DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  यूपी : 10 लाख से ज्यादा आबादी वाले सात शहरों में पेयजल की व्यवस्था होगी और बेहतर

उत्तर प्रदेशयूपी : 10 लाख से ज्यादा आबादी वाले सात शहरों में पेयजल की व्यवस्था होगी और बेहतर

प्रमुख संवाददाता, लखनऊPublished By: Shivendra Singh
Wed, 21 Apr 2021 07:44 AM
यूपी : 10 लाख से ज्यादा आबादी वाले सात शहरों में पेयजल की व्यवस्था होगी और बेहतर

उत्तर सरकार 10 लाख से अधिक आबादी वाले सात शहरों लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, प्रयागराज, आगरा, गाजियाबाद और मेरठ में पेयजल आपूर्ति की और बेहतर व्यवस्था करनी जा रही है। इन नगर निगमों को बेहतर पेयजल आपूर्ति के लिए अब 15वें वित्त आयोग से और पैसे दिया जाएगा, जिससे जरूरत के आधार पर वे काम करा सकें।

प्रदेश के 10 लाख से अधिक आबादी वाले शहरों में लोगों को जरूरत के आधार पर शुद्ध पेयजल की सुविधा देनी है। केंद्रीय मानक के अनुसार ऐसे शहरों में 24 घंटे पानी की आपूर्ति के साथ अपार्टमेंट में आखिरी फ्लोर तक पानी पूरे फोर्स के साथ दिया जाना चाहिए। नगर विकास विभाग इस दिशा में काम कर रहा है। इसके आधार पर ही पहले चरण में 10 लाख से अधिक आबादी वाले शहरों में पेयजल की बेहतर व्यवस्था की जा रही है। इसके लिए निकायों को जरूरत के आधार पर 15वें वित्त आयोग से पैसे देने का प्रावधान किया गया है।

वायु गुणवत्ता पर भी ध्यान
इसके साथ ही इन बड़े शहरों में वायु गुणवत्ता पर भी विशेष ध्यान दिया जाएगा। वायु गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए ठोस अपशिष्ट प्रबंधन का काम कराना होगा। नगर निगमों को इसके लिए जरूरत के आधार पर कूड़ा निस्तारण प्लांट लगवाना होगा, जिससे शहर का निकलने वाला कूड़ा वहां ले जाकर निस्तारित कराया जा सके। सड़कों पर इधर-उधर कूड़ा पड़ा रहने की वजह से वायु प्रदूषण का खतरा बड़े शहरों में काफी बढ़ रहा है। इसीलिए 15वें वित्त आयोग से इसके लिए भी पैसे देने की व्यवस्था की गई है।

संबंधित खबरें