UP CM Yogi adityanath says society and nation will decide Ram temple in Ayodhya - सीएम बोले- समाज और राष्ट्र तय करेगा अयोध्या में भव्य राम मंदिर DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीएम बोले- समाज और राष्ट्र तय करेगा अयोध्या में भव्य राम मंदिर

अयोध्या में भगवान श्रीराम के मंदिर का निर्माण हो, यह भारत के बहुसंख्यक समाज की इच्छा है। राम मंदिर बहुसंख्यक समाज की आस्था से जुड़ा है। अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य मन्दिर बने, यह समाज और राष्ट्र तय करेगा। लेकिन आस्था के पक्ष को समझते हुए रामराज्य की स्थापना के लिए पुरुषार्थ करना होगा। ये बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहीं।

वे शनिवार को गोरखनाथ मंदिर में राष्ट्रसंत ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की चतुर्थ पुण्यतिथि पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राम को रोटी से जोड़कर हर गरीब को रोटी, आवास, कपड़ा, दवाई, बिजली, पानी व सुरक्षा जैसे मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराना ही होगा, तभी रामराज्य की स्थापना होगी। संत-महात्मा व देश की जनता रामराज्य को चरितार्थ करने के लिए सरकार के साथ कदम से कदम मिलाकर चले, सरकार अपना काम शुरू कर चुकी है। ताकि अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मन्दिर के साथ रामराज्य की स्थापना हो सके।

लखनऊ शूटआउट:योगी ने कहा-यह एनकाउंटर नहीं है,जरूरी हुई तो होगी CBI जांच 

समाज सेवा के प्रतिमूर्ति थे महंत अवेद्यनाथ : अपने गुरु को श्रद्धांजलि देते हुए गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ ने कहा कि महंत अवेद्यनाथ समन्वय, सहनशीलता, संस्कार, प्रखर-राष्ट्रभक्ति व समाज सेवा के प्रतिमूर्ति थे। गोरखनाथ मन्दिर के स्वरूप का खाका महंत दिग्विजयनाथ ने तैयार किया, महंत अवेद्यनाथ ने उसे पूरा किया। उन्होंने कहा कि महंत अवेद्यनाथ के सांस्कृतिक भारत की पुनर्प्रतिष्ठा का युग प्रारम्भ हो चुका है। इसका पूर्वाभास देश की जनता को हो रहा है। योगी ने आह्वान किया कि जनता सरकार के प्रयत्नों के साथ खड़ी हो।

मोदी के नेतृत्व में सांस्कृतिक राष्ट्रीयता ले रही आकार
योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत की सांस्कृतिक राष्ट्रीयता अपना स्पष्ट आकार ले रही है। उन्होंने भारत के योग को अंतरराष्ट्रीय पहचान दिलाई। भारत की सनातन कुम्भ की परम्परा को यूनेस्को द्वारा दुनिया की अमूल्य सांस्कृतिक धरोहर की मान्यता दिलाई है। आयुष्मान भारत के अन्तर्गत देश के 50 करोड़ गरीब परिवारों को एक वर्ष में पांच लाख रुपये की निशुल्क चिकित्सा सुविधा का अद्वितीय निर्णय लिया। यह बदलते भारत की वही तस्वीर है जिसकी परिकल्पना हिन्दुत्व और राष्ट्रीयता के प्रबल पक्षधर गुरुदेव महंत अवेद्यनाथ किया करते थे।

लखनऊ:पुलिस ने Apple के मैनेजर को गोली से उड़ाया, आरोपी 2 सिपाही अरेस्ट 

कुंभ में निर्मल अविरल गंगाजल उपलब्ध कराएंगे
उन्होंने संतों को विश्वास दिलाया कि इस बार कुंभ में संतों और दुनिया की जनता को गंगा में निर्मल अविरल जल उपलब्ध कराएंगे। उन्होंने कहा कि हिन्दू समाज को यह आश्वस्त करता हूं कि श्रीगोरक्षपीठ की राष्ट्र रक्षा का मंत्र हमारे जीवन का मंत्र है। हिन्दू समाज की सेवा और जिन आदर्शो एवं मूल्यों को महंत दिग्विजयनाथ एवं महंत अवेद्यनाथ ने स्थापित किया, उनके प्रति गोरक्षपीठ सदैव समर्पित रहेगा। सामाजिक एकता के माध्यम से राष्ट्रीय एकता के गुरुदेव सदैव पक्षधर थे। वृहद हिन्दू समाज की एकता ही उनकी सांसारिक उद्देश्य की साधना थी। श्री गोरक्षपीठ इसे मंत्र मानकर आगे बढ़ता रहेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:UP CM Yogi adityanath says society and nation will decide Ram temple in Ayodhya