15 करोड़ की संपत्तियां जब्त, ईडी ने दर्ज किया था केस

बैंक संग धोखाधड़ी करने वाले की 2.15 करोड़ की संपत्तियां जब्त, ईडी ने दर्ज किया था केस

यूपी में धोखाधड़ी के आरोपी पवन शर्मा की 2.15 करोड़ की संपत्तियां जब्त कर ली गई है। पवन शर्मा पर बैंक से फ्रॉड करने के मामले में कार्रवाई की गई। ईडी ने सीबीआई की एफआईआर पर केस दर्ज किया था।

बैंक संग धोखाधड़ी करने वाले की 2.15 करोड़ की संपत्तियां जब्त, ईडी ने दर्ज किया था केस
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,लखनऊThu, 08 Feb 2024 09:20 AM
ऐप पर पढ़ें

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बैंक के साथ धोखाधड़ी के आरोपी पवन कुमार शर्मा की 2.15 करोड़ रुपये मूल्य की दो अचल संपत्तियों को अस्थाई रूप से जब्त कर लिया है। जब्त की गई संपत्तियां दिल्ली में स्थित हैं और वाणिज्यिक-आवासीय भवनों के रूप में हैं। ये संपत्तियां मेसर्स गोविंदा इंटरनेशनल कंपनी के मालिक पवन कुमार शर्मा के नाम पर हैं।

यह कार्रवाई ईडी ने धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) 2002 के प्रावधानों के तहत की है। ईडी ने गोविंदा इंटरनेशनल के मालिक पवन कुमार शर्मा और उनके एक रिश्तेदार केशव जोशी के खिलाफ धोखाधड़ी और जालसाजी के आरोप में आईपीसी और भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धाराओं के तहत सीबीआई देहरादून द्वारा दर्ज विभिन्न एफआईआर के आधार पर यह केस दर्ज किया था। 

परीक्षा में व्हाट्सएप भाषा का इस्तेमाल, नॉट फाउंड को 404 लिख रहे बच्चे, इस डिसऑर्डर की समस्या बढ़ी

ईडी की जांच में पता चला कि गोविंदा इंटरनेशनल ने यूनियन बैंक ऑफ इंडिया गाजियाबाद से 31 मार्च 2017 से 15 करोड़ की सीसी लिमिट स्वीकृत कराई थी। इस लोन सुविधा के लिए गोविंदा इंटरनेशनल ने अपने स्टॉक को बंधक रखा था। आरोपी व्यक्तियों ने बैंक के विश्वास का उल्लंघन किया और बैंक की जानकारी के बिना बंधक माल को बेच दिया। आरोपियों ने लोन के पैसे का दुरुपयोग किया और बिक्री आय को अपने व्यक्तिगत लाभ के लिए इस्तेमाल किया, जिससे बैंक को वित्तीय क्षति हुई। बाद में गोविंदा इंटरनेशनल का खाता एनपीए हो गया और आरबीआई द्वारा इसे बैंक धोखाधड़ी घोषित कर दिया गया। इस मामले में ईडी की जांच अभी जारी है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें