DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › UP: अर्धनग्न मिली बच्ची...अस्पताल में मौत...न्याय मांगा तो SP ने सबके सामने पीटा, वीडियो हो रहा वायरल
उत्तर प्रदेश

UP: अर्धनग्न मिली बच्ची...अस्पताल में मौत...न्याय मांगा तो SP ने सबके सामने पीटा, वीडियो हो रहा वायरल

आजमगढ़ लाइव हिन्दुस्तानPublished By: Yogesh Yadav
Wed, 13 Oct 2021 10:59 PM
UP: अर्धनग्न मिली बच्ची...अस्पताल में मौत...न्याय मांगा तो SP ने सबके सामने पीटा, वीडियो हो रहा वायरल

यूपी पुलिस का अमानवीय चेहरा बार-बार सामने आ रहा है। अब आजमगढ़ के पुलिस अधीक्षक का असंवेदनशील रवैया सामने आया है। जिस परिवार की दस साल की बच्ची सड़क किनारे अर्धनग्न मिली और अस्पताल में उसने दम तोड़ दिया, उस परिवार पर एसपी का गुस्सा फूटा है। एसपी के गुस्से का यह वीडियो भी वायरल हो रहा है। लड़के की पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद एसपी ने अपने बयान का वीडियो ट्वीट करते हुए सफाई देने की कोशिश की है। चार दिन बाद बच्ची की मौत के मामले में हत्या और रेप की धाराओं में मुकदमा भी दर्ज कर लिया गया है। 

रौनापार थाना क्षेत्र की रहने वाली एक 10 वर्षीया बच्ची शुक्रवार सुबह घर से कुछ दूरी पर रास्ते में अर्धनग्न अवस्था में मिली थी। गंभीर हालत में मिली बच्ची से रेप की आशंका जताई गई। परिजन उसे लेकर जिला अस्पताल भागे। वहां से बच्ची को रेफर कर दिया गया। शनिवार को उसकी मौत हो गई। पुलिस ने आनन फानन उसका अंतिम संस्कार करा दिया गया। कहा जा रहा है कि एसओ ने अपने खर्चे पर अंतिम संस्कार कराया। पुलिस ने यह भी दावा किया कि रेप की पुष्टि नहीं हुई।  

इसी मामले में न्याय की गुहार लगाने बच्ची की मां ग्रामीणों के साथ बुधवार को एसपी ऑफिस पहुंची। इसी दौरान एसपी सुधीर सिंह ऑफिस से निकल रहे थे। बच्ची के परिजनों के साथ पहुंचा एक लड़का एसपी की गाड़ी के सामने आकर उन्हें रोकने लगा। वाहन रोके जाने से एसपी भड़क उठे। वाहन से उतरे और न्याय मांगने पहुंचे लोगों को डांट पिलाई। इसके बाद लड़के को पकड़ा और लोगों के सामने ही उसकी पिटाई शुरू कर दी। बच्ची के परिवार वालों ने इस दौरान उसे बचाने की कोशिश की लेकिन एसपी के गुस्से के आगे ठिठक गए। लोगों का कहना है कि पुलिस की यह ज्यादती निश्चित तौर पर इस बात का इशारा कर रही है कि उसके साथ कुछ न कुछ गड़बड़ हुई है। 

एसपी ने दी यह सफाई

पूरे मामले और वायरल वीडियो पर सफाई देते हुए एसपी सुधीर सिंह ने कहा कि बच्ची के परिवार वाले जनसुनवाई के दौरान मिले थे। उनके निवेदन पर थानेदार को मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया गया था। जब मैं बाहर निकला तो एक लड़का गाड़ी के आगे लेट गया और कुछ लोग पत्थर मारने के लिए आगे आ गए। इस पर मैं गाड़ी से उतरा और उस लड़के को गाड़ी के आगे से हटाकर पुलिस आफिस में दे दिया। बाद में लड़के को समझा-बुझाकर छोड़ दिया गया। पूरे मामले में कुछ लोग राजनीतिक लाभ लेने के लिए गलत ट्वीट कर रहे हैं। 

चार दिन बाद हत्या और रेप की धाराओं में केस

लाटघाट। एसपी के आदेश पर बच्ची की मौत के मामले में आरोपी के विरुद्ध हत्या व दुष्कर्म की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। रौनापार थाना प्रभारी अखिलेश चंद पांडेय ने बताया कि पुलिस अधीक्षक के आदेश पर पीड़िता के परिजनों की तहरीर पर आरोपी दीपक पासवान के विरुद्ध धारा 302, 376, 354, 506 आईपीसी, 3/4 पॉक्सो एक्ट में रिपोर्ट दर्ज की गई है।
 

संबंधित खबरें