DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › UP चुनाव को लेकर BJP ने दिल्ली में बनाई रणनीति, सांसदों को बताया 'मिशन 2022' के लिए क्या करना होगा
उत्तर प्रदेश

UP चुनाव को लेकर BJP ने दिल्ली में बनाई रणनीति, सांसदों को बताया 'मिशन 2022' के लिए क्या करना होगा

एएनआई,नई दिल्लीPublished By: Shankar Pandit
Thu, 29 Jul 2021 08:45 AM
UP चुनाव को लेकर BJP ने दिल्ली में बनाई रणनीति, सांसदों को बताया 'मिशन 2022' के लिए क्या करना होगा

अगले साल होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में एक बार फिर से जीत का परचम लहराने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने अभी से ही कमर कस ली है। आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए भाजपा नेतृत्व ने अपने सांसदों को जीत का मंत्र दे दिया है और उत्तर प्रदेश में उनकी भूमिका के बारे में भी बता दिया है। भाजपा नेतृत्व ने सांसदों से न केवल गांव-गांव जाकर यात्रा निकालने को कहा, बल्कि इलाके में टीकाकरण भी सुनिश्चित करने को कहा। दिल्ली कॉन्स्टिट्यूशन क्लब में दो दिवसीय बैठक के पहले दिन के भाजपा ने यूपी के सांसदों को समय पर कोरोना टीकाकरण अभियान पूरा करने और महामारी की तीसरी लहर को नियंत्रित करने के उपाय करने को कहा।

उन्नाव से भाजपा सांसद और उत्तर प्रदेश के पार्टी महासचिव सुब्रत पाठक ने कहा कि पार्टी नेतृत्व ने उन्हें कोरोना रोगियों के इलाज में मदद करने के लिए हर गांव में एक पुरुष और महिला प्रशिक्षित स्वास्थ्य सेवा स्वयंसेवक नियुक्त करने के लिए कहा है। उन्होंने कहा, 'आज की बैठक में हमारे संगठन के आगामी चुनावों और कार्यक्रमों में हमारे सभी सांसदों की उनमें क्या भूमिका होगी, इस बारे में चर्चा की गई। टीकाकरण के संबंध में भी चर्चा हुई। हमें टीकाकरण पूरा करने के लिए कहा गया और हमारे सभी लोगों को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा गया कि निर्वाचन क्षेत्र को दूसरी खुराक मिले। साथ ही हर गांव में हमें एक-एक प्रशिक्षित महिला, एक पुरुष स्वास्थ्य स्वयंसेवक नियुक्त करने के लिए कहा गया ताकि अगर तीसरी लहर की संभावना हो, तो वे इलाज में मदद कर सकें।' 

मेरठ के सांसद राजेंद्र अग्रवाल के मुताबिक, बीजेपी नेतृत्व ने सांसदों से कहा कि वे जमीनी कार्यकर्ताओं यानी ग्राउंड पर पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम करें, ताकि राज्य और केंद्र दोनों सरकारों का काम हर नागरिक तक पहुंचे। उन्होंने कहा, 'बीजेपी 12 महीने से काम कर रही है। हमें केवल चुनावों की चिंता नहीं है, क्योंकि जन सेवा हमारे संगठन का आदर्श वाक्य है। हम चुनाव न होने पर भी सक्रिय रहते हैं। लेकिन अब उत्तर प्रदेश में चुनाव आ रहे हैं, इसलिए स्वाभाविक रूप से बैठक में उनके बारे में चर्चा की गई। अगले छह-सात महीनों तक यानी फरवरी-मार्च में चुनाव होने तक हमारे सांसद भी जमीनी कार्यकर्ताओं के साथ कंधे से कंधा मिलाकर सक्रिय रहेंगे।

उन्होंने कहा कि संगठन के ढांचे के भीतर हम सभी कार्यकर्ता के रूप में अपनी भूमिका निभाएंगे। मुख्य बात यह है कि हमने जो काम किया है, जो काम हमारी सरकार ने किया है, सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, वही जारी रहेगा। साढ़े चार साल में भाजपा सरकार के तहत उत्तर प्रदेश ने बहुत विकास किया है। हम अपनी सरकार द्वारा किए गए कार्यों के आधार पर अगला चुनाव जीतेंगे। 

उन्होंने कहा कि गुरुवार को बैठक के दूसरे दिन भी इन्हीं बातों पर चर्चा की जाएगी। बता दें कि यूपी बीजेपी सांसदों की बैठक की अध्यक्षता पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने की और इसमें यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भाग लिया। बैठक में यूपी बीजेपी अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, सुनील बंसल, महासचिव (संगठन) और बीजेपी के प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह भी मौजूद थे। 

संबंधित खबरें