ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशयूपी के सरकारी कर्मचारियों को धनतेरस-दिवाली से पहले मिलेगी खुशखबरी, बोनस-डीए की फाइल CM योगी के पास पहुंची

यूपी के सरकारी कर्मचारियों को धनतेरस-दिवाली से पहले मिलेगी खुशखबरी, बोनस-डीए की फाइल CM योगी के पास पहुंची

DA-Bonus: यूपी के राज्‍य कर्मचारियों को जल्‍द ही डीए-बोनस की खुशखबरी मिलने वाली है। धनतेरस-दिवाली से पहले इसका एलान हो सकता है। इसकी फाइल सीएम योगी के पास पहुंच चुकी है। जल्‍द ही एलान हो सकता है।

यूपी के सरकारी कर्मचारियों को धनतेरस-दिवाली से पहले मिलेगी खुशखबरी, बोनस-डीए की फाइल CM योगी के पास पहुंची
Ajay Singhहिंदुस्‍तान,लखनऊThu, 02 Nov 2023 02:50 PM
ऐप पर पढ़ें

Bonus and DA to UP state employees: केंद्र सरकार के बाद अब यूपी सरकार भी अपने कर्मचारियों को बोनस देने की तैयारी में है। सरकार महंगाई भत्‍ता (डीए) भी बढ़ाने वाली है। धनतेरस-दिवाली से पहले यह खुशखबरी मिलने वाली है। वित्त विभाग ने बोनस की फाइल तैयार कर अनुमोदन के लिए मुख्यमंत्री के पास भेज दी है। इसके साथ ही महंगाई भत्ता, महंगाई राहत वृद्धि की फाइल भी मुख्यमंत्री के पास भेजी गई है।

धनतेरस और दीपावली से पहले अराजपत्रित राज्य कर्मचारियों को प्रदेश सरकार बोनस देगी। नवंबर का वेतन जो दिसंबर में मिलेगा, के साथ महंगाई भत्ते का नकद भुगतान राज्यकर्मियों को मिलने लगेगा। चार फीसदी की बढ़ी दर से महंगाई भत्ता देने की घोषणा होने पर राज्य कर्मचारियों को डीए 42 फीसदी से बढ़कर 46 फीसदी हो जाएगा। बढ़ी दर से महंगाई भत्ते का लाभ कर्मचारियों को जुलाई से मिलेगा।

आपके अपने समाचार पत्र ‘हिन्दुस्तान’ ने दीपावली से पहले बोनस और डीए-डीआर का लाभ राज्य कर्मचारियों को मिलने की खबर प्रमुखता से प्रकाशित किया था। बताया जाता है कि धनतेरस से पहले दी बोनस की धनराशि अराजपत्रित राज्यकर्मचारियों के खाते में दे दी जाएगी। जिससे वह त्यौहार अच्छे से मना सकें। 

बोनस की गणना 18 हजार मूलवेतन मानते हुए करने का अनुरोध

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष जेएन तिवारी ने दीपावली से पहले बोनस दिए जाने की तैयारी के तहत पत्रावली मुख्यमंत्री के पास भेजे जाने पर खुशी का इजहार किया है। उन्होंने कहा है कि परिषद ने पत्र लिखकर मुख्यमंत्री से बोनस दिए जाने की मांग की थी। मुख्यमंत्री बोनस दिए जाने का वादा पूरा करने जा रहे हैं।

जेएन तिवारी ने बोनस की गणना न्यूनतम वेतन 18 हजार के बराबर करते हुए किए जाने का अनुरोध किया है। उन्होंने कहा है कि अब तक बोनस की अधिकतम सीमा 7000 रुपये बेसिक पे मानते हुए गणना की जाती है। यह धनराशि बहुत कम है। बोनस का 75 फीसदी धनराशि कर्मचारियों के भविष्य निधि खाते में जमा किए जाने की व्यवस्था को समाप्त करते हुए इसे अधिकतम 50 फीसदी किए जाने की मांग की है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें