DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › यूपी : कानपुर सेंट्रल पर पकड़ा गया 1.70 करोड़ रुपये का सोना, चार लोगों को हिरासत में
उत्तर प्रदेश

यूपी : कानपुर सेंट्रल पर पकड़ा गया 1.70 करोड़ रुपये का सोना, चार लोगों को हिरासत में

प्रमुख संवाददाता, कानपुर Published By: Shivendra Singh
Thu, 16 Sep 2021 09:59 PM
यूपी : कानपुर सेंट्रल पर पकड़ा गया 1.70 करोड़ रुपये का सोना, चार लोगों को हिरासत में

जीआरपी ने कानपुर सेंट्रल स्टेशन से करीब 3.5 किलो (3490 ग्राम) सोने के साथ चार लोगों को हिरासत में लिया है। इसमें पांच बिस्किट और बाकी जेवरात हैं। पकड़े गए सोने की बाजार में कीमत 1.70 करोड़ रुपये बताई गई है। माल के बिल-बाउचर नहीं मिले हैं। जीआरपी की सूचना पर पहुंची आयकर विभाग की टीम आरोपितों से पूछताछ कर रही है। आयकर क्लीयरेंस के बाद आरोपितों पर कार्रवाई का फैसला होगा।

जीआरपी के डिप्टी एसपी कमरुल हसन के मुताबिक गुरुवार को ब्रह्मपुत्र एक्सप्रेस से चार युवक बैग लेकर कानपुर सेंट्रल के प्लेटफॉर्म नंबर पांच पर सुबह करीब 8 बजे उतरे। चारों प्लेटफॉर्म पर ही बारिश थमने का इंतजार कर रहे थे। नियमित चेकिंग के दौरान सर्च टीम ने पूछताछ की तो वे हड़बड़ा गए। संदेह होने पर जीआरपी टीम ने बैग की तलाशी ली। उसमें सोने के जेवर भरे हुए थे। सभी को थाने लाकर पूछताछ की गई।

युवकों ने अपने नाम राजस्थान के धौलपुर निवासी दीपक उर्फ दीपू, झुंझनूं निवासी रमेश सैनी, मनोज सैनी, झुंझनूं के बड़ा गांव निवासी सुरेंद्र कुमार सैनी बताए। इन सभी के बैग से 490 ग्राम सोने के पांच बिस्किट और बाकी तीन किलो सोने के आभूषण हैं। इनमें अंगूठी, हार, नाक की कील, चेन समेत कई डिजाइनर व जड़ाऊ ज्वैलरी हैं। रमेश सैनी ने पुलिस को बताया कि चारों साईं एयर पार्स सर्विस कुरियर कंपनी दिल्ली में डिलीवरीमैन हैं। कंपनी अलग-अलग शहरों में सोना या फिर ज्वैलरी भेजती है।

दो बैग कानपुर, एक-एक वाराणसी व पटना जाने थे
डिप्टी एसपी के मुताबिक पूछताछ में चारों ने बताया कि दो बैग की सप्लाई कानपुर और एक-एक बैग वाराणसी और पटना पहुंचाने थे। सेंट्रल पर उतरने के बाद तेज बारिश की कंपनी को सूचना दी। कंपनी से कहा गया कि कुछ देर स्टेशन पर रुक जाएं। बताया गया कि व्यापारी सिटी साइड माल लेने आएगा। सिटी साइड निकलने से पहले पुलिस के हत्थे चढ़ गए।

जीएसटी टीम टैक्स का आकलन करके लौट गई
चारों ने बताया कि ज्वैलरी की सप्लाई कानपुर सराफा बाजार में की जानी थी। वे सप्लाई की लोकेशन नयागंज बता रहे थे लेकिन तहकीकात में लोकेशन पीपल वाली कोठी इलाके की निकली। सोना पकड़े जाने पर जीआरपी ने सबसे पहले स्टेट जीएसटी को सूचना दी। जीएसटी अफसर पहुंचे और तहकीकात के बाद लौट गए। पुलिस को बताया कि यह आयकर विभाग का मामला है। इसके बाद जीआरपी ने आयकर विभाग को मेमो भेजा।

आयकर टीम ने चारों से अलग-अलग दो घंटे की पूछताछ
आयकर विभाग के असिस्टेंट डायरेक्टर अंकित तिवारी, इंस्पेक्टर एसडी तिवारी ने चारों युवकों से अलग-अलग दो घंटे तक पूछताछ की। उनसे कंपनी और उसके मालिक की जानकारी जुटाई। अब आयकर की टीम भी कर टैक्स चोरी का मामला मान रही है। वैसे कंपनी से दस्तावेज मुहैया कराने को कहा गया है।

हिरासत में लिए गए आरोपितों ने सोने के संबंध में कोई कागजात नहीं दिखाए। जीएसटी, इनकम टैक्स विभाग को सूचना दी गई है। जीएसटी अफसरों ने आयकर विभाग का मामला बताया है। आयकर विभाग के अधिकारियों ने भी पूछताछ की है। अभी यह साफ नहीं है कि सोना तस्करी का है या फिर टैक्स चोरी का। कूरियर कंपनी को सूचना दी गई है। माल के संबंध में अपने साक्ष्य आयकर टीम को सौंपेंगे। आयकर की क्लीयरेंस के बाद तय होगा कि आरोपितों पर क्या कार्रवाई होगी। - कमरुल हसन, डिप्टी एसपी, जीआरपी

संबंधित खबरें