ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशकैसरगंज से बृजभूषण शरण सिंह की जगह सर्वेश पाठक, कांग्रेस के बाद भाजपा की फर्जी सूची वायरल

कैसरगंज से बृजभूषण शरण सिंह की जगह सर्वेश पाठक, कांग्रेस के बाद भाजपा की फर्जी सूची वायरल

up lok sabha election 2024: भाजपा में बृजभूषण शरण सिंह की सीट कैसरगंज और कांग्रेस में अमेठी-रायबरेली को लेकर सभी की निगाहें टिकी हुई हैं। ऐसे में दोनों पार्टियों की फर्जी सूची वायरल हो रही है। 

कैसरगंज से बृजभूषण शरण सिंह की जगह सर्वेश पाठक, कांग्रेस के बाद भाजपा की फर्जी सूची वायरल
Yogesh Yadavलाइव हिन्दुस्तान,गोंडाWed, 01 May 2024 08:43 PM
ऐप पर पढ़ें

कैसरगंज लोकसभा सीट पर भाजपा की ओर से उम्मीदवारी को लेकर कयासों का दौर बुधवार को भी जारी रहा।  इस बीच एक सूची ने कैसरगंज से सांसद बाहुबली बृजभूषण शरण सिंह के समर्थकों में उथल-पुथल मचा दी। इस सूची में बृजभूषण शरण सिंह की जगह सर्वेश पाठक को प्रत्याशी बताया गया है। यह सूची तेजी से वायरल हुई तो भाजपा की तरफ से बयान आ गया। सूची को फर्जी बताया गया है। इससे पहले मंगलवार को इसी तरह अमेठी और रायबरेली सीट को लेकर कांग्रेस की सूची वायरल हुई थी। यहां तक कि कांग्रेस के मीडिया इंफार्मेशन ग्रुप में भी इसे डाल दिया गया और कुछ देर बार डिलीट करके इसे गलत बताते हुए माफी भी मांग ली गई थी। इस सूची में अमेठी से राहुल गांधी और रायबरेली से प्रियंका गांधी के नाम थे। तीनों ही सीटों कैसरगंज, अमेठी और रायबरेली में नामांकन का दौर जारी है। तीन मई को नामांकन का अंतिम दिन है।

पहले इस बात की चर्चा थी कि बुधवार तक तीनों सीटों से प्रत्याशियों का ऐलान हो जाएगा। इसी को लेकर लोगों को प्रत्याशियों के नामों का इंतजार है। इस इंतजार के बीच ही बुधवार दोपहर भाजपा की सूची सोशल मीडिया पर वायरल होने लगी। इमें कैसरगंज से बृजभूषण शरण सिंह की जगह सर्वेश पाठक का नाम देख भाजपा पदाधिकारियों के फोन घनघनाने लगे। कुछ देर में ही भाजपा जिलाध्यक्ष अमर किशोर कश्यप ने सूची को फर्जी करार दिया। उन्होंने बताया कि अभी कैसरगंज सीट पर नेतृत्व की ओर से कोई भी उम्मीदवार घोषित नहीं किया गया है। 

कैसरगंज लोकसभा सीट पर भाजपा की पहली लिस्ट आने के बाद से ही चर्चा में है। बृजभूषण शायद अकेले ऐसे सांसद हैं जिनसे सबसे ज्यादा टिकट को लेकर मीडिया ने सवाल किया है। कई बार तो वह इसे लेकर भड़क भी गए थे। अब नामांकन के लिए केवल दो दिन बचने पर तरह-तरह के कयास लगाए जाने लगे। इसी बीच बुधवार दोपहर सोशल मीडिया पर एक सूची घूमने लगी। 

जिस तरह अभी तक भाजपा की सूची जारी हुई थी, ठीक उसी तरह की यह सूची बनाई गई थी। ऊपर भारतीय जनता पार्टी केंद्रीय कार्यालय का नाम और नीचे राष्ट्रीय महासचिव एवं मुख्यालय प्रभारी अरुण सिंह के हस्ताक्षर व एक मुहर भी थे। अन्य सूचियों की तरह हू-ब-हू दिखने वाली इस सूची में सर्वेश पाठक को उम्मीदवार बनना दर्शाया गया था। 

यह सूची आने के बाद भाजपा पदाधिकारियों के फोन घनघनाने लगे। भाजपा कार्यालय पर भी कई कार्यकर्ता पहुंच गए, वहीं मीडिया के लोग भी पदाधिकारियों से सूची के बारे में जानकारी लेने लगे। इस बीच जिलाध्यक्ष अमर किशोर कश्यप ने नेतृत्व से बातकर सूची फर्जी होने की पुष्टि की। जिलाध्यक्ष ने बताया कि अभी कैसरगंज उम्मीदवारी को लेकर कोई भी लिस्ट जारी नहीं की गई है। माना जा रहा है कि आज रात या कल सुबह तक भाजपा सूची जारी कर देगी। भाजपा ने कैसरगंज के साथ ही रायबरेली में भी प्रत्याशी घोषित नहीं किया है। 

भाजपा को रायबरेली में कांग्रेस के नाम का इंतजार है। इसी तरह सपा ने भी कैसरगंज से प्रत्याशी घोषित नहीं किया है। सपा को भाजपा के नाम का इंतजार है। यहां तक कहा जा रहा है कि अगर भाजपा ने बृजभूषण शरण सिंह को टिकट नहीं देती तो सपा दे सकती है। बृजभूषण पहले सपा से सांसद भी रहे हैं।