ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशहारे तो अजय लल्लू को निकाला, नए अध्यक्ष बृजलाल खबरी की खुद दो बार हुई जमानत जब्त

हारे तो अजय लल्लू को निकाला, नए अध्यक्ष बृजलाल खबरी की खुद दो बार हुई जमानत जब्त

आंकड़े बताते हैं साल 2022 और 2017 विधानसभा चुनाव में यूपी कांग्रेस के नए प्रमुख बृजलाल खबरी बुरी तरह हार गए थे। बीते चुनाव में वह उन 97 प्रतिशत उम्मीदवारों में शामिल थे, जिसकी जमानत जब्त हो गई थी।

हारे तो अजय लल्लू को निकाला, नए अध्यक्ष बृजलाल खबरी की खुद दो बार हुई जमानत जब्त
Nisarg Dixitलाइव हिन्दुस्तान,लखनऊWed, 05 Oct 2022 12:37 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

उत्तर प्रदेश कांग्रेस को नया प्रमुख मिल गया है। पार्टी ने वरिष्ठ चेहरे बृजलाल खबरी को राज्य की कमान सौंपी है। खास बात है कि 2022 विधानसभा चुनाव में बुरी तरह हार का सामना करने के बाद कांग्रेस ने अजय कुमार लल्लू से इस्तीफा मांग लिया था। वहीं, अगर नए अध्यक्ष का रिकॉर्ड देखें, तो वह भी पिछले दो चुनाव में जमानत जब्त करा चुके हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, आंकड़े बताते हैं साल 2022 और 2017 विधानसभा चुनाव में खबरी बुरी तरह हार गए थे। बीते चुनाव में वह उन 97 प्रतिशत उम्मीदवारों में शामिल थे, जिसकी जमानत जब्त हो गई थी। दरअसल, अगर कोई उम्मीदवार डाले गए वोट में से अगर 16 फीसदी हासिल नहीं कर पाता है, तो जमानत जब्त हो जाती है। 2022 चुनाव में वह महरौनी सीट से मैदान में थे। तब उनके खाते में केवल 4 हजार 344 वोट आए थे। यह कुल मतदान का 1.29 फीसदी है।

अजय कुमार लल्लू से मांग लिया गया था इस्तीफा
मार्च में पार्टी के तत्कालीन अध्यक्ष लल्लू ने पार्टी की हार की जिम्मेदारी ली थी और इस्तीफा दे दिया था। लल्लू खुद भी तुमकुही सीट से हार गए थे। खास बात है कि पार्टी को पांचों राज्यों में हार का सामना करना पड़ा था। इसके बाद अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर इकाइयों से इस्तीफा मांग लिया था।

UP चुनाव के नतीजे
विधानसभा चुनाव 2022 में भाजपा ने 376 सीटों पर चुनाव लड़ा था, जिसमें से 255 पर जीत हासिल हुए और 3 उम्मीदवारों की जमानत जब्त हुई। 403 सीटों पर लड़ने वाली पूर्व मुख्यमंत्री मायावती की अगुवाई वाली बहुजन समाज पार्टी केवल एक ही सीट पर जीती और 287 पर जमानत जब्त हुई। 347 सीटों पर उतरी समाजवादी पार्टी प्रदर्शन में दूसरे स्थान पर रही। सपा 11 सीटें जीती और 6 पर जमानत जब्त हुई।

epaper