ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशज्ञानवापी-आदिविश्वेश्वर मामले में सुनवाई आज, तहखाने में पूजा रोकने की अर्जी भी सुनेगा कोर्ट

ज्ञानवापी-आदिविश्वेश्वर मामले में सुनवाई आज, तहखाने में पूजा रोकने की अर्जी भी सुनेगा कोर्ट

वाराणसी में ज्ञानवापी-आदिविश्वेश्वर मामले में कोर्ट में मूलवाद पर आज सुनवाई होगी। साथ ही आकृति की पूजा पर भी आज सुनवाई होनी है। इसके अलावा दक्षिणी तहखाना में पूजा प्रकरण अदालत सुनेगी।

ज्ञानवापी-आदिविश्वेश्वर मामले में सुनवाई आज, तहखाने में पूजा रोकने की अर्जी भी सुनेगा कोर्ट
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,वाराणसीMon, 05 Feb 2024 07:59 AM
ऐप पर पढ़ें

वाराणसी में ज्ञानवापी-आदिविश्वेश्वर के मूलवाद पर सोमवार को सिविल जज सीनियर डिवीजन फास्ट ट्रैक कोर्ट प्रशांत सिंह की अदालत में सुनवाई होनी है। मूलवाद में पक्षकार बनने के लिए वादी रहे स्व. हरिहर पांडेय के पुत्रों के प्रार्थना पत्र पर कोर्ट सुनवाई करेगी। गौरतलब है कि हाईकोर्ट के निर्देश पर पिछले दिनों एएसआई ने सर्वें रिपोर्ट दाखिल कर दी थी। कोर्ट के आदेश पर उभय पक्षों को रिपोर्ट की प्रति उपलब्ध करा दी गई। 

इसी दरम्यान हरिहर पांडेय की मृत्यु होने पर उनके दो पुत्रों औरंगाबाद निवासी प्रणय पांडेय व करण शंकर पांडेय की ओर से आवेदन देकर पक्षकर बनाने का कोर्ट से अनुरोध किया है। जिसके खिलाफ वादमित्र विजयशंकर रस्तोगी ने आपत्ति दाखिल कर हरिहर पांडेय का नाम हटाने की मांग की है।

वहीं, लॉर्ड ज्योतिर्लिंग आदि विश्वेश्वर विराजमान की वादमित्र अधिवक्ता अनुष्का तिवारी व इंदु तिवारी की अर्जी पर जिला जज की अदालत में सोमवार को सुनवाई होनी है। जिसमें उन्होंने मांग की है कि जिला जज मूलवाद को एफटीसी कोर्ट से अपने यहां स्थानांतरित कर सुनवाई करें। उन्होंने 24 जनवरी को यह अर्जी दी थी।

गर्मियों में जंगलों में आग लगने से रोकने को योगी सरकार तैयार, कंट्रोल रूप स्थापित, हेल्पलाइन नंबर जारी

आकृति की पूजा पर भी आज सुनवाई
सिविल जज सीनियर डिवीजन अश्वनी कुमार की अदालत में सोमवार को ज्ञानवापी से जुड़े एक और प्रकरण में सुनवाई होनी है। इसमें शंकराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद के शिष्य शैलेन्द्र योगीराज सरकार ने 2 अगस्त 2023 को वाद दाखिल कर आदिविश्वेश्वर (शिवलिंग की आकृति) की पूजा-अर्चना और राग-भोग की मांग की है।

दक्षिणी तहखाना में पूजा प्रकरण सुनेगी अदालत
व्यासजी तहखाना (दक्षिणी तहखाना) पर पूर्व जिला जज की आदेश का क्रियान्वयन 15 स्थगित करने की मुस्लिम पक्ष की अर्जी पर सोमवार को सुनवाई होनी है। यह सुनवाई प्रभारी जिला जज की कोर्ट में होगी। सोमवार को वादी आपत्ति दाखिल कर सकता है। 2 फरवरी को अंजुमन इंतिजामिया मसाजिद की ओर से अर्जी देकर कहा गया कि जिला जज के आदेश के खिलाफ प्रतिवादी को हाईकोर्ट में रिवीजन दाखिल करना है। लिहाजा आदेश का क्रियान्वयन 15 दिन स्थगित करने का आदेश दें।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें