ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशपति-पत्नी में इतना बढ़ा झगड़ा की बच्चों के सामने बीवी को उतारा मौत के घाट, मरने तक पीटता रहा

पति-पत्नी में इतना बढ़ा झगड़ा की बच्चों के सामने बीवी को उतारा मौत के घाट, मरने तक पीटता रहा

फिरोजाबाद में घरेलू विवाद में एक महिला की पति ने पीट-पीट कर हत्या कर दी। बच्चों के साथ भी मारपीट की। पता चलने पर पहुंचे मायके पक्ष के लोगों ने पति समेत सात लोगों पर केस दर्ज कराया।

पति-पत्नी में इतना बढ़ा झगड़ा की बच्चों के सामने बीवी को उतारा मौत के घाट, मरने तक पीटता रहा
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,फिरोजाबादWed, 01 May 2024 07:35 AM
ऐप पर पढ़ें

फिरोजाबाद के सिरसागंज क्षेत्र में मंगलवार को घरेलू विवाद में एक महिला की पति ने पीट-पीट कर हत्या कर दी। बच्चों के साथ भी मारपीट की। पता चलने पर पहुंचे मायके पक्ष के लोगों ने पति समेत सात लोगों पर केस दर्ज कराया। देर शाम पुलिस ने पति को गिरफ्तार कर लिया। मामले में बाकी आरोपी फरार हैं। सीओ सिरसागंज, अरुण कुमार ने कहा कि पति-पत्नी के बीच विवाद के बाद महिला की पति ने हत्या की है। सूचना पर फील्ड यूनिट और डॉग स्क्वाड भी भेजा गया। शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया गया है। पति को गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही है।

मामला थाना सिरसागंज के गांव गढ़िया नाइन का है। 35 वर्षीय रीमा यादव की शादी सुरेश निवासी गढ़िया नाइन से करीब 14 वर्ष पहले हुई थी। मंगलवार की सुबह उनमें किसी बात पर तकरार शुरू हो गई। धीरे-धीरे बात इतनी बढ़ी कि सुरेश ने कोई भारी वस्तु उठाकर रीमा के सिर पर दे मारी। ये देख बच्चे चीखने लगे। लहूलुहान होने के बाद भी आरोपी पत्नी पर वार करता रहा। रीमा की मौत हो गई। इसके बाद उसने चीख-चिल्ला रहे बच्चों को भी पीटा और भाग निकला। रीमा के मायके वालों को सूचना मिली तो वह पिता गुद्देश यादव परिवार के लोगों के साथ ससुराल पहुंचे। बच्चे भी घायल थे।

उनकी सूचना पर सीओ सिरसागंज और थाना प्रभारी फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। गांव वालों से मामले की जानकारी ली। पुलिस ने महिला के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। मायके पक्ष के लोगों ने पुलिस को बताया कि शादी के बाद से ही पति रीमा से मारपीट करता था। कई बार इस मामले में पंचायतें भी हुई थीं। रीमा के पिता ने अपने दामाद सुरेश समेत सात ससुरालियों के खिलाफ बेटी की हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। वहीं पुलिस ने कुछ देर बाद पति सुरेश को गिरफ्तार कर लिया है। अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है।

रीमा 14 साल से ससुराल में झेल रही थी प्रताड़ना
14 साल पहले ससुराल में बेहतर जीवन का ख्वाब लेकर आई रीमा को ससुराल में उत्पीड़न के सिवा और कुछ नहीं मिला। पति आए दिन उसके साथ मारपीट करता था, लेकिन बच्चों के भविष्य को देख रीमा सबकुछ सहती रही। कई बार अपने मायके वालों को बताया तो परिजनों ने गांव में आकर ससुरालीजनों से बात की और उन्हें समझाने का प्रयास भी किया। रीमा के परिजनों ने भी कभी नहीं सोचा था कि वर्षों से हो रही मारपीट एक दिन बेटी की मौत का सबब बन जाएगी।

रीमा के परिवार वालों ने बताया कि पति ने उसके साथ क्रूरता की सभी हदें पार कर दी थीं। उसके चेहरे पर निशान थे। वहां पर मौजूद ग्रामीणों और परिजनों का कहना था कि ससुरालीजन उसे तब तक पीटते रहे, जब तक वह मर नहीं गई। चेहरे की हालत देख परिवार वाले भी सिहर गए। रीमा के पिता का कहना है कि 14 वर्ष पहले उन्होंने बेटी की शादी की थी। शादी के बाद से ही ससुराल में किसी न किसी बात पर उसके साथ मारपीट की जाती। कई बार इस मामले में उन्होंने ससुरालीजनों के साथ पंचायत की और मामले को शांत कराने का प्रयास किया, लेकिन ससुराल वाले अपनी हरकतों से बाज नहीं आए। आखिरकार उन्होंने बेटी की हत्या कर दी।

Instagram पर 20 साल के लड़के की 45 साल की महिला से हुई दोस्‍ती, पहली मुलाकात में पीटकर मरणासन्‍न किया

मासूम बच्चे जागे तो उनके साथ भी मारपीट
रीमा के पिता का कहना है कि रीमा की पिटाई के दौरान चीख पुकार सुनकर दोनों बेटियां जाग गई। नौ वर्ष की पल्लवी एवं सात वर्ष की सोनम को जागते हुए देख कर पिता ने उन्हें भी लाठी-डंडों से पीटा। इसमें पल्लवी एवं सोनम के सिर में चोट आई है। वहीं बच्चों की पिटाई के दौरान छह महीने के मासूम इत्यांस की भी उंगलियां टूट गईं।

रीमा के परिजनों को भी नहीं किया फोन
रीमा की मौत के बाद में ससुराल वालों ने परिवार के लोगों को भी नहीं बताया। रीमा के पिता के एक रिश्तेदार पास के ही गांव में रहते हैं। उन्होंने परिवार के लोगों को बताया तो परिवार के लोग ससुराल में पहुंचे।

ससुर, ननद व देवर के खिलाफ भी मुकदमा
रीमा के पिता की तहरीर पर पुलिस ने पति सुरेश, ससुर श्रीनिवास, सास विरमा देवी, ननद विमलेश एवं मिथलेश, देवर हरिओम एवं मोहन के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

फोरेंसिक टीम ने की तहकीकात
एसपी देहात कुमार रणविजय सिंह ने बताया कि पुलिस अधिकारियों ने फोरेंसिक टीम को बुलाकर भी मौके से जांच की। टीम ने घर से कई सबूत भी एकत्रित किए। फिंगर प्रिंट व अन्य साक्ष्यों को इकट्ठा किया है।