DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  यूपी : समय से पहले मानसून के आने की सूचना से किसानों के चेहरे खिले

उत्तर प्रदेशयूपी : समय से पहले मानसून के आने की सूचना से किसानों के चेहरे खिले

प्रमुख संवाददाता, लखनऊPublished By: Shivendra Singh
Thu, 10 Jun 2021 09:19 PM
यूपी : समय से पहले मानसून के आने की सूचना से किसानों के चेहरे खिले

दक्षिण-पश्चिम मानसून के समय से पूर्व आने की सूचना से प्रदेश के किसानों के चेहरे खिल उठे हैं। कृषकों का मानना है कि इससे नर्सरी डालने या डल चुकी नर्सरी की वृद्धि के साथ-साथ धान की रोपाई में भी बड़ी सहायता मिल जाएगी। सिंचाई का खर्च नहीं बढ़ेगा जिससे उत्पादन लागत कम हो जाएगी। कृषि विशेषज्ञ भी मानसून के जल्द आगमन को खेती के लिए शुभ संकेत मान रहे हैं।

रहमानखेड़ा स्थित राज्य कृषि प्रबन्ध संस्था के पूर्व निदेशक डॉ. विष्णु प्रताप सिंह कहते हैं कि समय से पहले होने वाली मानसूनी बरसात किसानों के लिए किसी वरदान से कम नहीं होगा। यह समझिए कि यह पानी नहीं बल्कि डीजल बरसेगा मतलब यह कि सिंचाई के लिए डीजल का पैसा बचेगा। जुताई में आसानी हो जाएगी। बाद में जम चुके खर-पतवार को रोपाई के लिए खेत की तैयारी में नष्ट किया जा सकेगा।

पूर्व कृषि निदेशक सोराज सिंह कहते हैं कि बारिश के पानी से नर्सरी के पौधों को प्राकृतिक नाइट्रोजन अलग से मिलेगी क्योंकि वातावरण में मौजूद नाइट्रोजन वर्षा के बूंदों के साथ आएगी। इससे पौधों की वृद्धि में भी काफी मदद मिलेगी। परिणाम स्वरूप समय से धान की रोपाई हो सकेगी। ख्यातिलब्ध किसान पद्मश्री रामशरण वर्मा कहते हैं कि प्री मानसून की इस बरसात से मेंथा फसल को मामूली नुकसान हो सकता है लेकिन धान की नर्सरी तैयार करने से लेकर उसकी रोपाई तक में समय से पूर्व आने वाला मानसून किसानों को भारी राहत पहुंचाएगा।

संबंधित खबरें