ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशयूपी में दान पत्र योजना का जलवा: मात्र 5000 स्टांप ड्यूटी में भाई-बेटे समेत इनके नाम लिख रहे प्रॉपर्टी

यूपी में दान पत्र योजना का जलवा: मात्र 5000 स्टांप ड्यूटी में भाई-बेटे समेत इनके नाम लिख रहे प्रॉपर्टी

दान पत्र योजना के तहत केवल 5000 रुपये की स्टांप ड्यूटी देकर अपनों के नाम बड़ी से बड़ी प्रॉपर्टी की जा सकती है। रियायत का लाभ रक्त संबंधियों के बीच प्रॉपर्टी ट्रांसफर पर ही दिया जा रहा है।

यूपी में दान पत्र योजना का जलवा: मात्र 5000 स्टांप ड्यूटी में भाई-बेटे समेत इनके नाम लिख रहे प्रॉपर्टी
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,आगराTue, 05 Dec 2023 09:33 AM
ऐप पर पढ़ें

दान पत्र योजना के तहत बड़ी संख्या में रजिस्ट्रियां हो रही हैं। केवल आगरा में ही मात्र तीन महीने में ही पिछले साल के रिकार्ड को तोड़ दिया है। इन तीन महीनों में 4691 लोगों ने इस योजना का लाभ उठाया। इससे निबंधन विभाग को 18 करोड़ रुपये से ज्यादा के राजस्व की प्राप्ति हुई। दान पत्र में मिली छूट का फायदा उठाते हुए लोगों ने अपनों को आठ अरब की संपत्तियां देकर मालामाल कर दिया। दान पत्र के जरिये संपत्तियों के हस्तांतरण के लिए सरकार की ओर से स्टांप ड्यूटी में रियायत का प्रावधान किया गया है। इसमें संपत्ति चाहे कितनी ही बड़ी हो, स्टांप ड्यूटी अधिकतम पांच हजार रुपये ही ली जा रही।

हालांकि, संपत्तियों का हस्तांतरण केवल रक्त संबंधियों के बीच ही किया जा सकता है। 18 जून 2022 से छह माह के लिए इस योजना को लागू किया गया था। तब 4722 लोगों ने इस योजना का लाभ उठाया था। उससे पहले 2021 में मात्र 1380 लोगों के ही दान पत्र पंजीकृत हुए थे। जब सरकार ने 2022 में स्टांप ड्यूटी में छूट का प्रावधान कर दिया तो संख्या तेजी के साथ बढ़ गई। इसी साल तीन अगस्त से फिर से शुरू की गई इस योजना ने तो पिछले साल का भी रिकार्ड तोड़ दिया है। मात्र तीन महीने में ही 4691 लोगों की गिफ्ट डीड हो चुकी है।

राममहोत्सव 2024: योगी सरकार सोशल मीडिया को करेगी राममय, इन्फ्लूएंसर्स करेंगे कार्यक्रम का प्रमोशन

सहायक महानिरीक्षक निबंधन, सुनील कुमार सिंह ने कहा कि रक्त संबंधियों के बीच संपत्ति के हस्तांतरण में लोगों की जेब पर ज्यादा बोझ न आए, इसके लिए सरकार ने ये योजना लागू की है। इसके उत्साहजनक परिणाम भी सामने आए हैं। इससे अलावा इससे आने वाले दिनों में संपत्ति को लेकर होने वाले पारिवारिक विवादों में भी कमी आएगी।

इन्हें दान दी जा सकती है संपत्ति
स्टांप ड्यूटी में रियायत का लाभ रक्त संबंधियों के बीच संपत्ति के हस्तांतरण पर ही मिलेगा। इनमें पिता, माता, पति, पत्नी, पुत्र, पुत्री, पुत्रवधू, दामाद, सगे भाई-बहन और पुत्र/पुत्री के बच्चों को ही दान पत्र के जरिये संपत्ति दी जा सकती है।

सरकार को भी खूब मिला राजस्व
गिफ्ट डीड के जरिये सरकार को भी खूब राजस्व हासिल हो रहा है। दान पत्र पंजीकृत होने पर पांच हजार रुपये स्टांप ड्यूटी के अलावा संपत्ति के सरकारी मूल्य का एक प्रतिशत भी लिया जाता है। सरकार को 15 नवंबर तक 18 करोड़ से ज्यादा का राजस्व मिला।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें