ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशशादी के तीन महीने बाद पत्नी की हादसे में मौत, सदमे में पति ने फांसी लगाकर दी जान

शादी के तीन महीने बाद पत्नी की हादसे में मौत, सदमे में पति ने फांसी लगाकर दी जान

हरदोई में पत्नी की हादसे में मौत होने के बाद पति ने फांसी लगा ली। महिला टड़ियावां सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में नर्स थी। युवक पिहानी विकासखंड के टीकमपुरवा प्राथमिक विद्यालय में तैनात था।

शादी के तीन महीने बाद पत्नी की हादसे में मौत, सदमे में पति ने फांसी लगाकर दी जान
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,हरदोईMon, 22 Apr 2024 01:41 PM
ऐप पर पढ़ें

हरदोई-लखनऊ हाईवे पर सोमवार सुबह सुरसा थाना क्षेत्र के गांव पचकोहरा के पास प्राइवेट बस की टक्कर लगने से स्कूटी सवार नर्स की मौत हो गई। घटना की सूचना पाकर उसका अध्यापक पति पोस्टमार्टम हाउस पहुंचा। कुछ देर रुकने के बाद वहां से घर पहुंचा और फांसी लगाकर जान दे दी। हादसे की जानकारी मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया।

सुरसा थाना के दाउदपुर गांव निवासी योगेश कुमार की पत्नी मणिकर्णिका ब्लाक टड़ियावां स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर नर्स के पद पर तैनात थी। बताया गया है रोज की तरह मणिकर्णिका सोमवार की सुबह स्कूटी पर सवार होकर ड्यूटी पर जा रही थी। इसी बीच रास्ते में हरदोई लखनऊ हाईवे पर पचकोहरा गांव के पास तेज गति से जा रही प्राइवेट बस ने उसे टक्कर मार दी। टक्कर लगने से स्कूटी सवार मणिकर्णिका सड़क पर गिर गई। इस बीच बस के पहिए मणिकर्णिका के सिर के ऊपर से निकाल गए। इस हादसे में मणिकर्णिका की मौके पर ही मौत हो गई।

घटना की सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची। शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। घटना की जानकारी होने पर मणिकर्णिका का पति पिहानी ब्लाक के टीकमपुरवा प्राथमिक विद्यालय में सहायक अध्यापक के पद पर तैनात योगेश पोस्टमार्टम हाउस पहुंचा। वहां पर पत्नी को मृत देखकर बदहवास हो गया। कुछ देर बाद वहां से अपने गांव स्थित घर जाकर कमरे के अंदर पंखे के कुंडे में वायर वाले केबिल का फंदा बनाकर लटककर जान दे दी।

मेरठ में हफ्तेभर बाद फिर तेंदुए की दहशत, पहले की तरह एक परिवार मकान में कैद

परिजनों के अनुसार योगेश अपनी चार बहनों में इकलौता था। वही उसकी पत्नी मणिकर्णिका भी अपने मां-बाप की इकलौती संतान थी। इस दर्दनाक हादसे से दोनों परिवारों में मातम पसरा हुआ है। थानाध्यक्ष इंद्रेश कुमार का कहना है कि मामले की छानबीन की जा रही है। हादसे को अंजाम देने वाली बस का पता लगाया जा रहा है। तहरीर मिलने पर रिपोर्ट दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

तीन माह पहले मणिकर्णिका की हुई थी शादी
परिजनों ने बताया कि नर्स मणिकर्णिका का मायका कोतवाली शहर के धन्नूपूर्वा गांव में है। अभी तीन माह पहले मणिकर्णिका की शादी योगेश के साथ हुई थी। इस हादसे से पूरे परिवार में मातम पसर गया है। बेसिक शिक्षा विभाग के लोग भी शोक संवेदना जताने के लिए पहुंचे।