ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशलोकसभा चुनाव: वोटिंग में आगे महिलाएं पर उम्मीदवारी पाने में पीछे, क्या कहते हैं आंकड़े

लोकसभा चुनाव: वोटिंग में आगे महिलाएं पर उम्मीदवारी पाने में पीछे, क्या कहते हैं आंकड़े

यूपी में वोट देने में इस बार कई सीटों पर महिलाएं आगे रहीं। पर खुद चुनाव लड़ने के मामले में उनकी तादाद घट गई है। महिला प्रत्याशियों की तादाद इस बार केवल 79 ही है जबकि दस साल पहले 104 थी।

लोकसभा चुनाव: वोटिंग में आगे महिलाएं पर उम्मीदवारी पाने में पीछे, क्या कहते हैं आंकड़े
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,लखनऊTue, 28 May 2024 07:39 AM
ऐप पर पढ़ें

वोट देने में इस बार कई सीटों पर महिलाएं आगे रहीं। पर खुद चुनाव लड़ने के मामले में उनकी तादाद घट गई है। महिला प्रत्याशियों की तादाद इस बार केवल 79 ही है जबकि दस साल पहले 2014 में यह संख्या 104 थी। अब सबकी निगाहें इस बात पर हैं कि यूपी में महिला सांसदों की मौजूदा 12 की संख्या घटती है या बढ़ती है। पर खास बात यह है कि सभी प्रत्याशियों में सबसे अमीर प्रत्याशी महिला ही है। 

इस बार बुंदेलखंड, अवध व पूर्वांचल की कुछ सीटों पर पुरुषों के मुकाबले महिलाओं ने ज्यादा मतदान किया। इनमें बांदा, अमेठी, रायबरेली फतेहपुर, गोंडा, कैसरगंज, कौशांबी प्रमुख हैं। माना जा रहा है कि सातवें चरण में भी कुछ सीटों पर महिलाओं का मतदान प्रतिशत पुरुषों से अधिक हो सकता है। 

आखिरी चरण में कई दिग्गज महिला प्रत्याशी मैदान में  
पूर्वांचल की 13 सीटों पर होने वाले चुनाव में केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल अपना दल सोनेलाल के जरिए मिर्जापुर से चुनाव लड़ रही हैं। उन्हीं की पार्टी की रिंकी कोल भी राबर्टसगंज से चुनाव लड़ रही हैं जबकि काजल निषाद सपा के जरिए गोरखपुर से चुनाव लड़ रही हैं। बाकी सात प्रत्याशी निर्दलीय व अन्य छोटे दलों से हैं।

सीएम योगी आज यूपी में दो और बिहार में तीन जनसभाओं को करेंगे संबोधित

करोड़पतियों में महिलाएं भी कम नहीं 
हेमा मालिनी सभी उम्मीदवारों में सर्वाधिक संपत्ति वाली उम्मीदवार हैं लेकिन सहारनपुर से निर्दलीय चुनाव लड़ने वाली तस्मीन बानों की संपत्ति 78 करोड़ है। सहारनपुर से निर्दलीय तस्मीन बानों की संपत्ति 78 करोड़ है। मुरादाबाद से चुनाव लड़ी सपा की रुचिवीरा ने अपनी संपत्ति 28 करोड़ बताई है। मुजफ्फरनगर से चुनाव लड़ी राष्ट्रवादी जनलोक पार्टी की कविता ने अपनी संपत्ति 28 करोड़ बताई है। गाजियाबाद से निर्दलीय चुनाव लड़ीं कविता की संपत्ति 20 करोड़, मेरठ से सपा से चुनाव लड़ी सुनीता वर्मा की संपत्ति 9 करोड़ व कांग्रेस की गाजियाबाद से लड़ी डाली शर्मा की संपत्ति दो करोड़ रुपये है। मैनपुरी से चुनाव लड़ी डिंपल यादव की संपत्ति 42 करोड़, आगरा से बसपा से चुनाव लड़ी पूजा अमरोही 29 करोड़ व संगीता तोमर की संपत्ति एक करोड़ है। 

उन्नाव से सपा की ने अपनी संपत्ति 79 करोड़, हरदोई से सपा की ऊषा वर्मा ने अपनी संपत्ति छह करोड़ , मिश्रिख से सपा की संगीता राजवंशी ने अपनी संपत्ति चार करोड़ बताई है। इसके अलावा शाहजहांपुर से निर्दलीय मीना कश्यप व कन्नौज की ललित कुमारी की संपत्ति एक करोड़ रुपये बताई है। अमेठी से भाजपा की स्मृति ने अपनी संपत्ति 17 करोड़,  कैसरगंज से निर्दलीय अरुणिमा पांडेय की संपत्ति 4 करोड़, सपा की श्रेया वर्मा की संपत्ति दो करोड़, फतेहपुर से भाजपा की निरंजन ज्योति की संपत्ति दो करोड़ है। मेनका गांधी, नीलम सोनकर संपत्ति क्रमश: 97 करोड़ व 9 करोड़ रुपये है। गाजीपुर से निर्दलीय नुसरत अली, मिर्जापुर से अपना दल की अनुप्रिया पटेल व रिंकी कोल की संपत्ति क्रमश: 6 करोड़, 4 करोड़ व एक करोड़ रुपये है। 

चरणवार महिला प्रत्याशी 
पहला    7   
दूसरा    9
तीसरा   8
चौथे    16
पांचवें   13 
छठां    16
सातवां 10