DA Image
22 अप्रैल, 2021|8:52|IST

अगली स्टोरी

पर्यटकों को आकर्षित करने में टॉप थ्री में है यूपी, बढ़ेंगे रोजगार के अवसर : पीएम मोदी 

pm narendra modi

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि विदेशी पर्यटकों को आकर्षित करने में यूपी देश के टॉप थ्री राज्यों में आ चुका है। यहां पर्यटकों के लिए जरूरी सुविधाओं के साथ ही आधुनिक कनेक्टीविटी के साधन भी बढ़ाए जा रहे हैं। मंगलवार को वर्चुअल माध्यम से महाराजा सुहेलदेव स्मारक की आधारशिला रखने के बाद सभा को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर उन्होंने महाराजा सुहेल देव मेडिकल कॉलेज का लोकार्पण भी किया। 

सुहेल देव जयन्ती के मौके पर मोदी ने बहराइच के लोकमानस को खुद से जोड़ते हुए कहा कि पराक्रम से मातृभूमि का मान बढ़ाने वाले राष्ट्रनायक महाराजा सुहेलदेव की जन्मभूमि और ऋषि-मुनियों की तपोस्थली बहराइच को की पुण्यभूमि को वे नमन करते हैं। इतिहास के पन्नों में भले ही महाराजा सुहेलदेव के शौर्य, पराक्रम व उनकी वीरता को वह स्थान नहीं मिला जिसके वे हकदार थे, लेकिन तराई से लेकर पूर्वांचल की लोक कथाओं में लोगों के हृदय में वह हमेशा हमेशा बने रहेंगे। उत्तर प्रदेश को पर्यटन और तीर्थाटन दोनों की  अपार क्षमताएं हैं।

चाहे भगवान राम का जन्मस्थान हो, वृन्दावन हो, भगवान बुद्ध का सारनाथ हो, काशी विश्वनाथ हो, कबीर का मगहर हो, वाराणसी में संत रविदास की जन्मस्थली हो पूरे प्रदेश में बड़े पैमाने पर इनके आधुनिकीकरण का काम चल रहा है। विकास के लिए भगवान राम, श्रीकृष्ण के जीवन संबंधित स्थलों अयोध्या, चित्रकूट, मथुरा, वृन्दावन, गोवर्धन, कुशीनगर, श्रावस्ती आदि स्थलों पर रामायण, आध्यात्मिक बौद्ध सर्किट जैसे अनगिनत सर्किटों का विकास किया जा रहा है। 

उन्होंने कहा कि नए कानून लागू होने से किसानों का दो गुना धान खरीदा जा चुका है। बेहतर होती बिजली पानी सड़क और स्वास्थ्य सुविधाओं का सीधा लाभ गरीब और किसानों को हो रहा है। जिनके पास कम जमीन थी वे योजनाओं के बड़े लाभार्थी हैं। छोटे किसानों को हमारी सरकार ने 27 लाख करोड़ रुपये किसानों के खाते में ट्रांसफर किया गया है। देश की जनसंख्या बढ़ने के साथ खेती की जमीन छोटी होती जा रही है इसलिए देश में किसान उत्पादक संघों का निर्माण बहुत आवश्यक है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:UP is in the top three to attract tourists: PM Modi