ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशडिप्टी सीएम दिनेश शर्मा का दावा: कांग्रेस, सपा, बसपा कुल मिलाकर 100 सीटें भी नहीं जीत पाएंगे

डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा का दावा: कांग्रेस, सपा, बसपा कुल मिलाकर 100 सीटें भी नहीं जीत पाएंगे

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता एवं उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने रविवार को दावा किया कि कांग्रेस, समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सहित प्रतिद्वंद्वी दल आगामी...

डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा का दावा: कांग्रेस, सपा, बसपा कुल मिलाकर 100 सीटें भी नहीं जीत पाएंगे
Shivendra Singh भाषा, नोएडाSun, 23 Jan 2022 10:37 PM

इस खबर को सुनें

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता एवं उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने रविवार को दावा किया कि कांग्रेस, समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सहित प्रतिद्वंद्वी दल आगामी उत्तर प्रदेश चुनावों में कुल मिलाकर 100 सीटें भी नहीं जीत पाएंगे। उन्होंने राज्य की राजनीति में आपराधिक तत्वों, सांप्रदायिकता को बढ़ावा देने के लिए विपक्षी दलों पर निशाना साधा और कहा कि भाजपा विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ रही है। दादरी में पार्टी के उम्मीदवार तेजपाल नागर के लिए प्रचार करते हुए उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि क्षेत्रवाद, पारिवारिक राजनीति और माफिया-शासन का उन्मूलन भाजपा का उद्देश्य है, जो विकास के एजेंडे पर चुनाव लड़ती है। मुझे लगता है कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश इस बार अधिक वोटों से भाजपा को समर्थन देकर अपना ही पिछला रिकॉर्ड तोड़ देगा।

प्रियंका गांधी वाद्रा द्वारा खुद के कांग्रेस की मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार होने से इंकार करने पर दिनेश शर्मा ने कहा कि उन्हें इसके बारे में ज्यादा कुछ कहने की जरूरत नहीं है क्योंकि टेलीविजन चैनलों के सर्वेक्षणों में उनकी पार्टी के लिए केवल 3-7 सीटों का अनुमान जताया जा रहा है। उप मुख्यमंत्री ने विपक्षी दलों की सीटों की संख्या का पूर्वानुमान जताते हुए दावा किया कि आने वाले चुनावों में उनका संयुक्त आंकड़ा तीन अंकों तक नहीं पहुंचेगा।

403 सदस्यीय विधानसभा में 300 से अधिक विधायकों के साथ 2017 में सत्ता में आई भाजपा के बारे में दिनेश शर्मा ने कहा कि भाजपा 50 प्रतिशत से अधिक वोट हासिल करेगी और राज्य में वोट हासिल करने के अपने ही रिकॉर्ड को तोड़ देगी। उन्होंने आरोप लगाया कि पहले उत्तर प्रदेश में राजनीतिक दल सांप्रदायिक मुद्दों का उल्लेख करते थे और अल्पसंख्यक मतदाताओं का ध्रुवीकरण करते थे, यहां तक ​​कि उन्होंने अतीत में चुनाव भी जीते हैं। दिनेश शर्मा ने कहा कि लेकिन उत्तर प्रदेश के लोगों ने अब विकास के लाभ का स्वाद चखा है। अब जाति आधारित या सांप्रदायिक राजनीति के लिए कोई जगह नहीं है।

डिप्टी सीएम ने दावा किया कि जनता में इसको लेकर भय बढ़ रहा है कि राज्य में माफिया और आपराधिक तत्व फिर से वापस आ जाएंगे क्योंकि कुछ विपक्षी दलों ने अपराधियों या उनके परिवार के सदस्यों को चुनाव के लिए उम्मीदवार बनाया है। उन्होंने कहा कि कुछ अपराधी ऐसे भी हैं जो खुलेआम कुछ पार्टियों का समर्थन कर रहे हैं, लोगों को परोक्ष रूप से चेतावनी दे रहे हैं कि अगर लोग उनका समर्थन नहीं करते हैं तो अपराधी आतंक का माहौल बनाएंगे। ऐसा नहीं होना चाहिए, राज्य अब बदल गया है।

दिनेश शर्मा ने कहा कि उत्तर प्रदेश अब पलायन का राज्य नहीं बल्कि विकास का राज्य है। राज्य में अब असामाजिक तत्वों के लिए कोई जगह नहीं है। उनकी जगह विकास, नौकरी, अच्छे स्वास्थ्य, शिक्षा ने ले ली है और यही भाजपा का एजेंडा है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के गौतम बुद्ध नगर जिले के दादरी में 10 फरवरी को मतदान होना है। भाजपा ने इस सीट से एक बार फिर मौजूदा विधायक तेजपाल नागर को मैदान में उतारा है, जहां 15 अन्य उम्मीदवार मैदान में हैं। परिणाम 10 मार्च को घोषित होगा।

epaper