ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशमानव संपदा पोर्टल से मिलान के बाद ही कर्मियों को मिलेगा वेतन, जुड़ेंगी आठ सेवाएं

मानव संपदा पोर्टल से मिलान के बाद ही कर्मियों को मिलेगा वेतन, जुड़ेंगी आठ सेवाएं

राज्य सरकार ने मानव संपदा पोर्टल को और प्रभावशाली बनाने का फैसला किया है। इसके माध्यम से आठ सेवाओं को भी जोड़ा जाएगा। ये सभी काम एक अक्तूबर 2023 से पोर्टल के माध्यम से ही किए जाएंगे।

मानव संपदा पोर्टल से मिलान के बाद ही कर्मियों को मिलेगा वेतन, जुड़ेंगी आठ सेवाएं
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,लखनऊFri, 04 Aug 2023 07:14 AM
ऐप पर पढ़ें

राज्य सरकार ने मानव संपदा पोर्टल को और प्रभावशाली बनाने का फैसला किया है। इसके माध्यम से नियुक्ति, कार्यभार ग्रहण, कार्यमुक्ति, आवकाश प्रबंधन, मेरिट बेस्ड तबादला, वार्षिक मूल्यांकन रिपोर्ट, वेतन और सेवा पुस्तिका प्रबंधन को भी जोड़ा जाएगा। ये सभी काम एक अक्तूबर 2023 से पोर्टल के माध्यम से ही किए जाएंगे।

मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने गुरुवार को इस संबंध में शासनादेश जारी करते हुए सभी विभागाध्यक्षों को भेज दिए हैं। आहरण वितरण अधिकारी (डीडीओ) और मानव संपदा पोर्टल को आपस में जोड़ा जाएगा। मानव संपदा पोर्टल से मिलान के बाद ही भविष्य में कर्मियों को वेतन स्वीकृत किया जाएगा, वरना इसे रोक दिया जाएगा। डीडीओ पोर्टल से केवल उन्हीं का वेतन बनेगा जो मानव संपदा पोर्टल के अनुसार उनके अधिकार क्षेत्र के कार्यालयों में तैनात होंगे।

अयोध्या में रामानन्द सागर के परिजन बनाएंगे अध्यात्मिक पार्क, आवास विकास से मांगी जमीन

कार्यभार ग्रहण करने व छोड़ने का प्रमाण पत्र अनिवार्य रूप से मानव संपदा पोर्टल से ही स्वीकृत किया जाएगा। कर्मचारियों का पे स्लिप भी पोर्टल पर उनके लॉगइन आईडी पर उपलब्ध होगा। सेवानिवृत्त होने, देहांत होने, दंड स्वरूप सेवा समाप्त, पदच्युत होने और विभागीय कार्रवाई से वेतन संबंधी मामलों को भी इससे जोड़ा जाएगा।  

जनवरी में देना होगा संपत्तियों को ब्यौरा
मानव संपदा पोर्टल पर ही अचल संपत्तियों का ब्यौरा देना होगा। वैसे तो पांच साल पर इसे देने की व्यवस्था है, लेकिन पोर्टल पर एक से 31 जनवरी 2024 तक अनिवार्य रूप से इसे देना होगा। इसे बाद पूर्व की व्यवस्था के तहत पांच साल पर देना होगा। अखिल भारतीय सेवाओं को छोड़ कर सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को वार्षिक मूल्यांकन प्रविष्टि भी इसके माध्यम से ही देना होगा।

ई-सर्विस बुक बनेगी
अधिकारियों और कर्मचारियों की पोर्टल पर ही ई-सर्विस बुक बनाई जाएगी। अवकाश, एसीपी आदि अन्य सेवा संबंधी कामों का निस्तारण पोर्टल के माध्यम से ही किया जाएगा। मानव संपदा पोर्टल और कर्मियों संबंधी मामलों को देखने के लिए कार्मिक विभाग में नया अनुभाग पांच बनाया गया है। साइबर सुरक्षा, पोर्टल सिक्योरिटी आडिट एनआईसी द्वारा किया जाएगा। इसके लिए एक ऐप भी बनाया जाएगा।